Thursday, April 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़आसमां में उड़ने के लिए तैयार हैं गायत्री स्वसहायता समूह के सदस्य....

आसमां में उड़ने के लिए तैयार हैं गायत्री स्वसहायता समूह के सदस्य….

  • रीपां अंतर्गत फ्लाई एश से ईंट निर्माण कार्य ने बदल दी जिंदगी

सारंगढ़ बिलाईगढ़: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा गांवों में रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से रीपा की शुरूआत की गई। जिले के बरमकेला विकासखण्ड के ग्राम पंचायत कण्डोला के गायत्री स्वसहायता समूह ने बहुत कम समय में स्वरोजगार की दिशा में नया मुकाम पाया है। यहां के महिलाओं में जबरदस्त उत्साह और सफल उद्यमी बनने की ललक है। रीपा प्रोजेक्ट के आने से इन महिला समूह की महिलाओं को अपने भविष्य की चिंता से मुक्ति मिली है। अब ये महिलाएं उद्यमी के तौर पर उभर कर सामने आयी हैं।

 आसमां में उड़ने के लिए तैयार हैं गायत्री स्वसहायता समूह के सदस्य

फ्लाई एश र्से इंट निर्माण का सफल कारोबार
ग्राम कण्डोला के गायत्री स्व सहायता समूह की महिला ने बताया कि रीपा में उद्योग स्थापित करने से पहले वे दूसरे गांव जाकर मेहनत मजदूरी करते थे, जिससे वे अपना गुजारा मुश्किल से कर पाते थे। उन्हें हर रोज काम मिलने की अनिश्चितता रहती थी। राज्य सरकार द्वारा रीपा की शुरूआत की गई तो उन्हें इसमें रोजगार का अवसर दिखाई दिया। उन्होंने बैंक से 06 लाख रुपये ऋण लेकर पलाईएश से ईंट बनाने की मशीन खरीदी की। कच्चे माल हेतु कलस्टर से ऋण प्राप्त किया। इस प्रकार उन्होंने अपना उद्यम की शुरूआत की। उनकी मेहनत रंग लाई और वे 27 हजार 800 नग ईंट का निर्माण कर 25 हजार बिक्री किए हैं। राज्य सरकार के रीपा से वे स्थाई रोजगार प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular