Tuesday, July 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: लॉज में पुलिस का छापा, जिस्मफरोशी का चल रहा था धंधा, मची...

छत्तीसगढ़: लॉज में पुलिस का छापा, जिस्मफरोशी का चल रहा था धंधा, मची अफरा-तफरी; 3 लड़कियों सहित 6 को संदिग्ध हालत में पकड़ा 

दुर्ग। भिलाई के पावर हाऊस में घनी आबादी के बीच मौजूद एक लॉज में मंगलवार की रात पुलिस ने छापामार कार्रवाई कर जिस्मफरोशी के धंधे का भांडाफोड़ किया है. यहां पुलिस ने 3 लड़कियों सहित 6 युवकों को संदिग्ध हालत में पाया, जिसके बाद पुलिस ने सभी को हिरासत लिया और थाने ले आई. इसके बाद पुलिस ने आज सभी को दुर्ग न्यायालय मे पेश कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा दिया है.

बता दें कि छावनी थाना पुलिस को भिलाई पावर हाऊस स्थित प्रभात लॉज में जिस्मफरोशी के धंधे के बारे में सूचना मिली, इसके बाद पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर दबिश दी, इस दौरान वहां अफरा-तफरी मच गई, सभी इधर-उधर भागने लगे लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने सभी को दबोच लिया. इस दौरान पुलिस ने दो स्थानीय और एक पश्चिम बंगाल की रहने वाली लड़की समेत 3 युवकों को हिरासत में लिया.

इन 6 लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस की पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ की प्रभात लॉज के संचालक ने जांजगीर के ग्राम पंचायत पेंडरी के रहने वाले निलेश वर्मा को संचालन के लिए लाॅज दिया हुआ है. मामले में पुलिस ने निलेश वर्मा, लॉज संचालक सुप्रभात शील, दुर्ग के गिरधारी नगर निवासी राजेन्द्र यादव, जामुल निवासी मंजु लहरे, सुपेला निवासी लक्ष्मी हलधर और ग्राम परसदा निवासी संगीता बंजारे को गिरफ्तार किया है.

CSP हरीश पाटिल ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस की कार्रवाई के दौरान प्रभात लॉज का संचालक प्रभात शील और राजेंद्र यादव के लिए लड़कियों को लाया गया था. मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है.

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular