Sunday, March 3, 2024
HomeUncategorizedCG: 11 साल की बच्ची ने लगाई फांसी... पढ़ने के लिए नहीं...

CG: 11 साल की बच्ची ने लगाई फांसी… पढ़ने के लिए नहीं जाना चाहती थी हॉस्टल, भाई वापस लेकर आया; लेकिन तनाव में कर ली आत्महत्या

सरगुजा: जिले में हॉस्टल से घर आई 6वीं कक्षा की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वो हॉस्टल में नहीं पढ़ना चाहती थी, जबकि माता-पिता बार-बार समझाकर उसे वहां भेज देते थे। मामला सिटी कोतवाली क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम मानिक प्रकाशपुर की रहने वाली छाया कुजूर (11) कन्या शिक्षा परिसर अंबिकापुर के हॉस्टल में रहकर कक्षा 6वीं में पढ़ाई करती थी। वो 3 हफ्ते पहले ही छात्रावास से घर आई थी और दोबारा हॉस्टल नहीं जाना चाहती थी।

सिटी कोतवाली क्षेत्र में 6वीं कक्षा की छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

सिटी कोतवाली क्षेत्र में 6वीं कक्षा की छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पिता के मनाने पर छात्रा चली गई थी हॉस्टल

माता-पिता के काफी समझाने के बाद भी जब वो हॉस्टल जाने के लिए तैयार नहीं हुई, तो उसके पिता 11 सितंबर को टीसी लेने स्कूल गए। यहां प्राचार्य के नहीं रहने के कारण टीसी नहीं मिल सकी। इसके बाद पिता ने घर आकर बेटी को हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करने के लिए समझाया। इस पर छात्रा पिता की बात मान गई और हॉस्टल जाने के लिए राजी हो गई।

हॉस्टल वॉर्डन ने परिजनों से छात्रा को ले जाने को कहा

मंगलवार को छात्रा का भाई आकाश उसे हॉस्टल छोड़ने के लिए गया था, लेकिन छात्रावास अधीक्षक ने कुछ देर बाद ही फोन कर कहा कि जब वह यहां नहीं रहना चाहती है, तो फिर उसे क्यों भेज दिया। इसके बाद छात्रा का भाई उसे लेकर घर आ गया था।

सूने घर में छात्रा ने लगाई फांसी

बहन को घर छोड़ने के बाद भाई अपने काम पर चला गया। माता-पिता भी खेत में काम करने के लिए चले गए। इधर छात्रा बेहद तनाव में थी। उसने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जब माता-पिता और भाई घर लौटकर आए, तो उन्होंने दरवाजा अंदर से बंद देखा। माता-पिता के आवाज देने पर भी बेटी ने दरवाजा नहीं खोला, तो उन्होंने ऊपर चढ़कर घर का खपरा हटाया, तो छाया फांसी पर लटकी हुई दिखाई दी।

पोस्टमॉर्टम करवाकर लड़की के शव को परिजनों को सौंपा गया

इसके बाद दरवाजा तोड़कर माता-पिता और भाई तुरंत अंदर गए और लड़की को फांसी के फंदे से नीचे उतारकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर गए। यहां जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया।

पुलिस मामले की जांच में जुटी

परिजनों से पूछताछ में पता चला कि हॉस्टल जाने की बात को लेकर छात्रा बेहद तनाव में थी, हालांकि वे लोग उसे घर वापस ले आए थे, फिर भी उसने अपनी जान दे दी। बुधवार को छात्रा के शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular