Saturday, April 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: कलेक्टर को एन.एच.ए.आई. का आश्वासन; एक माह में ठीक कर देंगे...

कोरबा: कलेक्टर को एन.एच.ए.आई. का आश्वासन; एक माह में ठीक कर देंगे जिले की सड़कें, श्रीमती कौशल ने सड़क मरम्मत के कामों की समीक्षा की बैठक में एन.एच.ए.आई. और पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ अधिकारी रहे मौजूद…

कोरबा 28 अक्टूबर 2020/जिले में सड़कों के मरम्मत के काम की धीमी गति पर आज समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने एक बार फिर एनएचएआई, एनएच पीडब्ल्यूडी और जिले के लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के प्रति नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने बैठक मंे सड़कों को मरम्मत कर आमजनों के लिये आवागमन योग्य बनाने अधिकारियों को काम की रफ्तार तेज करने के सख्त निर्देश दिये। बैठक में कलेक्टर ने यहां तक कह दिया कि वर्तमान सड़कों की मरम्मत कर उन्हें पूरी तरह आमजनों के आने-जाने लायक नहीं बनाने तक भविष्य की सड़क परियोजनाओं के लिये एनएचएआई या अन्य किसी भी कार्यकारी विभाग को जिला प्रशासन द्वारा अपेक्षित सहयोग करने पर विचार किया जायेगा। कलेक्टर श्रीमती कौशल के कड़े रूख के बाद एनएचएआई के अधिकारियों ने अगले एक महीने में कोरबा जिले की सड़कों को मरम्मत कर आवागमन के लायक बनाने का आश्वासन दिया। बैठक में कटघोरा के एसडीएम श्री अभिषेक शर्मा, कोरबा एसडीएम श्री सुनील नायक, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री ए.के. वर्मा, एनएचएआई के कोरबा प्रोजेक्ट डायरेक्टर श्री वाई.व्ही. सिंह, बिलासपुर प्रोजेक्ट डायरेक्टर श्री ढाल और डिप्टी प्रोजेक्ट डायरेक्टर श्री डी.डी. परलावार शामिल हुए।
बैठक में कोरबा-चांपा से लेकर पतरापाली-कटघोरा सड़कों की मरम्मत पर विशेष चर्चा हुई। कलेक्टर श्रीमती कौशल ने लगातार माॅनिटरिंग और मीटिंगो के बाद भी इन सड़कों के मरम्मत के कामों में अपेक्षित प्रगति नहीं मिलने पर नाराजगी व्यक्त की। कलेक्टर ने इन सड़कांे की मरम्मत का काम तेज करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। बैठक में एनएचएआई के अधिकारियों ने बताया कि कोरबा-चांपा मार्ग पर एनएचएआई के स्वामित्व वाले खण्ड पर मरम्मत का काम चल रहा है। मड़वारानी के पास से सड़क पर गड्ढों के भरकर डामरीकरण का काम भी शुरू कर दिया गया है। अधिकारियों ने यह भी बताया कि अगले दो-तीन दिनांे में उरगा की तरफ से सड़क मरम्मत का काम तेजी से शुरू किया जायेगा और 30 नवम्बर तक इस 21 किलोमीटर के कोरबा जिले के खण्ड को पूरी तरह रिपेयर कर दिया जायेगा।
कटघोरा के एसडीएम श्री अभिषेक शर्मा ने पतरापाली से होकर पाली होते हुए कटघोरा तक एनएचएआई के स्वामित्व वाले सड़क खण्डों के अत्याधिक खराब होने और उनकी मरम्मत में देरी की जानकारी बैठक में कलेक्टर को दी। कलेक्टर ने इस सड़क को लेकर अधिकारियों को तत्काल मरम्मत काम शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने अगले 15 दिनों में डुमरकछार, कपोट, भुईचुंआ और अन्य दूसरे स्थानों पर सड़क की जर्जर स्थिति की जानकारी भी अधिकारियों को दी। एनएचएआई के अधिकारियों ने इस सड़क पर सभी जर्जर खण्डों में गिट्टी, मेटल आदि भरकर समुचित पानी डाल कम्पेक्शन का काम अगले तीन दिनों में शुरू करने का आश्वासन कलेक्टर को दिया। अधिकारियों ने यह भी आश्वासन दिया कि अगले 15 दिनों में इस सड़क के सभी गड्ढे पूरी तरह से पाट कर आवागमन के लायक बना दी जायेगी और अगले 15 दिनों में सड़क पर डामरीकरण का काम भी शुरू कर दिया जायेगा। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि उरगा-चांपा मार्ग पर लैंको पावर प्लांट के पास सड़क के दोनो ओर भारी वाहनों की लम्बी कतार लगती है जिसके कारण मरम्मत कार्य प्रभावित होता है। कलेक्टर ने तत्काल कोरबा एसडीएम को वाहनों को हटाने के लिये जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश बैठक में दिये।
श्रीमती कौशल ने बैठक में मुनगाडीह के गाजरनाला पर पुल निर्माण की धीमी गति पर भी अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया। अधिकारियों को उन्होंने एप्रोच रोड का काम तेज करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को बरबसपुर से उरगा के बीच सड़क निर्माण के काम को भी अगले 15 दिनों में पूरा करने के निर्देश दिये। कोरबा के कार्यपालन अभियंता श्री ए.के. वर्मा ने बताया कि इस सड़क पर बरबसपुर-उरगा के बीच डामरीकरण का काम तेजी से किया जा रहा है और लगभग एक हजार 600 मीटर सड़क पर डामरीकरण का काम पूरा हो गया है। इसके साथ ही सड़क से पानी निकासी के लिये साइड नाली बनाने का काम भी तेजी से किया जा रहा है। छुरीकला नगर पंचायत क्षेत्र में सड़क की मरम्मत की वर्तमान स्थिति पर कलेक्टर ने एक बार फिर असंतोष जताते हुये पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को काम तेज करने के निर्देश दिये। उन्होंने छुरी में सड़क के मरम्मत काम को दिसंबर माह के मध्य तक किसी भी परिस्थिति में पूरा करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने अधिकारियों को यह भी कहा कि सड़को की मरम्मत या निर्माण कार्य में किसी भी तरह की परेशानी आने पर उसे अपने तक ना रखें। वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाकर परेशानियों का निराकरण करायें और समय-सीमा में सड़क मरम्मत के कामों को गुणवत्ता के साथ पूरा करायें।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular