Wednesday, February 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबापूर्वांचल विकास समिति व प्रशासन की बैठक में निर्णय : छठ पर्व...

पूर्वांचल विकास समिति व प्रशासन की बैठक में निर्णय : छठ पर्व पर नहीं होगी नदी-घाटों में सामूहिक पूजा.. घरों पर ही छठ पूजा की रस्में पूरी करने पर बनी सहमति…


कोरबा 07 नवंबर 2020/ इस बार कोरोना संक्रमण के चलते छठ पर्व पर नदी, तालाबों तथा पूजा घाटों पर सामूहिक छठ पूजा का आयोजन नहीं होगा। इस बार छठ पूजा पर श्रद्धालू अपने-अपने घरों में ही प्रतीकात्मक रूप से तालाब बनाकर भगवान सूर्य को अध्र्य देंगे और छठ पूजा की सभी रस्में पूरी करेंगे। आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के निर्देश पर जिला प्रशासन तथा पूर्वांचल विकास समिति के पदाधिकारियों के बीच हुई बैठक में आने वाली छठ पूजा का सर्व सहमति से स्वरूप तय हुआ । सभी सदस्यों ने पूरी सावधानी से कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए छठ पूजा करने पर सहमति जताई। बैठक में पूर्वांचल विकास समिति के अध्यक्ष डाॅ. राजीव सिंह, सचिव श्री डी. एन. राय सहित समिति के सदस्य श्री अशोक सिंह, श्री अशोक तिवारी, श्री कमलेश यादव तथा श्री बी. एन. सिंह भी मौजूद रहे।  बैठक में जिला प्रशासन की ओर से अपर कलेक्टर एवं अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्रीमती प्रियंका महोबिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर, एसडीएम श्री सुनील नायक, तहसीलदार श्री रोहित सिंह भी शामिल हुए। बैठक में यह भी तय हुआ कि छठ पूजा के दौरान किसी भी प्रकार का प्रसाद वितरण, भोज, भण्डारा आदि नहीं किया जाएगा। कन्टेनमेंट जोन घोषित होने की दशा में किसी भी प्रकार की धार्मिक-सांस्कृतिक गतिविधियां तथा कार्यक्रम करने की अनुमति भी नहीं होगी। छठ पूजा के दौरान भी कोविड प्रोटोकाॅल का श्रद्धालुओं सहित सभी को पूरा पालन करना होगा सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करते हुए मास्क लगाकर ही पूजा की रस्में निभानी होगी और बार-बार हाथों को सेनेटाईज करना होगा।

कलेक्टर ने भी की अपील – कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने आगामी 18 से 21 नवंबर तक आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण छठ त्यौहार के दौरान नदी-तालाबांे और छठ घाटों पर ना जाकर घरो में ही छठ पूजा की सभी रस्में और परंपराये पूरी करने की अपील जिले वासियों से की है। छठ त्यौहार के दौरान पूजा-अर्चना के लिये बड़ी संख्या में लोग नदी-तालाबों और छठ घाटों पर इकट्ठे होते हैं। लोगों के इस तरह इकट्ठे होने से कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका है। कलेक्टर ने इसी आशंका के मद्देनजर लोगों से अपील की है कि घर पर ही छठ पूजा की रस्में निभाएं और कोरोना से लड़ाई में शासन-प्रशासन के संकल्प को अपनी इस छोटी सी भागीदारी से पूरा करने में सहयोग करें।
कलेक्टर ने अपील की है कि कोरोना वायरस से फैली महामारी का प्रभाव अभी खत्म नहीं हुआ है। कोरबा जिले में हर रोज ही कोरोना संक्रमितों की पहचान हो रही है। यदि हम अभी सर्तक नहीं हुए तो कोरोना की यह रफ्तार और तेज हो सकती है। श्रीमती कौशल ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी अभी की परिस्थितियों में कोरोना को बढ़ने से रोकने के लिये अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह दी है। उन्होंने दीवाली सहित छठ पूजा के इस त्यौहारी सीजन में कोविड प्रोटोकाॅल का सख्ती से पालन करने और मास्क लगाने तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर ही अपने सभी काम करने की अपील लोगों से की है। उन्होंने कहा है कि त्यौहारी सीजन में खरीददारी के समय भी मास्क लगाकर और दो गज दूरी का पालन करके हम दीवाली-छठ पूजा के त्यौहार अपने परिवार के साथ खुशी से मना सकते हैं। थोड़ी सी लापरवाही इन त्यौहारों का आनंद और पूरे परिवार की खुशियों पर ग्रहण लगा सकता है। श्रीमती कौशल ने लोगों से अपील की है कि खरीददारी करने निकलते समय मास्क जरूर लगायें, अपने हाथों को बार-बार सेनेटाइज करते रहें, बेवजह चीजों को ना छुएं और कहीं पर भी भीड़ ना लगाएं। उन्होंने कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिये शासन-प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों में अपना बहुमूल्य सहयोग करने की भी अपील लोगों से की है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular