Tuesday, May 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG News: फर्जी एप से 68 लाख की ठगी... शेयर मार्केट में...

CG News: फर्जी एप से 68 लाख की ठगी… शेयर मार्केट में लाभ कमाने का दिया लालच, व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए भेजा था लिंक

Rajnandgaon: राजनांदगांव में फर्जी शेयर मार्केट एप के जरिए 68 लाख की ठगी का मामला सामने आया है। ये मामला बसंतपुर थाना क्षेत्र का है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। प्रार्थी भावेश वाल्दे ने W7 Rowe Price Stocks pulling, VIP Consultation और INDIRA Customer Care-AQNR372 व्हाट्सएप ग्रुप के खिलाफ साजिश, छल व धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज करवाया है।

दरअसल, बुधवार 24 जनवरी को भावेश वाल्दे पिता लच्छनराम वाल्दे (37 साल) निवासी वार्ड नं. 45, वैशाली नगर, कौरिनभाठा थाने में एक लिखित आवेदन देकर ठगी का शिकार होने का जानकारी दी है। भावेश वाल्दे का कहना है कि उसके मोबाइल नंबर पर आरोपी व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन के द्वारा फर्जी NDIRA-SES (IND-SES) एप डाउनलोड करवाया गया था।

शेयर मार्केट का काम करने की बताई बात

भावेश ने बताया कि 1 दिसंबर 2023 को W7 Rowe Price Stocks pulling व्हाट्सएप ग्रुप का लिंक उसके मोबाइल नंबर पर था। उस ग्रुप में वह भी शामिल हो गया था। ग्रुप के लोगों ने बताया कि वह ग्रुप शेयर मार्केट का काम करता है, जिसमें अनेक प्रकार के शेयर खरीदने और बेचने का ऑफर दिया जाता है। लोगों का काम बस शेयर खरीदना है। लाभ दिलाने का काम ग्रुप का है।

फर्जी एप करवाया डाउनलोड

उस व्हाट्सएप ग्रुप का संचालन और नियंत्रण केवल ग्रुप एडमिनों के पास था। ग्रुप एडमिनों ने प्रार्थी को लाभ दिलाने का भरोसा दिलाया। जिसके कारण प्रार्थी उनकी बातों में आ गया। इसके बाद प्रार्थी के पास एक मोबाइल नंबर से NDIRA-SES (IND-SES) एप डाउनलोड करने के लिए लिंक आया।

W7 Rowe Price Stocks pulling व्हाट्सएप ग्रुप में पहली बार BERYL SECURITIES LTD. शेयर की जानकारी डाली गई और बताया गया कि हर दिन 5 प्रतिशत लाभ होगा और दूसरे दिन बेचना होगा। इसी तरह अन्य शेयरों को खरीदने-बेचने और हर दिन 10 से 30 प्रतिशत तक लाभ मिलने के संबंध में जानकरी दी गई।

50 लाख रुपए की जमा

एडमिन द्वारा बताए गए शेयरों में कुछ लाभ हुआ था, जिसके बाद एडमिनों द्वारा लालच देने पर प्रार्थी भावेश अपना और अपनी पत्नी के खाते से रुपए डालता रहा। इसके बाद आरोपी द्वारा KAY CEE ENERGY INFRA LTD के आइपीओ में 160 प्रतिशत का लाभ दिलाने का लालच दिया गया। इसके लिए 50 लाख रुपए पहले जमा करने के लिए कहा गया था। प्रार्थी ने 50 लाख जमा कर दिए।

इसके बाद आरोपियों ने प्रार्थी भावेश को जबरदस्ती 2 करोड़ 39 लाख 08 हजार 800 सौ रुपए (2,39,08,800) के शेयर आबंटित कर दिए और शेष रकम (2,39,08,800- 62,61,099) 1,76,47,701 रुपए के भुगतान के लिए दबाव बना रहे है। भुगतान न करने पर जमा राशि रुपए 62,61,099 (लाभ सहित) जब्त करने की धमकी दी।

आइपीओ के शेयर नहीं दे रहे बेचने

प्रार्थी का कहना है कि ग्रुप एडमिनों द्वारा शुरुआत में कहा गया कि शेष शेयर को या तो कंपनी खरीदेगी या शेष राशि का लोन देगी। जिसका भुगतान KAY CEE ENERGY INFRA LTD के शेयर को लिस्टिंग के बाद बेचकर करना होगा। अब उक्त आइपीओ के शेयर बेचने नहीं दिया जा रहा है और लोन राशि पटाने के लिए लगातार दवाब बनाया जा रहा है। पूर्व में कहा गया था शेयर बेच सकते हैं।

अपने व अपनी पत्नी के बैंक अकाउंट से की लेनदेन

प्रार्थी ने सभी लेनदेन के लिए अपने बैंक खाते से 20 दिसंबर 2023 से 29 दिसंबर 2023 तक 49,25,047.20 रुपए IMPS व RTGS के जरिए से और अपनी पत्नी के बैंक अकाउंट से 12 दिसंबर 2023 से 29 दिसंबर 2023 तक कुल 9 लेनदेन में 18 लाख 56 हजार 123 रुपए IMPS व RTGS के जरिए आरोपियों के बताए ICICI बैंक के दो खाते व इंडसइंड बैंक के एक खाते में रुपए जमा किया गया। प्रार्थी ने बताया कि ग्रुप एडमिनों के द्वारा उपरोक्त ग्रुप में कोई भी मैसेज नहीं भेजा रहा है और ग्रुप के सभी सदस्यों को निकाल दिया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular