Tuesday, April 16, 2024
Homeकर्नाटकBCC News 24: BIG News- कार शोरूम में हुई किसान की बेइज्जती.....

BCC News 24: BIG News- कार शोरूम में हुई किसान की बेइज्जती.. कपड़े और हालत देखकर सेल्स एग्जीक्यूटिव ने भगा दिया; तो 30 मिनट में 10 लाख रुपये लाकर दिया ऐसा मुंहतोड़ जवाब.. देखें वीडियो

कुछ किसान गाड़ी देखने के लिए शोरूम पर पहुंचे, लेकिन सेल्स एग्ज्क्यूटिव ने कुछ ऐसी बात कह दी कि वह सभी गुस्सा गए. इसके बाद उन्होंने 30 मिनट पर नकदी लेकर पहुंचे और गाड़ी की डिलिवरी की मांग की.

  • शोरूम से सेल्स एग्जीक्यूटिव ने किसानों को भगा दिया.
  • 30 मिनट में नकदी लेकर पहुंचे सभी किसान.
  • गुस्साए किसानों ने स्थानीय पुलिस में दर्ज कराई शिकायत.

Viral Video: इस धरती पर हर व्यक्ति को शिष्टता और सम्मान का अधिकार होता है, चाहे उसकी वर्ग या जाति कोई भी हो. लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो अक्सर बाहरी दिखावे में ही रुचि रखते हैं. इसी तर्ज पर एक घटना कर्नाटक के तुमकुरु (Karnataka’s Tumakuru) जिले में हुई, जब एक किसान (Farmer) अपने दोस्तों के साथ एक कार शोरूम से बोलेरो पिकअप (Bolero Pick Up) खरीदने गया. हालांकि, उन्हें सेल्स एग्जीक्यूटिव ने भगा दिया, जिन्होंने सोचा कि किसान और उसके दोस्त विंडो शॉपर (यानी सिर्फ देखने के लिए आए) हैं.

शोरूम से सेल्स एग्जीक्यूटिव ने किसानों को भगा दिया

शोरूम के कर्मचारी ने कथित तौर पर केम्पेगौड़ा आरएल से कहा कि उसके पास उसकी जेब में 10 रुपये भी नहीं होंगे, कार के लिए 10 लाख रुपये तो छोड़ ही दें. इस तरह के कमेंट्स के बाद उन्होंने अपमानित महसूस किया. फिर सभी किसान वहां से चले गए लेकिन सेल्स एग्जीक्यूटिव को चुनौती दी कि वह और उसके दोस्त एक घंटे के भीतर एसयूवी खरीदने के लिए नकदी के साथ लौटेंगे. उन्होंने सेल्स एक्जीक्यूटिव को चुनौती दी कि अगर वे नकदी लाने में कामयाब रहे तो उसी दिन कार की डिलीवरी कर दें. घटना का वीडियो कुछ इंटरनेट यूजर्स द्वारा शोरूम में बिक्री टीम पर ‘क्लासिस्ट’ होने का आरोप लगाने के साथ वायरल हो गया.

30 मिनट में नकदी लेकर पहुंचे सभी किसान

केम्पेगौड़ा ने कहा, ‘मेरे कपड़े और मेरी हालत देखकर उन्हें लगा कि मैं पैसे देने की स्थिति में नहीं हूं. उनके एक फील्ड ऑफिसर ने मुझसे कहा, ‘आपके पास शायद 10 रुपये भी नहीं हैं, क्या आप यह गाड़ी खरीदेंगे?’ उन्होंने यह तक कहा कि जो लोग वाहन खरीदने आते हैं वे इस तरीके से खरीदने नहीं आते हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमें अपमानित किया गया, मेरे एक चाचा ने सेल्समैन को चुनौती दी कि वे 10 लाख रुपये देने के लिए तैयार हैं और क्या वह तुरंत गाड़ी डिलिवर करेंगे, जिस पर उसने जवाब दिया कि अगर उन्हें आधे घंटे में पूरा नकद मिल जाता है, तो वह गाड़ी तुरंत डिलिवर कर देंगे.’

गुस्साए किसानों ने स्थानीय पुलिस में दर्ज कराई शिकायत

द टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, सेल्स एग्जीक्यूटिव को लगा कि वह किसान कभी ऐसा नहीं कर पाएगा क्योंकि उस दिन बैंकों से नकदी निकालने में बहुत देर हो रही थी. तीस मिनट बाद किसान 10 लाख रुपये लेकर लौटा और SUV की मांग की. लेकिन, सेल्स एग्जीक्यूटिव डिलीवरी नहीं कर सका और दो दिन का समय मांगा. गुस्साए किसानों ने स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. तिलक पार्क थाने के पुलिस कर्मियों को किसान और उसके दोस्तों को घर वापस जाने के लिए मनाना पड़ा.

केम्पेगौड़ा ने कहा कि वह अब कार नहीं खरीदना चाहते हैं और शोरूम से उन्हें और उनके दोस्तों को अपमानित करने के लिए लिखित माफी की मांग की. केम्पेगौड़ा ने कहा, ‘मैंने सेल्स एक्जीक्यूटिव व शोरूम अधिकारियों से मुझे और मेरे दोस्तों को अपमानित करने के लिए लिखित रूप में माफी मांगने के लिए कहा है. अब, मैंने वाहन खरीदने में रुचि खो दी है.’

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular