Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: आसमान से होती है नोटों की बारिश'... लड़की का दावा- उस...

CG: आसमान से होती है नोटों की बारिश’… लड़की का दावा- उस पर नाग देवता की शक्ति, अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति बोली- ये अंधविश्वास है

'सूरजपुर में आसमान से होती है नोटों की बारिश' । - Dainik Bhaskar

‘सूरजपुर में आसमान से होती है नोटों की बारिश’ ।

सूरजपुर: छत्तीसगढ़ के सूरजपुर की एक महिला का दावा है कि उस पर नाग देवता की शक्ति सवार हो गई है। इसकी मदद से वह लोगों की तकलीफों को दूर करती है। यह भी दावा है कि पूजा-पाठ के बाद 100, 200 और 500 के नोटों की बारिश होती है। अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ. दिनेश मिश्र ने इसे अंध-विश्वास बताया है। वह इसे पजेसिव सिंड्रोम बताते हैं।

दरअसल, मोहनपुर गांव में पिछले 17 दिनों से पूजा-पाठ का दौर चल रहा है। जो महिला नाग देवता की शक्ति का दावा कर रही है, उसका नाम प्रमिता है। उसका कहना है कि वह पहले बीमार रहती थी, तभी किसी ने उसे सलाह दी कि वह शिव चर्चा से जुड़े। इसके बाद उसने पूजा-पाठ शुरू किया। एक दिन उसे सपना आया कि धूप बत्ती जलाकर पूजा पाठ करे। उसने ठीक वैसा ही करना शुरू कर दिया।

सूरजपुर की प्रमिता पर नाग देवता की शक्ति सवार है।

सूरजपुर की प्रमिता पर नाग देवता की शक्ति सवार है।

आसमान से होती है पैसों की बारिश

महिला प्रमिता ने बताया कि जब वह पूजा करती है तो आसमान से 100, 200 और 500 के नोटों की बारिश घर के बरामदे में होती है, जिसे उठाकर परिजन भगवान के आसन के पास रख देते हैं और कुछ समय बाद वह पैसे गायब हो जाते हैं। जब कभी उनके पास चावल-दाल की कमी होती थी, तो उन्हें वह भी अपने आप उपलब्ध हो जाया करता है।

, सूरजपुर के मोहनपुर गांव में पिछले 17 दिनों से पूजा पाठ का दौर चल रहा है।

, सूरजपुर के मोहनपुर गांव में पिछले 17 दिनों से पूजा पाठ का दौर चल रहा है।

श्रद्धालुओं ने पैसों को आसमान से गिरते देखा

महिला के पास पहुंचे श्रद्धालु सुरेश दास मानिकपुरी और सिलोचना ने कहा कि पैसों की बारिश होने वाली बात सही है। उन्होंने भी कई बार पूजा के समय पैसों को आसमान से गिरते हुए देखा है।

महिला पर नाग देवता की शक्ति सवार

महिला का दावा है कि वह खुद से कुछ नहीं करती है, उसके ऊपर नाग देवता की शक्ति सवार है। नाग देवता लोगों की समस्याओं को सुनकर उनका निदान करते हैं। इस दौरान जब यह सब होता है, उसे कुछ भी याद नहीं रहता है।

सूरजपुर के मोहनपुर गांव में लोग बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं।

सूरजपुर के मोहनपुर गांव में लोग बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं।

मोहनपुर गांव में 17 दिनों से लगा दरबार

महिला के गांव में पिछले 17 दिनों से दरबार लगा हुआ है। प्रमिता लोगों की समस्याएं सुन रही है और निदान कर रही है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु मोहनपुर गांव आ रहे हैं। सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। लोगों की मान्यताएं हैं कि जो कोई श्रद्धालु यहां अपनी समस्याओं को लेकर पहुंच रहे हैं उनके समस्याओं का निदान हो जा रहा है।

जांच के बाद उचित कार्रवाई करेंगे

सूरजपुर डीएसपी नंदनी ठाकुर ने कहा कि हमें जानकारी मिली है, टीम भेजकर जानकारी लेकर उचित कार्रवाई करेंगे।

सूरजपुर के मोहनपुर गांव में लोग नारियल लेकर पहुंच रहे हैं और अपनी समस्याएं सुना रहे हैं।

सूरजपुर के मोहनपुर गांव में लोग नारियल लेकर पहुंच रहे हैं और अपनी समस्याएं सुना रहे हैं।

महिला को मनोचिकत्सक को दिखाना चाहिए

वहीं अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ दिनेश मिश्र ने कहा कि इस तरह के दावे भ्रामक होते हैं और अंधविश्वास फैलाने वाले होते हैं। इस तरह के लोग मानसिक उद्वेग से पीड़ित होते हैं। उन्हें अक्सर अलग-अलग तरह के सपने दिखाई देते हैं, साथ ही जागते हुए में भी अलग अहसास होते हैं। ये एक मनोवैज्ञानिक समस्या है।

डॉ दिनेश मिश्र ने कहा कि ये एक तरह का पजेसिव सिंड्रोम है, जिसमें व्यक्ति को लगता है कि उसके ऊपर अदृश्य शक्ति सवार हो गई है और वे दूसरों की समस्या दूर कर सकते हैं। दूसरों के दुख-दर्द दूर कर सकते हैं। ऐसे लोगों के परिजनों को तुरंत मनोचिकित्सक को दिखाना चाहिए न कि झाड़-फूंक के चक्कर में पड़ना चाहिए, क्योंकि ये चीजें आगे जाकर स्थायी मनोरोग में बदल सकती है।

ऐसे लोग समाज और परिवार के लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि ये वैज्ञानिक युग है और अंधविश्वास पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular