Monday, June 17, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाअब तक जिले में कोरोना जांच के लिये गये सैम्पलोें में 91...

अब तक जिले में कोरोना जांच के लिये गये सैम्पलोें में 91 प्रतिशत नेगेटिव, केवल सात प्रतिशत संक्रमित मिले..एक हजार लोगों की हर रोज हो रही कोरोना जांच

  • 45 हजार 528 कुल सैम्पल में से 41 हजार 453 नेगेटिव, केवल तीन हजार 367 ही पाॅजिटिव आये
  • हर दिन का लक्ष्य 795, पर लगभग एक हजार लोगों की हो रही कोरोना जांच


कोरबा(बीसीसी न्यूज़ 24)/कोरबा जिले मंे कोरोना की जांच के लिये भेजे गये सैम्पलों में से 91 प्रतिशत सैम्पलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कोरबा जिले से अब तक 45 हजार 528 सैम्पल कोरोना जांच के लिये रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़ की जांच प्रयोगशालाओं में भेजे गये हैं। जिनमें से 41 हजार 453 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अभी तक केवल तीन हजार 367 सैम्पल ही कोरोना पाॅजिटिव निकले हैं। आज की स्थिति में जिले से भेजे गये 400 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है जबकि विभिन्न तकनीकी कारणों से 308 सैम्पल रिजेक्ट भी हुये हैं। कोरबा जिले में राज्य शासन द्वारा कोरोना संक्रमितों की जांच के लिये 795 सैम्पल प्रतिदिन भेजे जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके ऐवज में जिले में प्रतिदिन लगभग एक हजार सैम्पल लेकर जांच की जा रही है या जांच के लिये प्रयोगशाला में भेजे जा रहे हैं।
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले मंे कोरोना की जांच आरटीपीसीआर, रैपिड एंटीजन टेस्ट और ट्रु-नाॅट तीन पद्धतियों से की जा रही है। अभी तक आरटीपीसीआर पद्धति से जांच के लिये जिले से कुल 26 हजार 086 सैम्पल प्रयोगशालाओं में भेजे जा चुके हैं जिनमें से 24 हजार 195 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। केवल एक हजार 335 सैम्पल कोरोना संक्रमित पाये गये हैं। आरटीपीसीआर टेस्ट के लिये भेजे गये सैम्पलों में से अभी 280 की रिपोर्ट आनी बाकी है और अभी तक 276 सैम्पल विभिन्न तकनीकी कारणों से रिजेक्ट हुये हैं। जिले से अब तक 17 हजार 315 सैम्पलों की जांच रैपिड एंटीजन विधि से की जा चुकी है। 15 हजार 393 की जांच नेगेटिव और एक हजार 920 सैम्पलों की जांच पाॅजिटिव आई है। ट्रु-नाॅट पद्धति से जिला अस्पताल में अभी तक दो हजार 127 सैम्पल जांचे गये हैं। इनमें से एक हजार 865 कोरोना नेगेटिव और केवल 112 कोरोना पाॅजिटिव मिले हैं। ट्रु-नाॅट पद्धति से जांच के लिये भेजे गये 120 सैम्पलों की रिपोर्ट प्रतिक्षारत है। 30 सैम्पल ट्रु-नाॅट जांच के लिये तकनीकी कारणों से रिजेक्ट हुये हैं।
स्वास्थ्य विभाग ने आज यहां बताया कि सबसे अधिक कोरबा विकासखण्ड में 19 हजार 428 सैम्पलों की जांच की गयी है जिनमें से 17 हजार 065 नेगेटिव, दो हजार 109 पाॅजिटिव मिले हैं। कोरबा विकासखण्ड से जांच के लिये भेजे गये 167 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है जबकि 87 सैम्पल तकनीकी कारणों से रिजेक्ट हुये हैं। इसी प्रकार कटघोरा विकासखण्ड से अभी तक 9 हजार 526 सैम्पल भेजे जा चुके हैं। कटघोरा विकासखण्ड के आठ हजार 800 सैम्पल नेगेटिव, 568 सैम्पल पाॅजिटिव आये हैं। 43 सैम्पलों की रिपोर्ट प्रतिक्षारत है और 115 सैम्पल तकनीकी कारण से रिजेक्ट हुये हैं। पाली विकासखण्ड से कोरोना जांच के लिये भेजे गये छह हजार 375 सैम्पलों में से 263 पाॅजिटिव, छह हजार 006 नेगेटिव आये हैं। 75 की रिपोर्ट आना बाकी है और तकनीकी कारणों से 31 सैम्पल रिजेक्ट हुये हैं। करतला विकासखण्ड से अभी तक कोरोना की जांच के लिये पांच हजार 386 सैम्पल भेजे जा चुके हैं। करतला विकासखण्ड के भेजे गये सैम्पलों में से जांच के बाद चार हजार 965 की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। केवल 286 सैम्पल पाॅजिटिव मिले हैं। तकनीकी कारणों से 20 सैम्पल रिजेक्ट हुये हैं जबकि 115 सैम्पलों की रिपोर्ट आना बाकी है। पोड़ी-उपरोड़ा विकासखण्ड से अभी तक चार हजार 813 सैम्पल जांच के लिये भेजे गये हैं, सभी की रिपोर्ट मिल चुकी है। पोड़ी-उपरोड़ा विकासखण्ड से भेजे गये सैम्पलों में से चार हजार 617 की रिपोर्ट नेगेटिव और 141 की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। विकासखण्ड से भेजे गये 55 सैम्पल तकनीकी कारणों से रिजेक्ट हुये हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular