Wednesday, February 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: कोरबा-कुसमुण्डा मार्ग की जर्जर हालत, धूल के गुब्बारों, गड्डों और जाम...

कोरबा: कोरबा-कुसमुण्डा मार्ग की जर्जर हालत, धूल के गुब्बारों, गड्डों और जाम से त्रस्त होकर एक युवक द्वारा किया गया विरोध प्रदर्शन; हाथ में तख्ती लेकर घंटो खड़ा रहा सड़क पर..

कोरबा-कुसमुण्डा मार्ग के बारे में अब अधिक कुछ कहने को बाकी नही रह गया है, अगर कुछ बाकी है तो वो है सिर्फ समस्या, समस्या गड्डो की, जाम की, धूल की। जिसके समाधान पर लाखों खर्च सिर्फ कागजो में हो रहे है। जब कोई आंदोलन होता है तो सब कुछ करने की बातें कह दी जाती है, कुछ दिन चलता भी है, फिर उसके बाद जस के तस।

खैर बात करेंगे आज के घटनाक्रम की, शिवमन्दिर चौक से पेट्रोल पंप, खम्हरिया मोड़, बरमपुर होते हुए माँ सर्वमंगला चौकी तक कोरबा- कुसमुंडा मार्ग पर भयानक धूल का गुब्बार है। सड़क की धूल भारी वाहनों के साये से उड़ कर आंधी तूफान का रूप ले रही है, जिससे दुपहिया वाहन चालको का चलना दुर्बर हो गया है। गलती इसमे भारी वाहनों की नही उन्हें जो मार्ग मिलेगा उसी में वे चलेंगे, गलतियां यहाँ प्रशासन की है जो सिरमौर है, उनके होते हुए भी जनता त्रस्त है, परेशान है।

इसी परेशानी से परेशान होकर क्षेत्र का एक युवक हाथ मे तख्ती लेकर बरमपुर चौक के पास सड़क किनारे खड़ा हुआ है और आने जाने वालों को दिखा रहा है। कुछ लोग देख रहे, कुछ देख कर अनदेखा कर रहे है, थोड़ा पास जाने पर पता चला कि उसमे लिखा थ “कोरबा कुसमुण्डा रोड में पानी छिड़काव की जिम्मेदारी किसकी है।”

हमने युवक से बात की उन्होंने कैमरे के सामने अपना चेहरा नही दिखाने की बात कही, ऑफ कैमरा उनका कहना था कि उन्हें न ही नेता बनना है न ही हीरो, उनका कहना था कि मैं प्रतिदिन इस मार्ग पर आता जाता हूँ और सड़क की गड्डो के साथ इस मार्ग पर उड़ रही धूल से भी बेहद परेशान हूँ। मुझे समझ नही आ रहा, किससे क्या कहूँ, इसलिए आज ये सवाल लेकर यहाँ खड़ा हूँ। आखिर क्यों सड़क पर धूल उड़ रही है, क्या हम इसी लिए वोट देते है, क्या हम इसी लिए टेक्स भरते है कि गड्डो में चलें, धूल खाएं…

युवक की बातें जायज है, नेता नेतागिरी कर अपना स्वार्थ साधने में लगे है आम आदमी करें भी तो करें भी क्या…?

SECL द्वारा इस मार्ग पर पानी छिड़काव, गड्ढों की मरम्मत के लिए लाखों रुपए के ठेके जारी किए गए हैं, परन्तु SECL के ही अधिकारियों और ठेकदार की मिलीभगत से कोरबा कुसमुण्डा मार्ग इनके पैसे कमाने की मशीन बन गयी है, आम लोग परेशान होते रहे और ये सब अपना जेब भरते रहे।

बीते एक-दो वर्षों में कोरबा कुसमुण्डा मार्ग पर अगर खर्च का ब्यौरा मांगा जाए तो पता चलेगा कि इतने में तो नई सड़क बन जाती, भ्र्ष्टाचार की बलि चढ़ी ये सड़क लोगो के स्वास्थ की,जीवन की बलि ले रही है।

आमजनों में इस मार्ग की समस्या को लेकर काफी आक्रोश है, उनका कहना है कि इस मार्ग पर फोर लेन बनाना है और वो जब बनेगा तब बनेगा अभी जो झेल रहे उसका क्या….?

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular