Monday, June 17, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: कलेक्टर ने धान खरीदी कार्य में सुचारू व्यवस्था बनाए रखने हेतु...

कोरबा: कलेक्टर ने धान खरीदी कार्य में सुचारू व्यवस्था बनाए रखने हेतु अधिकारियों की ली बैठक…

  • समितियों में उपार्जित की जा रही धान की गुणवत्ता, धान उठाव एवं चावल जमा की हुई विस्तृत समीक्षा

कोरबा (BCC NEWS 24): कलेक्टर श्री अजीत वसंत ने आज अपने कार्यालय कक्ष में खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के अंतर्गत जिले में समर्थन मूल्य पर सहकारी समितियों द्वारा उपार्जित की जा रही धान की गुणवत्ता, धान उठाव एवं चावल जमा की समीक्षा हेतु अधिकारियों की बैठक ली। इस अवसर पर जिला खाद्य अधिकारी श्री जितेंन्द्र कुमार, जिला विपणन अधिकारी श्रीमती जान्हवी जिल्हरे सहित उप पंजीयक सहकारी संस्थान, जिला प्रबंधक नान एवं नोडल अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक उपस्थित थे।

कलेक्टर ने धान खरीदी की सुचारू व्यवस्था हेतु सभी केंद्र में बनाई गई निगरानी समिति के नामांकित प्रतिनिधि को प्रत्येक कार्य दिवस में उपस्थित होकर व्यवस्थित तरीके से धान खरीदी कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों से खरीदी केन्द्रांे की जांच एवं उपलब्ध धान व  बारदाना का प्रति सप्ताह सत्यापन करने की बात कही। साथ ही नियुक्त जांच दल द्वारा आगामी धान उपार्जन अवधि तक धान बिचौलियों की पहचान कर निरंतर कार्यवाही जारी रखने के लिए कहा। कलेक्टर ने सहकारिता निरीक्षकों को प्रतिदिन कम से कम 03 धान खरीदी केन्द्रो का निरीक्षण करने एवं पंजीयक सहकारी संस्थान को प्रतिदिन जांच किए गए केन्द्रों की जानकारी से अवगत कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने कृषकों द्वारा मोबाइल ऐप एवं समितियों के माध्यम से कटवाए गए टोकन के अनुसार किसान के घर/फड़ में उपलब्ध धान का भौतिक सत्यापन उपार्जन केन्द्र के नोडल अधिकारी या निगरानी समिति के सदस्य के माध्यम से करने के लिये कहा। उन्होंने उप पंजीयक सहकारी संस्थान एवं नोडल अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक को यह कार्य सुनिश्चित कराने के लिए कहा। साथ ही खरीदी केन्द्रों के प्रभारी से धान के टोकन जारी करने के पूर्व वास्तविक उपज का परीक्षण करने की बात कही तथा नमी की जांच करने के लिए कहा। जिससे धान का सही वजन का पालन करते हुए गुणवत्तायुक्त धान खरीदी किया जाए। उन्होंने गुणवत्तायुक्त धान खरीदी नही करने वाले समिति प्रभारी पर सख्त कार्यवाही करने हेतु उप पंजीयक सहकारी संस्थान को निर्देशित किया।

कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों द्वारा उपार्जित धान के शीघ्र उठाव हेतु उचित व्यवस्था के लिए प्रतिदिन खरीदी किए गए धान की स्टेकिंग, केंद्रों में पर्याप्त हमाल की व्यवस्था, धान की सुरक्षा इत्यादि के संबंध में निर्देश नोडल अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक को दिए। उन्होंने जिला विपणन अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि उपार्जित धान के उठाव हेतु जारी डी.ओ. के आधार पर जिन मिलर्स द्वारा धान उठाव निर्धारित दिवस में नही किया जा रहा है, उन पर कार्यवाही करते हुए तत्काल अतिरिक्त वाहन लगाकर धान का उठाव करावाएं।

इस दौरान कलेक्टर ने डीएम नॉन को गुणवत्ता युक्त चावल उपार्जन करने के सख्त निर्देश दिए। साथ ही चावल की गुणवत्ता खराब होने की शिकायत मिलने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए कहा। बैठक में कलेक्टर को खाद्य अधिकारी ने बताया कि जिले में अनुविभागीय अधिकारी के नेतृत्व में अनुविभागवार उडनदस्ता दल का गठन किया गया है। साथ ही सभी धान खरीदी में एक-एक नोडल अधिकारी एवं प्रत्येक केन्द्र के लिए निगरानी समिति भी बनाई गई है। अब तक जिले में कोचियों/बिचौलियों के अवैध धान के 30 प्रकरणों में 1398.60 क्विंटल धान जब्त किया गया है।

उन्होंने बताया कि जिले में आज दिनांक तक अनुमानित लक्ष्य 2,57,424.00 मीट्रिक टन के विरूद्ध 1,46,021.48 मीट्रिक टन धान खरीदी की जा चुकी है। साथ ही समस्त मिलर्स को उपार्जित धान का उठाव हेतु डी.ओ. जारी हो चुका है। जिसके अंतर्गत 1,00,398.00 मीट्रिक टन धान का उठाव किया जा चुका है। समिति में शेष धान 45,623.00 मीट्रिक टन के उठाव हेतु जिला विपणन अधिकारी को निर्देशित किया गया है। साथ ही जिले में किसी भी समिति में डी.ओ. जारी हेतु धान बफर लिमिट से अधिक नही है एवं उठाव कार्य तेजी से जारी है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular