Friday, April 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा जिले में अभी तक लगभग एक लाख लोगों को लगी कोविड...

कोरबा जिले में अभी तक लगभग एक लाख लोगों को लगी कोविड वैक्सीन…ग्रामीण इलाकों में कोरोना का टीका लगाने भारी उत्साह..

  • विशेष टीकाकरण अभियान के दूसरे दिन 45 वर्ष से अधिक के 17 हजार लोगों को लगा टीका




कोरबा /कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं उसे फैलने से रोकने के लिए 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकारण पूरे उत्साह से जारी है। जिले में अभी तक 45 वर्ष से अधिक के 99 हजार 395 लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है। पहली डोज लेने वाले लोगों में से लगभग 12 हजार लोगों ने टीके की दूसरी खुराक भी लगवा ली है। इन लोगों में स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर, सीनियर सिटीजन सभी शामिल हैं। टीकाकरण के विशेष अभियान के दूसरे दिन कल जिले में 17 हजार 286 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। शहरी इलाकों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में इस टीकाकरण का सघन अभियान से आने वाले 20 दिनों में 45 वर्ष या उससे अधिक के शत-प्रतिशत लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का लक्ष्य जिला प्रशासन ने रखा है। टीकाकरण केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। इसके साथ ही टीकाकरण केन्द्रों पर लोगों को टीका लगाने के बाद उनकी काउंसिलिंग भी की जा रही है। कोरबा जिले में 14 लाख 21 हजार से अधिक की जनसंख्या में 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लगभग दो लाख 84 हजार 394 लोगों को कोरोना का टीका लगना है।
दूसरे दिन पाली विकासखण्ड में लगी सबसे अधिक वैक्सीन – 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों को कोरोना टीकाकरण अभियान के दूसरे दिन पाली विकासखण्ड में सबसे अधिक चार हजार 409 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। दूसरे स्थान पर करतला विकासखण्ड रहा जहां दो हजार 944 लोगों ने टीकाकरण केन्द्रों पर पहुंचकर कोरोना का टीका लगवाया। पोड़ी-उपरोड़ा विकासखण्ड में दो हजार 848, कोरबा ग्रामीण में दो हजार 779, कटघोरा विकासखण्ड में दो हजार 302, कटघोरा और कोरबा के शहरी क्षेत्रों को मिलाकर दो हजार 004 लोगों ने कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण करा लिया है।
कोविड टीकाकरण के लिए 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों को किसी भी प्रकार की बीमारी संबंधी दस्तावेज या सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य नहीं है। कोई भी व्यक्ति शासकीय या निजी टीकाकरण केन्द्र में पंजीयन आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र, पासबुक, ड्राईविंग लायसेंस जैसे फोटो आईडी या शासकीय अभिलेख और अन्य दस्तावेजों के आधार पर अपना टीकाकरण करा सकता है। इसके साथ ही टीकाकरण कराने वाले व्यक्ति को टीकाकरण केन्द्र में अपना मोबाईल नम्बर भी बताना होगा। जिले के सभी टीकाकरण केन्द्रों में प्रशिक्षित स्वास्थ कर्मियो द्वारा टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण के दौरान सामाजिक दूरी, सेनेटाईजर एवं मास्क का उपयोग जैसे निर्धारित प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य है। टीकाकरण के पश्चात् आधा घंटा हितग्राही को निगरानी कक्ष मेें बैठाया जाता है। भारत सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविशील्ड टीके के पहले डोज से छह से आठ सप्ताह के अंतराल में कोविशील्ड का दूसरा डोज लगाया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश सभी जिला स्तरीय स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारियों को दिए गए हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular