Sunday, March 3, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा का पहाड़ी कोरवा हत्याकांड: नाबालिग की मां बोली- मेरी बेटी से...

कोरबा का पहाड़ी कोरवा हत्याकांड: नाबालिग की मां बोली- मेरी बेटी से गैंगरेप किया गया, घरवाली बनाकर रखना चाहता था आरोपी; शरीर पर मिले संघर्ष के निशान…

छत्तीसगढ़ के कोरबा में पहाड़ी कोरवा परिवार के 3 सदस्यों की हत्या मामले में महिला ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटी से गैंगरेप किया गया। उसने पुलिस के सामने बयान दर्ज कराए हैं।

  • महिला ने पुलिस के सामने दर्ज कराए बयान, परिजनों के पहुंचने के बाद शुरू हुआ पोस्टमार्टम
  • लेमरू में आदिवासी पहाड़ी कोरवा परिवार के 3 सदस्यों की 4 दिन पहले की गई थी हत्या, कल मिले थे शव

कोरबा/ छत्तीसगढ़ के कोरबा में आदिवासी पहाड़ी कोरवा हत्याकांड मामले में 16 साल की किशोरी से गैंगरेप का भी आरोप लगा है। किशोरी की मां ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटी से सामूहिक दुष्कर्म किया गया। उसने यह भी कहा है कि मुख्य आरोपी संतराम यादव उसकी बेटी को घर वाली बनाकर रखना चाहता था, लेकिन वो लोग इसके लिए तैयार नहीं थे। महिला ने अपने बयान पुलिस को दर्ज कराए हैं। फिलहाल अभी शवों का पोस्टमार्टम किया जा रहा है।

पुलिस ने मंगलवार देर शाम मुख्य आरोपी संतराम यादव सहित 4 को गिरफ्तार कर लिया है। संतराम ने अपने साथी उमाशंकर यादव, अब्दुल जब्बार, अनिल सारथी, परदेशी दास व अनंत दास के साथ मिलकर उनकी हत्या की। वहीं परदेशी दास व अनंत दास फरार है।

लेमरू क्षेत्र के गढ़-उपरोड़ा में 29 जनवरी को पिता-पुत्री और 4 साल की नातिन की हत्या कर दी गई थी। तीनों के शव मंगलवार को जंगल से बरामद हुए थे।

लेमरू क्षेत्र के गढ़-उपरोड़ा में 29 जनवरी को पिता-पुत्री और 4 साल की नातिन की हत्या कर दी गई थी। तीनों के शव मंगलवार को जंगल से बरामद हुए थे।

पुलिस बुधवार को पोस्टमार्टम के लिए परिजनों का इंतजार कर रही थी। इस दौरान आदिवासी कोरवा की पत्नी पहले ही वहां पहुंच गई थी। पुलिस ने उसका बयान दर्ज किया। इस दौरान उसने बताया कि जब वो पुलिस के साथ अपने पति और बेटी को तलाश कर रही थी, तब उसने मुख्य आरोपी संतराम से वारदात का कारण पूछा। इस पर उसने बताया कि वह किशोरी को घरवाली बनाकर रखना चाहता था, लेकिन परिजन इसके लिए तैयार नहीं थे।

शुरुआती जांच में दुष्कर्म की आशंका से इनकार नहीं, शार्ट PM रिपोर्ट मांगी गई
पुलिस ने अभी इस मामले में FIR दर्ज नहीं की है। हालांकि सभी आरोपी पुलिस की हिरासत में हैं। पुलिस पोस्टमार्टम और परिजनों के बयान का इंतजार कर रही थी। अभी डॉक्टरों की टीम सभी का पोस्टमार्टम कर रही है। शुरुआती पंचनामा में दुष्कर्म की आशंका से इनकार नहीं किया गया है। किशोरी के शरीर पर संघर्ष के निशान मिले हैं। वहीं उसके प्राइवेट पार्ट से भी ब्लीडिंग हो रही थी। इसे देखते हुए पुलिस ने शार्ट PM रिपोर्ट मांगी है।

पिता-पुत्री और नातिन की हुई थी हत्या, किशोरी को पत्थरों से दबाया
लेमरू क्षेत्र के गढ़-उपरोड़ा में 29 जनवरी को पिता-पुत्री और 4 साल की नातिन की हत्या कर दी गई थी। शव मंगलवार को जंगल से बरामद हुए थे। उस समय किशोरी जिंदा थी और उसे पत्थर रख दबा दिया गया था। अस्पताल लाते समय रास्ते में मौत हो गई। बाकी दोनों की सिर कुचलकर हत्या की गई है। मुख्य आरोपी संतराम यादव सहित उमाशंकर यादव, अब्दुल जब्बार, अनिल सारथी, परदेशी दास व अनंत दास को हिरासत में है। जबकि परदेशी दास और अनंत दास फरार हैं।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular