Thursday, April 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़CG: सूरजपुर के मंगल भवन में हुआ मुख्यमंत्री कन्या विवाह का आयोजन...

CG: सूरजपुर के मंगल भवन में हुआ मुख्यमंत्री कन्या विवाह का आयोजन…

  • विधायक, कलेक्टर, एसपी और जनप्रतिनिधियों ने नवदंपतियों को सुखद वैवाहिक जीवन का दिया आशीर्वाद
  • 188 जोड़ा वर-वधु पारंपरिक रीति-रिवाज से फेरे लेकर एक-दूसरे के बने हमसफर

सूरजपुर: छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना एवं मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की फ्लैगशिप योजनाओं में से एक मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना 2022-23 अंतर्गत जिला-सूरजपुर में आज मंगल भवन में कन्या विवाह का आयोजन किया गया। सरगुजा आदिवासी क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री खेल साय सिंह, संसदीय सचिव श्री पारसनाथ राजवाड़े, कलेक्टर सुश्री इफ्फत आरा, पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू, जनप्रतिनिधिगण सहित गणमान्य नागरिकों ने 188 नवदम्पत्तियों को सुखमय दाम्पत्य जीवन के लिए आशीर्वाद दिया। जिसमें प्रेमनगर विधानसभा अंतर्गत सूरजपुर विकास खण्ड के 80 वर-वधुओं एवं भटगांव विधानसभा अंतर्गत मंगल भवन भैयाथान में भैयाथान विकास खण्ड के 56 एवं ओड़गी विकास खण्ड अंतर्गत 52 इस प्रकार कुल 188 वर-वधुओं ने नव दंपत्ति के रूप में फेरे लिए।

इस अवसर पर अतिथियों ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना गरीब परिवार की बेटियों के लिए एक सौगात है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की संवेदनशील सोंच है कि बेटियों का विवाह बिना किसी पारिवारिक खर्च के आसानी से हो। इसी सोंच के चलते उन्होंने योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले राशि पच्चीस हजार रूपए से बढ़ाकर 50 हजार रूपए देने का निर्णय लिया है। इससे मुख्यमंत्री कन्या विवाह का आयोजन और अच्छे से हो रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का धन्यवाद ज्ञापन किया है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत कुल 181 हिन्दु जोड़े, 1 मुस्लिम जोड़े एवं 6 क्रिश्चन जोडों ने नव दम्पति के रूप में फेरे लिए। योजना के तहत् प्रति कन्या विवाह के आयोजन एवं व्यवस्था पर शासन द्वारा 25 हजार रुपये की राशि खर्च की सीमा तय है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य निर्धन कन्याओं के विवाह सन्दर्भ में होने वाली आर्थिक कठिनाइयों का निवारण करने, विवाह के अवसर पर होने वाले फिजूल खर्चों को रोकने, सामूहिक विवाह के माध्यम से निर्धनों के मनोबल एवं आत्मसम्मान में वृद्धि करने, सामाजिक हालत में सुधार करने, दहेज एवं बाल विवाह जैसी कुरीतियों को रोकना है। इस योजना के तहत् कन्या मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना अंतर्गत जारी राशन कार्ड धारित परिवार का हो, एक परिवार की अधिकतम 2 कन्याओं को योजना का लाभ दिया जा सकता है। कन्या की आयु 18 वर्ष एवं लड़के की आयु 21 वर्ष से अधिक हो। कन्या छत्तीसगढ़ की निवासी हो। कन्या के प्रथम विवाह पर ही यह राशि देय होगी। सामूहिक विवाह में सम्मिलित होने पर ही सहायता राशि की पात्रता होती है।

इस अवसर पर अध्यक्ष सरगुजा आदिवासी क्षेत्र विकास प्राधिकरण श्री खोलसाय सिंह, संसदीय सचिव श्री पारसनाथ राजवाड़े, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री नरेश राजवाड़े, छ.ग उर्दु बोर्ड सदस्यश्री इस्माईल खान, छगपर्यटन मण्डल सदस्य श्रीमती नीति सिंह, छ.ग राज्य अनुसूचित जाति आयोग सदस्य श्री संतोष सारथी, जिला पंचायत सदस्य बिहारी कुलदीप, जिला पंचायत सदस्य दुर्गा सारथी, विश्रामपुर नगर पंचायत अध्यक्ष श्री आशीष यादव, पार्षद गण या कलेक्टर सुश्री इफ्फत आरा, पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्री चंद्रबेस सिसोदिया, अनुविभागीय अधिकारी श्री रवि सिंह, भैयाथान एसडीएम श्री सागर सिंह राज, तहसीलदार डॉक्टर वर्षा बंसल, श्री ओपी सिंह, प्रतिनिधि गण,गणमान्य नागरिक एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular