Monday, July 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाChhattisgarh Breaking: पूर्व मंत्री के घर IT की रेड... छापे के बाद...

Chhattisgarh Breaking: पूर्व मंत्री के घर IT की रेड… छापे के बाद अमरजीत भगत की तबीयत बिगड़ी, टीम में 10 अधिकारी शामिल; कोल-राशन घोटाले से जुड़ा मामला

छत्तीसगढ़ में पूर्व मंत्री अमरजीत भगत समेत कई बिल्डर और कारोबारियों पर IT का छापा।

  • आयकर विभाग ने भिलाई, रायपुर, राजनंदगांव समेत कोरबा में भी बिल्डर और कारोबारियों के यहां दबिश दी, जांच जारी।

सरगुजा/रायपुर/भिलाई: छत्तीसगढ़ के पूर्व खाद्य मंत्री और कांग्रेस नेता अमरजीत भगत के अंबिकापुर स्थित आवास पर आयकर विभाग की टीम ने बुधवार सुबह दबिश दी है। मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ की IT टीम के सदस्य सुबह वाहनों में अमरजीत भगत के घर पहुंचे और जांच शुरू की। अमरजीत भगत का नाम कोयला घोटाले के आरोपियों में शामिल है। 17 जनवरी को ED ने मामले में FIR दर्ज कराई है।

IT की टीम बुधवार सुबह अंबिकापुर पहुंची और पुलिस बल के साथ बौरीपारा स्थित पूर्व मंत्री अमरजीत भगत के घर छापा मारा। टीम में करीब 10 अधिकारी शामिल हैं। कोयला घोटाले के सूत्रधार सूर्यकांत तिवारी की डायरी में उनका नाम है और उन पर 50 लाख रुपए लेने का जिक्र डायरी में है। आयकर विभाग ने भिलाई, रायपुर, राजनंदगांव समेत कोरबा में भी बिल्डर और कारोबारियों के यहां दबिश दी है।

छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सरकार बनने के बाद आयकर विभाग की ये पहली बड़ी कार्रवाई है। अमरजीत भगत का नाम चावल घोटाले और कस्टम मिलिंग घोटाले में भी उछला है। जिसके बाद भगत के खिलाफ जांच तय मानी जा रही थी।

अमरजीत भगत के बौरीपारा स्थित आवास पर जांच कर रही IT की टीम।

अमरजीत भगत के बौरीपारा स्थित आवास पर जांच कर रही IT की टीम।

अंबिकापुर समेत कई शहरों में IT की रेड

अंबिकापुर के साथ ही आयकर विभाग ने भिलाई, रायपुर, राजनांदगांव और कोरबा में भी बिल्डरों और कारोबारियों के घर दबिश दी है। भिलाई के बिल्डर अजय चौहान समेत उनके करीबियों के घर और दफ्तर में कार्रवाई चल रही है। करीब दो सौ अधिकारी-कर्मचारियों की टीम कार्रवाई को अंजाम दे रही है।

बिल्डर अजय चौहान के रामनगर स्थित ऑफिस और मौर्या टॉकीज के पास स्थित चौहान इस्टेट में भी आईटी की टीम की कार्रवाई जारी है। दुर्ग ग्रीन चौक स्थित हनुमंत राइस इंड्रस्ट्रीज के ठिकानों पर भी IT की टीम पहुंची है। साथ ही भिलाई के पंचवटी सोसाइटी स्थित मकान नंबर 32/8 निवासी एस के केजरीवाल के घर भी कार्रवाई चल रही है।

छापे के बाद अमरजीत भगत की तबीयत बिगड़ी

अमरजीत भगत के रायपुर के विधायक कॉलोनी स्थित निजी आवास सरगुजा कुटीर पर भी आयकर विभाग की कार्रवाई चल रही है। करीब दो एकड़ में बंगला, मंदिर, गार्डन और दफ्तर है। यहां सुबह से ही IT की टीम दस्तावेजों को खंगाल रही है। छापे के बाद अमरजीत भगत की तबीयत भी बिगड़ गई है। उनके फैमिली डॉक्टर निवास पर पहुंचे और उन्हें धूप में बैठने की सलाह दी है।

बिल्डर अजय चौहान के रामनगर स्थित ऑफिस पर भी दबिश।

बिल्डर अजय चौहान के रामनगर स्थित ऑफिस पर भी दबिश।

रायपुर में भी कई कारोबारियों पर एक्शन

वहीं रायपुर के राजीव नगर स्थित चंद्रभान शेरवानी समेत लॉ विस्टा सोसाइटी में कारोबारी अमर होरा के घर पर IT की टीम ने दबिश दी है। तेलीबांधा स्थित संदीप जैन और पप्पू बंसल के ठिकानों पर भी रेड पड़ी है। भिलाई और रायपुर में पूर्व मंत्रियों के करीबियों के यहां IT विभाग जांच कर रहा है। संभावना है कि इन पूर्व मंत्रियों का पैसा इन करीबियों के घर में रखा हुआ है।

पप्पू बंसल पूर्व सीएम भूपेश बघेल के करीबी और उनके बेटे चैतन्य बघेल के रियल स्टेट कारोबार में पाटर्नर बताए जा रहे हैं।

गरीब जनता के राशन की आह है- विजय शर्मा
प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर डिप्टी सीएम विजय शर्मा ने कहा कि गरीब जनता के राशन की आह है। प्रतिशोध तो जनता ने लिया था, सरकार उसमें कुछ नहीं कहेगी।

भिलाई के बिल्डर अजय चौहान के घर IT का छापा।

भिलाई के बिल्डर अजय चौहान के घर IT का छापा।

अमरजीत भगत ने घोषित की थी 7.55 करोड़ की संपत्ति
2023 में हुए विधानसभा चुनाव में अमरजीत भगत ने अपने परिवार की संपत्ति 7.55 करोड़ रुपये घोषित की थी। अमरजीत भगत पांच साल मंत्री रहे। उनकी चल संपत्ति वर्ष 2018 के घोषणापत्र की तुलना में लगभग यथावत बताई गई थी। है। उन्होंने 8.45 लाख कैश, बैंकों में जमा राशि, बीमा, सोने-चांदी के जेवर और एक वाहन सहित अपनी चल संपत्ति 52 लाख 20 हजार 82 रुपये घोषित की है। वर्ष 2018 में उन्होंने 72 लाख रुपए की चल संपत्ति घोषित की थी।

पूर्व मंत्री अमरजीत भगत ईडी जांच के दायरे में भी आए।

पूर्व मंत्री अमरजीत भगत ईडी जांच के दायरे में भी आए।

वहीं, उनकी उद्यमी पत्नी कौशल्या भगत की चल संपत्ति में 8.15 लाख रुपए कैश सहित बैंक, बीमा, सोने-चांदी के जेवर सहित कुल चल संपत्ति एक करोड़ 14 लाख रुपए बताई गई है। इसमें उनके स्वामित्व की पाइप फैक्ट्री शिव शक्ति इंडस्ट्रीज में निवेश 66.91 लाख रुपए शामिल है। साल 2018 में कौशल्या भगत के नाम चल संपत्ति 94.11 लाख रुपए घोषित की गई थी।

घोषणापत्र के मुताबिक पिछले पांच सालों में अमरजीत भगत की पत्नी कौशल्या भगत की अचल संपत्ति में भी इजाफा हुआ है। साल 2018 में अमरजीत भगत ने पत्नी के नाम एक करोड़ 59 लाख रुपए की अचल संपत्ति घोषित की थी। पांच वर्षों में पत्नी की अचल संपत्ति बढ़कर दो करोड़ 87 लाख 13 हजार रुपए हो गई है। उनकी पत्नी कौशल्या भगत के नाम मैनपाट, बतौली, अंबिकापुर सहित आसपास के क्षेत्र में नई कृषि भूमि 2019 और बाद के वर्षों में अंबिकापुर, सीतापुर समेत कई जगहों पर व्यवसायिक भूमि खरीदी गई।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular