Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: पुलिस चौकी में घुसकर आरक्षक से मारपीट.. जवान की गाड़ी में...

छत्तीसगढ़: पुलिस चौकी में घुसकर आरक्षक से मारपीट.. जवान की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की; दुकान बंद कराने और शराब पीने को लेकर हुआ था विवाद, सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

छत्तीसगढ़: सरगुजा जिले के नया बस स्टैंड चौकी में घुसकर कुछ बदमाशों ने बुधवार को जमकर उत्पात मचाया है। बदमाशों ने आरक्षक मंटू गुप्ता के साथ मारपीट भी की, जिसमें उन्हें मामूली चोट आई है। आरोपियों ने उनकी गाड़ी में भी तोड़फोड़ की है। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र की है। सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही है, ताकि आरोपियों की पहचान कर उन पर कार्रवाई की जा सके।

आरक्षक मंटू गुप्ता ने बताया कि बुधवार को विजयादशमी के मौके पर इलाके में भारी भीड़ थी। उन्हें सूचना मिली थी कि कुछ संदिग्ध लोग शराब पी रहे हैं। वहीं कई दुकानें भी तय वक्त के बाद खुली हुई हैं। जिस पर वे दुकान बंद कराने पहुंचे। दुकान के पास ही कुछ लोग उन्हें शराब पीते हुए मिले। जब उन्होंने ऐसा करने से मना किया, तो वे विवाद करने लगे। इसके थोड़ी देर बाद वही बदमाश कुछ और लोगों को लेकर चौकी में घुस आए और आरक्षक के साथ मारपीट कर उनकी गाड़ी तोड़ दी। जब तक वे कोतवाली थाने में फोन कर वहां से टीम को बुलाते, तब तक बदमाश घटना को अंजाम देकर फरार हो चुके थे। घटना रात 11 बजे के बाद की है।

पुलिस चौकी में घुसकर मारपीट।

पुलिस चौकी में घुसकर मारपीट।

बदमाशों के फरार हो जाने के बाद कोतवाली थाना पुलिस सूचना पर मौके पर पहुंची। फिलहाल बदमाशों की पहचान नहीं हो पाई है। जांच की जा रही है और आसपास के लोगों व दुकानदारों से पूछताछ की जा रही है। सबसे बड़ी बात तो ये है कि रात में बस स्टैंड चौकी में सिर्फ एक आरक्षक ही रहता है। ऊपर से नवरात्रि और दशहरे के मौके पर भी यहां पुलिस जवान नहीं बढ़ाए गए। इधर एक ही आरक्षक के ड्यूटी पर रहने से अपराधियों के हौसले बुलंद रहते हैं।

घटना के बाद मौके पर भीड़।

घटना के बाद मौके पर भीड़।

पुलिस जवानों से लगातार मारपीट के मामले

छत्तीसगढ़ में पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अभी 23 सितंबर को भी राजधानी रायपुर में एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट में पदस्थ आरक्षक दिलीप जांगड़े के साथ मारपीट की गई थी। वे अपनी टीम के साथ किसी मामले की जांच के लिए ओडिशा जा रहे थे। तभी तेलीबांधा थाना क्षेत्र में गौरा-गौरी चौक के पास गणेश पंडाल में हो रहे भंडारा में 15-20 लड़के एक युवक के साथ मारपीट करते दिखे थे। उन्होंने और उनकी टीम ने जब बीचबचाव की कोशिश की, तो आरोपियों ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया था। इस मामले में पुलिस ने आशीष कश्यप, द्वारिका कुर्रे, प्रेम कुर्रे, शुभम साहू, भूषण साहू, नानू यादव और हेमलाल साहू को गिरफ्तार कर लिया था।

महासमुंद में भी हुई थी घटना

वहीं 18 सितंबर को महासमुंद में भी साइबर सेल के आरक्षक पवन ठाकुर के साथ ड्यूटी के दौरान मारपीट का मामला सामने आया था। मामले में दोनों आरोपियों नेतराम साहू और देवकिशन देवांगन को गिरफ्तार कर लिया गया था। दोनों दैहानीभाठा बागबहरा के रहने वाले थे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular