Tuesday, June 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: रायपुर में दो बच्चों के डूबने की इनसाइड स्टोरी... नमाज पढ़ने...

CG: रायपुर में दो बच्चों के डूबने की इनसाइड स्टोरी… नमाज पढ़ने निकले थे मासूम, सेफ्टी के नहीं थे इंतजाम; अब लापरवाही छुपाने की कोशि​श

RAIPUR: रायपुर के अश्वनी नगर इलाके में मंगलवार को एक निर्माणाधीन मकान के बेसमेंट के लिए बने पानी से भरे गड्ढे में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई। आवेश खान और आबिद खत्री अपनी मां से नमाज पढ़ने जाने की बात कहकर घर से निकले थे। लेकिन क्या पता था कि अब कभी लौटकर नहीं आएंगे। हादसे के बाद अब आजाद चौक पुलिस ने प्लॉट मालिक बृजलाल देवांगन के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया है।

घटना के बाद सेफ्टी दिखाने लगाया नया नेट शेड

घटनास्थल लाखे नगर से अश्वनी नगर की तरफ जाने वाली ढलान पर है। परिजन आरोप लगा रहे हैं कि यहां सेफ्टी को लेकर किसी भी तरह के कोई इंतजाम नहीं थे। हालांकि सड़क की तरफ रस्सी और टीन के सहारे हरे रंग का नेट शेड लगा दिखा। अंदाजा है कि इसे घटना के बाद लगाया गया है। ये जगह पीछे पूरी तरह खुली हुई है। वहां किसी भी तरह की रुकावट नहीं थी।

घटना के बाद नया ग्रीन नेट शेड लगा दिया गया है।

घटना के बाद नया ग्रीन नेट शेड लगा दिया गया है।

मोटर से निकाला गया गड्ढे का पानी

मौके पर गड्ढे से मोटर के सहारे पानी निकालने वाली पाइप भी दिखी। बच्चे के परिजन ने बताया कि घटना के बाद उस जगह से मोटर के सहारे पानी निकलवाया गया है। जिससे आगे की जांच में कम से कम सेफ्टी में लापरवाही ना दिख सके।

दोनों मासूम बच्चों का शव निकालते लोग।

दोनों मासूम बच्चों का शव निकालते लोग।

पानी में नहाने उतरे थे बच्चे

बच्चों के परिजन ने बताया कि आवेश और आबिद दोपहर करीब एक बजे अश्वनी नगर इलाके में खाली जमीन के पास पहुंचे थे। वहां गड्ढे में पानी भरा दिखा। इसलिए नहाने के लिए पानी में उतर गए।

करीब 7 फीट गहरा गड्ढा

बारिश का पानी भरा होने से बच्चों को पता नहीं चला कि यहां गहरा गड्ढा है। वे वहां मौज-मस्ती करते हुए नहाने लगे। दोनों ने अपने कपड़े भीगने से बचाने के लिए किनारे पर ही उतार दिए थे। ये गड्ढा निर्माणाधीन बिल्डिंग का बेसमेंट बनाने के लिए खोदा गया था। जिसकी गहराई करीब 5 से 7 फीट है।

बच्चे अपने कपड़े उतारकर गड्ढे में भरे पानी में नहाने उतरे थे।

बच्चे अपने कपड़े उतारकर गड्ढे में भरे पानी में नहाने उतरे थे।

बच्चों को बचाने एक शख्स ने लगाई थी छलांग

बच्चों को गहराई का अंदाजा नहीं हुआ और वो डूबने लगे। चीख सुनकर वहां से गुजर रहा एक शख्स रुका और उन्हें बचाने के लिए पानी में छलांग लगा दी। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। एक बच्चे की मौके पर मौत हो गई। जबकि दूसरे ने रायपुर एम्स में दम तोड़ दिया।

शव को थाने लेकर पहुंचे थे परिजन। कड़ी कार्रवाई की मांग।

शव को थाने लेकर पहुंचे थे परिजन। कड़ी कार्रवाई की मांग।

एंबुलेंस से शव लेकर थाने पहुंचे परिजन

मासूम बच्चों की मौत के बाद परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है। समाज के लोग बड़ी संख्या में एंबुलेंस से शव लेकर आजाद चौक थाने पहुंच गए। समाज के पदाधिकारी हाजी बदरुद्दीन खोखर ने कहा कि जमीन मालिक ने महीनों पहले गहरा गड्ढा खोदकर छोड़ दिया था। सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे। चौकीदार भी तैनात नहीं किया था। जिसके चलते ये घटना हुई। समाज ने पुलिस से जमीन मालिक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। समाज के पदाधिकारी भी परिजन के साथ थाने पहुंचे थे। घटनास्थल पर सुरक्षा को लेकर लापरवाही का आरोप लगाया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular