Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: करैत सांप ने युवक को काटा... अस्पताल पहुंचने पर भी समय...

CG: करैत सांप ने युवक को काटा… अस्पताल पहुंचने पर भी समय पर नहीं मिला इलाज, तड़प-तड़पकर गई जान

पीड़ित मां सर्पदंश से बेटे की मौत के बाद रोती-बिलखती हुई।

गरियाबंद: जिले के छुरा में एक युवक को करैत सांप ने काट लिया, जिसके बाद समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण उसने दम तोड़ दिया। मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में शव रखकर जमकर हंगामा किया।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम मूढ़ीपानी निवासी कमार जनजाति का युवक जप सिंह (19) अपने घर में सो रहा था। इसी दौरान बुधवार तड़के करीब 4 बजे उसकी हाथ की ऊंगली पर करैत सांप ने काट लिया। जिससे उसकी नींद अचानक से खुल गई। उसने अपनी मां बिसाहिन बाई कमार और भाई अमर सिंह कमार को सांप काटने की बात बताई।

भाई ने कमरे में मौजूद करैत को पकड़कर डिब्बे में बंद कर लिया। इसके बाद जप सिंह को 108 संजीवनी एक्सप्रेस से सुबह 7 बजे अस्पताल लेकर गए। यहां पहुंचने के घंटे भर बाद भी युवक का इलाज नहीं शुरू किया गया। जिससे युवक की तड़प-तड़पकर जान चली गई। लगभग डेढ़ घंटे के बाद डॉक्टर एसपी प्रजापति अस्पताल पहुंचे और जांच के बाद युवक को मृत घोषित कर दिया।

इधर मौत के बाद परिजनों का गुस्सा भड़क गया। उन्होंने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है।

इधर मौत के बाद परिजनों का गुस्सा भड़क गया। उन्होंने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है।

परिजनों ने घंटों तक शव का नहीं कराने दिया पोस्टमॉर्टम

इधर मौत के बाद परिजनों का गुस्सा भड़क गया। उन्होंने शव को अस्पताल में ही रख दिया। अस्पताल के दरवाजे के सामने पीड़ित मां धरने पर बैठ गई और लापरवाह डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगी। बुधवार दोपहर 3 बजे तक परिजन अस्पताल में ही डटे रहे।

अस्पताल के दरवाजे के सामने पीड़ित मां धरने पर बैठ गई और लापरवाह डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगी।

अस्पताल के दरवाजे के सामने पीड़ित मां धरने पर बैठ गई और लापरवाह डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगी।

एसडीएम की समझाइस भी नहीं आई काम

मामले की सूचना पर एसडीएम भूपेंद्र साहू पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंचे। उन्होंने परिजनों को समझाया, लेकिन इसके बावजूद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पीड़ित मां ने नहीं जाने दिया।पुलिस बल का प्रयोग कर मां को रास्ते से हटाया गया, फिर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाया गया। पोस्टमॉर्टम के बाद भी परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए नहीं ले जाने की बात कह रहे हैं।

मामले में एसडीएम भूपेंद्र साहू ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से परिजनों के आरोपों की सच्चाई का पता चलेगा। इसके बाद ही कोई कार्रवाई की जा सकेगी। वहीं छुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का प्रभार संभाल रहे डॉक्टर एसपी प्रजापति ने कहा कि सर्प दंश से युवक की मौत अस्पताल लेकर आने से पहले ही हो चुकी थी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular