Saturday, June 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG News: डंपर ने स्कूटी सवार दो महिलाओं को चपेट में लिया......

CG News: डंपर ने स्कूटी सवार दो महिलाओं को चपेट में लिया… एक की मौके पर मौत, शेयर चैट में मिली थीं दोनों दोस्त; स्कूटी से जा रही थी छोड़ने

BHILAI: भिलाई के जामुल थाना अंतर्गत छावनी चौक में एक डंपर चालक ने स्कूटी सवार दो महिलाओं को अपनी चपेट में ले लिया। डंपर की टक्कर से स्कूटी चला रही महिला आराधना साहनी सड़क पर गिर गई। वहीं उसके पीछे बैठी उसकी सहेली वंदना देवांगन सड़क पर गिरी। उसके सिर में गहरी चोट आई। अधिक खून बहने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

आराधना ने बताया कि वो तिरंगा चौक छावनी में रहती है। उसकी सहेली वंदना साहनी हाउसिंग बोर्ड में रहती है। सोमवार सुबह वो उससे मिलने उसके घर आई थी। दोनों एक घंटे तक बैठे और बातें करते रहे। इसके बाद वंदना ने उसे कहा कि वो उसे छावनी चौक तक छोड़ दे वो घर जाएगी। इसके बाद आराधना अपनी स्कूटी से वंदना को छावनी चौक छोड़ने गई थी। दोपहर 12 बजे के करीब वो लोग जैसे ही छावनी चौक के पहुंचे पीछे एस तेज रफ्तार डंपर आया और उन्हें टक्कर मार कर भाग गया।

वह स्कूटी जिसे डंपर ने मारी टक्कर

वह स्कूटी जिसे डंपर ने मारी टक्कर

आराधना ने बताया कि डंपर की टक्कर से वो स्कूटी लेकर एक साइड गिर गई, वहीं वंदना दूसरी साइड जा गिरी। उसके सिर में गहरी चोट आने से खून काफी बह रहा था। तभी वहां मौजूद छावनी के पार्षद ने अपनी गाड़ी से उसे लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उसे डेड घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए मरचुरी में रखवा दिया गया है। जामुल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

शेयर चैट से हुई थी दोस्ती

आराधना ने बताया कि दो ढाई साल पहले वो हाउसिंग बोर्ड भिलाई में रहती थी। वंदना सक्ती जिले की रहने वाली थी। दोनों की दोस्ती शेयर चैट के जरिए हुई। इसके बाद वो दोनों काफी बातें करती थीं और धीरे-धीरे उनकी दोस्ती इतनी पक्की हो गई कि आराधना ने वंदना भिलाई रहने के लिए बुला लिया। वंदना अपने पति रोशन देवांगन और तीन बच्चों के साथ भिलाई आकर रहने लगी।

शादी के बाद रहने लगे थे अलग अलग

वंदना जब भिलाई आई तो वो आरधना के साथ ही हाउसिंग बोर्ड में रहती थी। इस बीत आराधना ने दीपक नाम के टैक्सी ड्राइवर से लव मैरिज कर ली। दीपक उसे लेकर तिरंगा चौक रहने आ गया। इसके बाद जब भी मौका मिलता वंदना और आरधना एक दूसरे से मिलने चली जाती थीं। आराधना ने कहा इस दुर्घटना ने दो बहन जैसी सहेलियों को एक दूसरे इतना दूर कर दिया कि अब वो कभी एक नहीं हो पाएंगीं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular