Saturday, July 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाChhattisgarh: कुम्हारी फ्लाईओवर ब्रिज से गिरी कार और बाइक.. शादी से लौट...

Chhattisgarh: कुम्हारी फ्लाईओवर ब्रिज से गिरी कार और बाइक.. शादी से लौट रहे पति-पत्नी की मौत, बेटी की हालत गंभीर; कोई बैरिकेड नहीं, अधूरे ब्रिज पर चढ़े वाहन

Durg: दुर्ग जिले में कुम्हारी फ्लाईओवर पर बड़ा हादसा हो गया। कंपनी की लापरवाही के चलते निर्माणाधीन ब्रिज से बाइक और कार नीचे गिर गए। हादसे में मोटर साइकिल पर सवार पति-पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उनकी बेटी की हालत गंभीर है। कार का एयर बैग खुल जाने से चालक सुरक्षित है। पुलिस मामला दर्ज कर कार्रवाई कर रही है।

पुलिस के मुताबिक घटना शुक्रवार देर रात की है। कुम्हारी फ्लाईओवर ब्रिज अभी अंडर कंस्ट्रक्शन है। बढ़ते ट्रैफिक के कारण ब्रिज के एक साइड को हल्के वाहनों के लिए खोला गया है और दूसरे साइड में काम चल रहा है। निर्माण कंपनी ने निर्माणाधीन दूसरी रोड में वाहन जाने से रोकने के लिए बेरिकेड्स नहीं लगाए हैं। रात में बाइक सवार ब्रिज की रॉन्ग साइड वाली रोड में चढ़ गए। अचानक 48 नंबर पिलर के बाद ब्रिज खत्म हो गया और बाइक चालक सीधे नीचे जा गिरे। हादसे के बाद बाइक चालक 48 नंबर पिलर में ही अटक गया। उसकी पत्नी और बेटी नीचे जा गिरे। दुर्घटना में पति-पत्नी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। बेटी को गंभीर चोटें आई हैं।

48 नंबर पिलर के पास से ही नीचे गिरी कार
बाइक सवार के ब्रिज से नीचे गिरने के कुछ देर बात ही एक कार तेजी से आई और उसी जगह नीचे सड़क पर जा गिरी। गनीमत ये रही कि कार का एयर बैग खुल गया ड्राइवर को कुछ नहीं हुआ। उसे मामूली चोटें आई हैं। अस्पताल में उसका इलाज जारी है।

ब्रिज से लटका बाइक सवार का शव

ब्रिज से लटका बाइक सवार का शव

पुलिस ने दर्ज किया मामला
कुम्हारी पुलिस के मुताबिक ब्रिज अभी अधूरा है। इसके बाद भी वहां न तो कोई बैरिकेड्स लगाए गए हैं और न डायवर्सन किया गया है। इससे लोग अधूरे ब्रिज में जा रहे हैं। ठंड में कोहरे के चलते अधूरा ब्रिज दिखाई नहीं दे रहा और हादसे बढ़ रहे हैं। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

ब्रिज से नीचे गिरी बाइक

ब्रिज से नीचे गिरी बाइक

शादी से लौट रहे थे बाइक सवार

बताया जा रहा है आजूराम देवांगन (45) अपनी पत्नी निर्मला देवांगन (40) और बेटी के साथ भिलाई से शादी समारोह में शामिल होकर शुक्रवार रात को रायपुर जा रहे थे। तभी कुम्हारी फ्लाईओवर पर ये हादसा हो गया है। घटना में पति-पत्नी की मौके पर मौत हो गई। बेटी की हालत नाजुक बनी हुई है। मृतक आजूराम देवांगन रायपुर के चंगोरा भाटा इलाके में रहते थे। वे सब्जी के व्यवसाय से जुड़े थे। तीन बेटियों में एक की मौत हुई है। दो बेटियां घर पर हैं। शुक्रवार को आजूराम अपनी पत्नी और एक बेटी के साथ शादी में शामिल होने भिलाई गए थे।

रोड जहां खत्म हो रही थी वहां नहीं थी बैरिकेडिंग

हादसा शुक्रवार रात करीब 10.30 बजे हुआ है। ब्रिज पर जो रोड अधूरा बना है। उधर वाहनों को जाने से रोकने के लिए किसी तरह की बैरिकेडिंग नहीं की गई है। शुरुआत में रोड बनी हुई लेकिन बीच में निर्माण नहीं हुआ है। बाइक सवार इस धोखे में ब्रिज पर सीधे उसी रोड पर आगे बढ़ गए। अंधेरा और कोई बेरिकेडिंग या इंडिकेशन नहीं होने से बाइक सीधे नीचे गिर गई। इस दुर्घटना के ठीक 3 घंटे बाद उसी जगह पर एक कार गिर गई। हादसे में एयर बैग खुलने से कार चालक की जान बच गई है। लेकिन बाइक सवार दो लोगों की मौत हो गई है।

दो हादसे के बाद भी नहीं पहुंची पुलिस

इस हादसे के बाद पुलिस की तैनाती पर सवाल उठ रहे हैं। बाइक के ब्रिज से गिरने के ठीक 3 घंटे बाद कार भी नीचे गिर जाती है लेकिन पुलिस वहां पर मौके पर नहीं पहुंचती। अगर बाइक हादसे के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंचती या वहां तैनात रहती तो कार ब्रिज से नहीं गिरती।

दूर से देखने में कंप्लीट दिखाई देता है ब्रिज

दूर से देखने में कंप्लीट दिखाई देता है ब्रिज

दूर से देखने में लगता है कंप्लीट हो गया है ब्रिज
49.26 करोड़ रुपए की लागत से बन रहा 800 मीटर लंबा कुम्हारी फ्लाईओवर 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है। ब्रिज की शुरूआती हिस्से को देखा जाए तो ऐसा लगता है कि काम पूरा कंप्लीट हो चुका है, लेकिन आगे एक साइड के ब्रिज में काम जारी है। ब्रिज निर्माणकर्ताओं की लापरवाही सामने आई है कि ब्रिज में इन्होंने कोई डिवाइडर या बैरिकेड्स नहीं लगाए हैं, जिससे वाहन उस तरफ न जा पाएं।

प्रदेश में ऐसे ही कुछ और हादसे हुए थे.. नीचे पढ़ें

बिलासपुर में 1 महीने पहले तेज रफ्तार कार बलौदा रोड पर अनियंत्रित होकर पुल से 20 फीट नीचे नाले में जा गिरी थी। कार सवार व्यवसायी कार समेत नाले के पानी में समा रहा था। हादसे के दौरान मौके पर मौजूद कुछ युवकों ने पानी में कूद कर कार सवार व्यापारी को बाहर निकाला। इसके बाद आसपास के ग्रामीणों की मदद से ट्रैक्टर से खींच कर कार को नाले से बाहर निकाला गया।

जानकारी के अनुसार जांजगीर-चांपा जिले के बलौदा में रहने वाले अमित मिश्रा व्यवसायी हैं। वे रविवार की सुबह किसी काम से बिलासपुर आए थे। यहां पर काम निपटाने के बाद दोपहर में अपनी कार से बलौदा लौट रहे थे। घटना दोपहर करीब 2 बजे की है। उनकी कार हिंडाडीह गांव के पास मोड़ पर अनियंत्रित होकर पुल से गिरी।

नाले में डूब रही थी कार

हादसे के बाद नाले में डूब रही थी कार। नाले में करीब तीन से चार फीट पानी था। कार के अंदर पानी घुस रहा था। बताया जा रहा है कि नाले में पानी ज्यादा होता तो गंभीर हादसा हो सकता था।

सेरीखेड़ी ओवरब्रिज में हादसा, 4 लोग घायल

रायपुर मे ये हादसा 9 महीने पहले हुआ था जब घूमने निकले स्कूली छात्रों की कार बेकाबू होकर सेरीखेड़ी ओवरब्रिज से नीचे गिर गई थी। कार रेलिंग तोड़कर कार हवा में 20 फीट ऊंचाई पर गई फिर खेत में जा गिरी। ऊंचाई और रफ्तार इतनी ज्यादा थी कि जमीन से टकराते ही कार का चक्का और कुछ अन्य पुरजे टूटकर अलग-अलग हो गए। एक छात्र तो कार से बाहर फेंका गया। उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। कार में सवार चार अन्य छात्र बुरी तरह से फंस गए थे। उन्हें बड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया था।

पुलिस ने बताया कि माना निवासी कारोबारी विश्वनाथ पॉल का 17 वर्षीय बेटा श्रीयंत्र पाल 11वीं में पढ़ाई कर रहा है। उसकी शनिवार को परीक्षा खत्म हुई। इस खुशी में उसने अपने साथी महावीर नगर निवासी आर्या देवांगन(17), अर्पित झा(17), प्रशांत झा(17) और अंकुश शोभवानी(16) के साथ नवा रायपुर घूमने निकला। कार श्रीयंत्र की थी। उसे चलाने नहीं आता था इसलिए वह अपने मामा रमनी हलधर उर्फ असीम को लेकर गया था। सुबह 6.30 बजे सभी श्रीयंत्र के घर इकट्ठा हुए। वहीं से नवा रायपुर के लिए निकले थे।

नवा रायपुर घूमते हुए वे सेरीखेड़ी ओवरब्रिज होकर वापस शहर आ रहे थे। ओवरब्रिज पर उनकी गाड़ी अनियंत्रित हो गई और रेलिंग को तोड़ते हुए हवा में उछली और दूर जाकर खेत में गिरी। कार जमीन पर तीन-चार बार पलटी। इस दौरान कार का एक दरवाजा खुल गया और अंकुश बाहर फेंका गया। बाकी छात्र कार में ही फंस गए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular