Thursday, July 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: छत्तीसगढ़ में 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में सामूहिक नकल.. केंद्राध्यक्ष...

BCC News 24: छत्तीसगढ़ में 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में सामूहिक नकल.. केंद्राध्यक्ष और स्कूल प्रबंधन को फटकार, नोटिस जारी, महिला टीचर बाकायदा ब्लैक बोर्ड पर आंसर लिखकर करा रही थी नक़ल, DEO ने रंगेहाथ पकड़ा, टीचर की तलाशी में चिट भी मिली

अंबिकापुर: छत्तीसगढ़ में चल रही 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में इस बार सभी प्राइवेट स्कूलों को भी सेंटर बनाने की छूट दी गई है। साथ ही सेल्फ सेंटर बनाए गए हैं। इसके बाद से नकल माफिया के हौसले बुलंद हैं। मनमानी इस कदर बढ़ गई है कि स्कूलों में बाकायदा ब्लैक बोर्ड पर आंसर लिखकर सामूहिक नकल कराई जा रही है। अंबिकापुर जिले के दो स्कूलों में ऐसी ही नकल कराते शिक्षक पकड़े गए हैं। खास बात यह है कि प्रदेश में पहली बार टीचर तक की तलाशी ली गई और उनसे चिट बरामद हुई है।

कोरोना संक्रमण के दौर से निकलने के बाद पहली बार प्रदेश में ऑफलाइन परीक्षाएं हो रही हैं। ऐसे में सरगुजा के सीतापुर ब्लॉक के इंदिरा गांधी मेमोरियल हायर सेकंडरी और क्रिश्चियन हायर सेकंडरी स्कूल को भी सेंटर बनाया गया है। शिक्षा विभाग को दोनों स्कूलों में नकल कराए जाने की सूचना मिली थी। इस पर DEO संजय गुहे की टीम ने क्रिश्चियन हायर सेकंडरी स्कूल में दबिश दी। वहां टीचर शीतल अग्रवाल सामूहिक नकल कराते मिली।

केंद्राध्यक्ष और स्कूल प्रबंधन को फटकार, नोटिस जारी
इस पर महिला टीचर की जांच टीम में शामिल पर्यवेक्षकों ने तलाशी ली तो उनके पास से तमाम चिट बरामद हुई। अफसरों ने बताया कि जांच के दौरान शिक्षकों ने लिखित रूप से देते हुए माना है कि उन्होंने ब्लैक-बोर्ड पर लिखकर बच्चों को सामूहिक रूप से नकल कराई है। वहीं DEO की टीम ने इंदिरा गांधी मेमोरियल स्कूल में भी सामूहिक रूप से नकल करवाते मिलने पर केंद्राध्यक्ष और प्रबंधन को फटकार लगाई।

परीक्षा के दौरान विषय विशेष के टीचर की ड्यूटी लगाई गई
सीतापुर विकास खंड शिक्षा अधिकारी मिथलेश सिंह सेंगर ने बताया कि छात्रों और केंद्राध्यक्ष समेत स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग ने इस बात की भी पुष्टि की है कि ज्यादातर प्राइवेट स्कूलों में विषय विशेष के शिक्षकों की ड्यूटी परीक्षा के दौरान लगाई गई है। अगर ऐसे ही औचक निरीक्षण जिले के अन्य स्कूलों में भी हो तो नकल को पकड़ा जा सकता है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular