Sunday, March 3, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: राज्य भर के अस्थि रोग विशेषज्ञों के सम्मेलन में कई विषयों...

कोरबा: राज्य भर के अस्थि रोग विशेषज्ञों के सम्मेलन में कई विषयों पर हुआ मंथन…

  • नि:शुल्क शिविर के साथ 23वें राज्य स्तरीय सम्मेलन का हुआ समापन

कोरबा (BCC NEWS 24): कोरबा-चाम्पा मार्ग पर उरगा स्थित होटल रिलेक्स-इन में राज्य भर के अनुभवी और वरिष्ठ अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों ने रोग और उपचार से जुड़े कई विविध पहलुओं पर मंथन किया। राज्य स्तरीय 23 वां हड्डी रोग सम्मेलन एवं स्वास्थ्य परीक्षण शिविर 2024 का शुभारंभ मुख्य अतिथि इंडियन ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के सचिव नवीन ठक्कर, एम्स रायपुर के डॉ. अजय सिंह, आयोजन समिति के संरक्षक मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डीन डॉ. ए. मेश्राम, छत्तीसगढ़ ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. आलोक अग्रवाल और सचिव डॉ. विपिन जैन, कोरबा सीएमएचओ एस.एन. केसरी ने फीता काटकर किया। छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों के प्रसिद्ध अस्थिरोग विशेषज्ञ उरगा स्थित होटल रिलेक्स-इन में एकत्र रहे।

आयोजन अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र साहू व सचिव डॉ. शोभराज चंदानी की देखरेख में संपूर्ण आयोजन सम्पन्न हुआ। सम्मेलन में अस्थि संबंधित रोगों का उपचार के विषय पर 19 जनवरी को चिकित्सा विशेषज्ञ मंथन (सी एम ई) किया गया। प्रमुख तौर पर आर्थोपेडिक्स में स्टेम सेल थेरेपी पर चर्चा हुई। स्टेम सेल थेरेपी एक अभिनव चिकित्सीय दृष्टिकोण है जो स्टेम सेल के अद्वितीय गुणों का उपयोग करता है। इस सम्मेलन में अनुभवी और विशेषज्ञ डॉक्टरों ने स्टेम सेल थेरेपी की नई तकनीकों के बारे में चर्चा कर कई पहलुओं को जाना। 20 जनवरी को उद्घाटन किया गया जिसमे विभिन्न बीमारियों और आर्थोपेडिक सर्जरी की उन्नत तकनीकों पर सम्मेलन में मंथन और विमर्श किया गया। आर्थोपेडिक परीक्षण और मूल्यांकन शिविर के दूसरे दिन आयोजित सेमिनार में लगभग 90 डॉक्टरों ने विभिन्न बीमारियों और आर्थोपेडिक सर्जरी की उन्नत तकनीकों और तरीकों के बारे में चर्चा का अनुभव भी साझा किए। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर प्रचलित और संक्रामक बीमारियों और उनके उपचार के तौर-तरीकों पर भी चर्चा की गई।

सम्मेलन के अंतिम दिवस 21 जनवरी रविवार को इंडियन ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के सचिव ने डॉ. नवीन ठक्कर ने आर्थोपेडिक्स और स्वास्थ्य मूल्यांकन (चिकित्सा) शिविर में जटिल मामलों और सर्जरी के बारे में चर्चा कर जानकारी दी। कॉन्फ्रेंस में वरिष्ठ डॉक्टरों ने ऑर्थोपेडिक विभाग में होने वाले विभिन्न जटिल मामलों और सर्जरी के बारे में जानकारी साझा किया। कॉन्फ्रेंस में इस बात पर भी चर्चा हुई कि भविष्य में स्वास्थ्य सेवाओं और इलाज व्यवस्था को कैसे बेहतर बनाया जाए और सर्जरी में आने वाली समस्याओं पर भी विचार-विमर्श किया गया। उपस्थित चिकित्सा विशेषज्ञों को प्रमाण पत्र दिए गए। साथ ही राज्य भर से पहुंचे सभी डॉक्टरों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

नि:शुल्क शिविर में लोगों ने लिया लाभ

सम्मेलन के अंतिम दिवस रविवार को नि:शुल्क अस्थि रोग जांच शिविर का आयोजन कर बड़ी संख्या में आये लोगों को परामर्श, परीक्षण आदि से लाभान्वित किया गया। सेमिनार में आयोजन समिति के संरक्षक मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डीन डॉ. ए मेश्राम, छत्तीसगढ़ ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. आलोक अग्रवाल और सचिव डॉ. विपिन जैन, डॉ. एस.एन. केसरी, डॉ. आर.के थवाईत, वैज्ञानिक समिति में डॉ. डी.के. श्रीवास्तव, डॉ. सुरजीत सिंह, स्मारिका समिति में डॉ. शतदल नाथ, डॉ. विवेक सिन्हा, डॉ. शिव प्रसाद, पंजीकरण समिति में डॉ. राहुल सिंह, डॉ. हिमांशु सहित अन्य का सहयोग और मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular