Saturday, April 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़एसडीएम के समर्थन में अजाक्स सहित कई संगठन, हटाने के लिए कांग्रेस...

एसडीएम के समर्थन में अजाक्स सहित कई संगठन, हटाने के लिए कांग्रेस ने किया था विरोध प्रदर्शन…

शिकायतकर्ता ने उन लगाए गए आरोपों को निराधार व निंदनीय बताया। पढ़िए पूरी खबर-

लोरमी (मुंगेली)। जिले में पदस्थ लोरमी एसडीएम के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद आज एसडीएम के पक्ष में अजाक्स के साथ छत्तीसगढ़ अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ से जुड़े अधिकारी और कर्मचारी मैदान में उतर आए हैं। इनका कहना है कि लोरमी एसडीएम नवीन भगत को उनकी जगह पर ही पदस्थ रखा जाए। इसको लेकर शनिवार को इन लोगों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। क्या कहते हैं शिकायतकर्ता इसमें एसडीएम लोरमी पर बीते दिनों कांग्रेस के ही जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व जनपद सदस्य सहित सरपंचों ग्रामीणों ने आरोप लगाए थे। शिकायतकर्ता ने उन लगाए गए आरोपों को निराधार व निंदनीय बताया। शिकायत कर्ता ने अपने स्वार्थ सिद्ध करने हेतु बलपूर्वक दबाव बनाने व अनुविभागीय अधिकारी की छवि धूमिल करने के लिए उनके ऊपर मनगढ़ंत आरोप लगाए गए थे। इनके द्वारा आदिवासी समाज को प्रशासनिक आतंकवाद की संज्ञा दी जा रही है। जो समाज की अवमानना है, जिससे आदिवासी समाज आहत हुआ है और इसकी घोर निंदा करता है।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि बीते दिन जिला पंचायत अध्यक्ष लेखनी सोनू चंद्राकर के नेतृत्व में उपाध्यक्ष सदस्य व लोरमी विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस से जीते हुए जनपद सदस्यों सहित विभिन्न ग्राम के सरपंचों व ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर को तीन सूत्रीय मांग ज्ञापन सौंपा गया था जिसमे एसडीएम लोरमी के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाए थे। यही नहीं एसडीएम को महज 3 दिनों के अंदर हटाने की मांग की गई थी। वहीँ मांगे पूरी न होने पर उग्र आंदोलन के साथ कलेक्ट्रेट का घेराव की चेतावनी दी गई थी। कल जहाँ लोरमी एसडीएम नवीन भगत के विरोध में कांग्रेस से जुड़े जनप्रतिनिधियों ने एक शक्तिप्रदर्शन दर्शाते ज्ञापन दिया। तो आज पक्ष में लोरमी एसडीएम की ढाल बन अजाक्स व अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ खडे हो गए। पूरे मसले पर मुंगेली कलेक्टर पी एस एल्मा ने कहा कि जिला प्रशासन- शाशन के नियम कानून के हिसाब से काम करेगी इसमें कोई दिक्कत नही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular