Saturday, July 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC NEWS 24: BIG न्यूज़- मुस्लिम युवक नाम बदलकर महाकालेश्वर मंदिर में...

BCC NEWS 24: BIG न्यूज़- मुस्लिम युवक नाम बदलकर महाकालेश्वर मंदिर में किया प्रवेश… गर्लफ्रेंड के साथ भस्म आरती के लिए बैठा था पंक्ति में, हरकतों से कर्मचारियों ने पकड़ा…जांच शुरू

उज्जैन: महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की भस्म आरती से गैरहिंदू पकड़ा गया है। कर्नाटक का मोहम्मद यूनुस मुल्ला मुंबई की गर्लफ्रेंड खुशबू दुबे के साथ उज्जैन आया है। उसके पास आधारकार्ड अभिषेक दुबे के नाम का था। इसी के जरिए उसने मंदिर में एंट्री की। आरती में रीति-रिवाजों का पालन ठीक ढंग से नहीं कर पाने पर मंदिर कर्मचारियों ने उसे पकड़कर पूछताछ की। आधारकार्ड की फोटो से चेहरा नहीं मिला। पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि उसके पास मिला अभिषेक दुबे नाम का आधारकार्ड उसकी गर्लफ्रेंड के भाई का है।

बुधवार सुबह की भस्म आरती में कर्नाटक के मोहम्मद युनुस मुल्ला ने अभिषेक दुबे के नाम से बुकिंग कराई थी। खुशबु ने यूनुस को अपना भाई बताकर एंट्री दिलाई थी। कर्मचारियों के पूछने पर भी युवती उसे अपना भाई ही बताती रही। जब युनुस का ओरिजनल आधारकार्ड सामने आया तो हकीकत सामने आई। पुलिस ने आरोपी पर 420 में केस किया है। उसे और उसकी गर्लफ्रेंड को हिरासत में लिया गया है।

होटल मालिक ने नहीं दिया रूम
यूनुस, खुशबू के साथ महाकाल मंदिर के नजदीक होटल में भी रुका था। वहां उसने अपना ओरिजनल आधारकार्ड दिखाया था और खुशबू ने अपना। होटल कर्मचारियों को लव जिहाद की शंका हुई तो पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद होटल मालिक ने दोनों को अपने यहां कमरा देने से इनकार कर दिया था। हालांकि, तब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। दोनों महाकाल के दर्शन के लिए ही आए थे। किसी को शक न हो, इलसिए खुशबू ने यूनुस को अपना भाई अभिषेक बताते हुए उसी का आधारकार्ड भी दे दिया था। दोनों ने भस्म आरती में पंडित के जरिए प्रवेश किया था। दोनों सबसे आगे की पंक्ति में बैठकर भस्म आरती में शामिल हुए थे।

यूनुस का ओरिजनल आधारकार्ड।

यूनुस का ओरिजनल आधारकार्ड।

खुशबू के भाई का आधारकार्ड।

खुशबू के भाई का आधारकार्ड।

युवक की हरकतों पर हुआ शक
युनुस सबसे आगे की पंक्ति में बैठा था, लेकिन उसकी हरकतों से कर्मचारियों को शक हुआ। वह हिंदू रीति-रिवाजों का पालन ठीक ढंग से नहीं कर पा रहा था। इसके बाद युवक को रोककर पूछताछ की गई। जब उसका आधारकार्ड से मिलान किया गया तो चेहरा नहीं मिल सका। फिर उससे ओरिजनल आधारकार्ड मांगा। युवक के चेहरे और अनुमति के लिए लगाई गई आईडी की फोटोकॉपी से चेहरे का मिलान नहीं हुआ। संदेह होने पर जब पूछताछ की तो युनुस ने अपनी सही आईडी दिखाई। इसमें युवक का नाम मोहम्मद युनुस मुल्ला निवासी कर्नाटक लिखा है। फर्जी मामला सामने आते ही कर्मचारियों ने तत्काल सूचना मंदिर की पुलिस चौकी और अधिकारियों को दी।

हमने पुलिस को सौंप दिया मामला
मंदिर समिति प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ ने कहा कि यह मामला फ्रॉड का है, इसीलिए पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस की पूछताछ के बाद ही पूरा मामला सामने आएगा।

युवक गिरफ्तार, जांच शुरू
CSP पल्लवी शुक्ला ने बताया कि मंदिर समिति से सूचना मिलने के बाद युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूरे मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular