Wednesday, May 22, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा-कटघोरा: कोरोना के खिलाफ प्रशासन का हल्ला बोल..कलेक्टर के निर्देश पर कोल...

कोरबा-कटघोरा: कोरोना के खिलाफ प्रशासन का हल्ला बोल..कलेक्टर के निर्देश पर कोल माइंस क्षेत्र में SDM का ताबड़तोड़ दौरा….

कोरबा-कटघोरा: जिला कलेक्टर व दंडाधिकारी किरण कौशल ने जिले के भीतर लॉकडाउन की मियाद नौ दिनों के लिए बढ़ा दिया है. प्रशासन का इस विस्तार के पीछे मकसद साफ है कि इस दौर में माइक्रो कंटेन्मेंट के भीतर क्लीनिकल इन्तज़ाम बढ़ाया जाए ताकि आइसोलेशन में रह रहे मरीज जल्द ही रिकवर हो सके. इसके अलावा शहरी और ग्रामीण क्षेत्रो में अधिकाधिक दवाओं का छिड़काव किया जाए, अस्पतालों में संसाधनों की बढ़ोत्तरी करते हुए उन्हें कोविड केयर सेंटर के तौर पर किसी भी तरह की आपाता स्थिति के लिए तैयार रखा जाएं, शत-प्रतिशत वैक्सीनशन को प्रोत्साहित करने लोगो मे जागरूकता का प्रसार हो था एक मई से शुरू होने वाले 18 वर्ष से अधिक उम्र वालो के वैक्सीनशन के दौरान व्यवस्था बनाये रखना तथा जीवन रक्षक दवाई व मशीनों का इंतज़ाम करना है.

प्रशासन का प्रयास यह भी है कि जिले के भीतर कोरोना की रोकथाम के लिए औद्योगिक संस्थानों का ज्यादा से ज्यादा प्रत्यक्ष, परोक्ष सहयोग लिया जाए. इसी मकसद से आज कटघोरा अनुविभाग की एसडीएम कोल माइंस क्षेत्र के दौरे पर थी. कटघोरा शहरी क्षेत्र के रूप में वर्गीकृत दीपका में सूर्यकिरण तिवारी में औद्योगिक इकाइयों के प्रबन्धको के साथ अहम बैठक ली. इस दौरान कोरोना संकट से उबरने उनकी भूमिकाओं पर विस्तार से चर्चा हुई. एसडीएम ने इस समीक्षा बैठक में रैपिड रिस्पॉन्स टीम के साथ मीटिंग करते हुए उनकी तैयारियो को जाना. इसके अलावा एसडीएम ने अधिकाधिक कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, दवाओं की निर्बाध आपूर्ति तथा कोल खनन क्षेत्र के गांवों नक्शा तैयार करते हुए मैपिंग के निर्देश दिए.

एसडीएम ने इसके अलावा कोल क्षेत्र के पेट्रोल पंपों का दौरा किया. उन्हें यहां कुछेक पम्पो में अव्यवस्था नजर आई जिसपर संचालक को सख्त हिदायत देते हुए पांच हजार रुपये का जुर्माना आरोपित किया. श्रीमती तिवारी ने पम्पो में पेट्रोल-डीजल के वितरण पंजी को भी खंगाला और निर्देशो का कड़ाई से पालन करने की चेतावनी दी.

इसके अतिरिक्त एसडीएम की टीम ने गोबरघोरा पहुंचकर यहां चैकिंग प्वाइंट का जायजा लिया. इसके पश्चात दीपका के वैक्सीनशन सेंटर, किट सैम्पलिंग, विभिन्न कंटेन्मेंट जोन क्षेत्र में शामिल उर्जानगर, दीपका, विजयनगर और ढुरेना का भी दौरा किया. इसके पश्चात प्रेमनगर व आजाद नगर पहुंचकर यहां के आइसोलेशन सेंटर में दाखिल मरीजो और क्वारन्टीन में रह रहे उनके परिजनों से सीधे संवाद करते हुए उनका हालचाल जाना.

एसडीएम ने दीपका, गेवरा व कुसमुंडा में संचालित कोल माइंस के महाप्रबंधकों के साथ बैठक करते हुए उपक्रमो की तरफ से कोविड उन्मूलन के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों के बारे में जानकारी जुटाई. एसडीएम ने इससे पहले आइसोलेशन सेंटर के तौर पर तैयार गेवरा के सीआईटीआई हॉस्टल का बारीकी से निरीक्षण किया साथ ही मौजूद स्टाफ को कोरोना मरीजो की भर्ती प्रक्रिया, दवाओं की उपलब्धता तथा बिस्तर सुविधाओ की जानकारी हासिल की. एसडीएम ने साफ निर्देश देते हुए प्रबन्धको को बताया कि कोविड संक्रमण वाले क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देते हुए आमजनो की सुविधा और सुरक्षा सुनिश्चित की जाएं.

इस समीक्षा बैठक में प्रशासन की तरफ से एसडीएम के अलावा दीपका के नायब तहसीलदार शशिभूषण सोनी, दीपका नपा सीएमओ भोलासिंह ठाकुर व थाना प्रभारी दीपका हरिश्चंद्र टांडेकर उपस्थित रहे वही औद्योगिक इकाइयों की तरफ से दीपका, गेवरा व कुसमुंडा परियोजना के महाप्रबंधक क्रमशः पी रंजन शाह, श्री मोहंती व आरपी सिंह के अलावा उनके द्वारा नियुक्त कोविड के नोडल अधिकारी भी मौजूद रहे.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular