Saturday, June 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से लोगों को मिल रही है...

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से लोगों को मिल रही है बेहतर स्वास्थ्य सुविधा…

गरियाबंद: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के लोगों के प्रति संवेदनशील सोच से आज प्रदेश के हर वर्ग के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही है। प्रदेश में लोगों को घर के नजदीक ही  निःशुल्क और उत्तम स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने  के लिए छत्तीसगढ़ शासन लगातार प्रयासरत है।

शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों के लिए राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की शुरूआत की गई है। जिसकेे माध्यम से लोगों को घर के नज़दीक ही बेहतर और निःशुल्क इलाज व लैब टेस्ट की सुविधा मिल रही है। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत गरियाबंद जिले में 143 स्थानों में कैम्प लगाकर अब तक 10 हजार 690 लोगों का उपचार कर 9 हजार 610 मरीज़ों को निःशुल्क दवाई वितरण किया गया है। जिसमें जिले के सभी 04 नगरीय निकायों में 2 हजार 958 लोगों का निःशुल्क लैब टेस्ट किया गया है। जिसमें नगरपालिका परिषद गरियाबंद में 39 स्थानों में कैम्प लगाकर 2 हजार 687  मरीजों का उपचार कर 2 हजार 479 मरीजों को निःशुल्क दवाई वितरण किया गया व 757 मरीजों का स्वास्थ्य जांच किया गया है। इसी प्रकार नगर पंचायत राजिम में 37 स्थानों पर कैम्प लगाकर 3 हजार 176 मरीजों का उपचार कर 2 हजार 951 मरीजों को निःशुल्क दवाई वितरण किया गया व 788 मरीजों का स्वास्थ्य जांच किया गया। नगर पंचायत फिंगेश्वर में 36 स्थानों पर कैम्प लगाकर 2 हजार 908 मरीजों का उपचार कर 2 हजार 655 मरीजों को निःशुल्क दवाई वितरण व 804 मरीजों का स्वास्थ्य जांच किया गया। नगर पंचायत छुरा में 31 स्थानों पर कैम्प लगाकर 1 हजार 919 मरीजों का उपचार कर 1525 मरीजों को निःशुल्क दवाई वितरण तथा 609 मरीजों का स्वास्थ्य जांच किया गया है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों को घर के नज़दीक ही उत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना 01 नवंबर 2020 से शुरू की गई थी। जिसके पहले चरण में सभी 14 नगर निगमों में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट (एमएमयू) एम्बुलेंसों के जरिए डॉक्टर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का विस्तार नगर निगमों के बाद अब नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों तक किया गया है। नागरिकों को मोबाइल मेडिकल यूनिट के द्वारा कैम्प के माध्यम से निःशुल्क परामर्श, उपचार, दवाइयां और लैब टेस्ट की सुविधा प्रदान की जा रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular