Sunday, December 10, 2023
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: 3 पीढ़ियों का एक साथ अंतिम संस्कार... ओडिशा में सड़क हादसे...

CG: 3 पीढ़ियों का एक साथ अंतिम संस्कार… ओडिशा में सड़क हादसे में हुई थी पिता-पुत्र-पोते की मौत; श्मशान में हर आंख हुई नम

राजनांदगांव: जिले का एक परिवार मंगलवार को ओडिशा में सड़क हादसे का शिकार हो गया। हादसे में एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत हो गई। कार अनियंत्रित होकर जोड़ीमंडेली घाट से करीब 70 फीट नीचे खाई में गिर गई। जिससे पिता-पुत्र और पोते की जान चली गई, जबकि बहू की हालत गंभीर है। गुरुवार को तीनों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।

जानकारी के मुताबिक 14 नवंबर को राजनांदगांव के सनसिटी एनएक्स निवासी गौरव ठक्कर (35 वर्ष) अपनी कार से विशाखापट्नम जाने के लिए निकले थे। उनके साथ पिता नंदलाल ठक्कर (62 वर्ष), पत्नी रचना ठक्कर (32 वर्ष) और बेटा नमन ठक्कर (10 वर्ष) भी कार में सवार थे।

70 फीट नीचे खाई में गिरी कार।

70 फीट नीचे खाई में गिरी कार।

जगदलपुर में नाश्ता करने रुके थे

ठक्कर परिवार विशाखापट्नम घूमने जा रहा था। इस टूर में उनके साथ एक और परिवार अलग कार में था। सभी लोग रात करीब 9 बजे जगदलपुर पहुंचे थे। यहां सभी ने चाय नाश्ता किया। इसके बाद आगे के सफर पर रवाना हुए। करीब एक घंटे बाद उनकी कार ओडिशा-आंध्रा बॉर्डर पर जोड़ीमाडेली घाटी पहुंची।

70 फीट नीचे खाई में गिरी कार

जोड़ीमाडेली घाटी पहुंचने पर गौरव ठक्कर अपनी कार से नियंत्रण खो बैठे और कार घाटी से करीब 70 फीट नीचे खाई में गिर गई। संभावना है कि घाटी में घना कोहरा होने के चलते कार ड्राइव कर रहे गौरव को रास्ता नहीं दिखा और ये हादसा हो गया। जिसमें गौरव के साथ उनके पिता नंदलाल ठक्कर और बेटे नमन की मौत हो गई। हादसे में गौरव की पत्नी रचना गंभीर रूप से घायल हैं।

नंदलाल, गौरव और नमन ठक्कर का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।

नंदलाल, गौरव और नमन ठक्कर का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।

तीनों का एक साथ अंतिम संस्कार

15-16 नवंबर की दरम्यानी देर देर रात करीब 3‌ बजे तीनों शवों को राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल लाया गया। पोस्टमॉर्टम के बाद गुरुवार को मठपारा श्मशान घाट पर जब तीन पीढ़ियों की चिताएं एक साथ सजीं तो वहीं मौजूद हर शख्स की आंखें आंसुओं से भीगी थी।

मंत्रोच्चार के बीच गौरव के भाई दिनेश ने अपने पिता नंदलाल, भाई गौरव की अंत्येष्टि की। वहीं, गौरव की बहन ने कंपकंपाते हाथों से अपने भतीजे नमन का अंतिम संस्कार किया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular