Thursday, February 22, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाChhattisgarh : ट्रेन में चूहों से परेशान यात्री, सामान्य कोच तो दूर...

Chhattisgarh : ट्रेन में चूहों से परेशान यात्री, सामान्य कोच तो दूर एसी बोगी में भी मचा रहें आतंक; बिजली बंद करते ही कुतर रहे बैग

RAIPUR: रायपुर-बिलासपुर और दुर्ग से चलने वाली 12 ट्रेनों में हर साल बारह लाख यानी एक लाख प्रति केवल चूहा मारने में खर्च किए जा रहे हैं। इसके बावजूद सामान्य कोच तो दूर एसी बोगी में भी चूहे यात्रियों को परेशान कर रहे हैं। यहां तक कि फर्स्ट एसी में भी रात में लाइट बंद करते ही चूहे यात्रियों के बैग कुतर रहे हैं। रविवार को पुरी-दुर्ग सुपर फास्ट एक्सप्रेस से रायपुर रहे कई यात्रियों के बैग को चूहों ने कुतर दिया।

ट्रेन के टीटीई और पेस्ट कंट्रोल के कर्मचारी से शिकायत करने पर दोनों ने जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया। एक नाराज यात्री ने दूसरा रास्ता न देखकर सोशल मीडिया में चूहों से कुतरे बैग की फोटो वायरल कर दी। रायपुर मंडल से 12 एक्सप्रेस ट्रेनें चलती हैं। रेलवे इन ट्रेनों में चूहे, चींटी और काकरोच मारने के लिए 36 लाख का तीन साल के लिए टेंडर दिया है।

रेलवे का दावा है कि ट्रेन छूटने से पहले सभी कोच में पेस्ट कंट्रोल के कर्मचारियों द्वारा कीटनाशक दवा का छिड़काव किया जाता है। हर कोच की सफाई के साथ छिड़काव किया जाना अनिवार्य है। दावा किया जाता है कि इसकी बाकायदा मॉनीटरिंग तक की जाती है। रेलवे के दावों के उलट ट्रेनों में चूहे अभी भी यात्रियों को परेशान कर रहे हैं। खासतौर पर फर्स्ट एसी कोच में यात्रियों के सामानों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

कांफ्रेंस में शामिल होने गए थे डाक्टर

ट्रेन में सफर कर रहे डॉ. कृष्ण कुमार साहू कांफ्रेंस में शामिल होने भुनेश्वर गए थे। रविवार को वे पूरी-दुर्ग एक्सप्रेस के एसी कोच एच-1 ए सीट क्रमांक 1,2,3 में सवार होकर रायपुर आ रहे थे। उनका सामान सीट के नीचे रखा हुआ था। जिसे चूहों ने कुतर दिया। बैग के भीतर रखे जरूरी कागजात को भी चूहों ने नुकसान पहुंचाया।

ऐसा उस कोच के कई यात्रियों के साथ हुआ। ट्रेन के टीटीई और पेस्ट कंट्रोल के कर्मचारियों ने कह दिया इसमें हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं। उसके बाद यात्री ने इसे सोशल मीडिया में वायरल कर अपनी परेशानी सामने लायी। डा. साहू ने बताया कि प्रथम श्रेणी का टिकट लेने के बाद जब चूहे और काकरोच परेशान कर रहे है तो जनरल और स्लीपर कोच की स्थिति क्या होगी।

  • Krishna Baloon
Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular