Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: कूलर में छिपाए गए थे पिस्टल, कट्‌टा और कारतूस.. बिलासपुर गोलीकांड...

छत्तीसगढ़: कूलर में छिपाए गए थे पिस्टल, कट्‌टा और कारतूस.. बिलासपुर गोलीकांड के बाद हथियारों का जखीरा बरामद, यूपी-बिहार से लाए गए, 4 गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: बिलासपुर में गोलीकांड के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने अवैध हथियारों का जखीरा बरामद कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एक युवक अपने घर के कूलर में दो देसी पिस्टल और कारतूस छिपाकर रखा था। उसे पकड़ने के बाद पुलिस ने उसके तीन साथियों को भी दबोच लिया। उनके पास से दो पिस्टल, 12 बोर का दो कट्‌टा, दो एयरगन और आठ जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। पुलिस की एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट (ACCU) की टीम ने यह कार्रवाई की है।

SSP पारुल माथुर ने बताया कि पचपेड़ी में किराना व्यापारी लड़के की गोली मारकर हत्या करने के बाद सभी थानेदारों के साथ ही ACCU की टीम को अवैध हथियार रखने वालों की जानकारी जुटाकर उनकी धरपकड़ करने के निर्देश दिए गए थे। इस दौरान ACCU की टीम को सूचना मिली कि तोरवा क्षेत्र के लालखदान निवासी जय सिंह चौहान के पास देसी पिस्टल है, जिसे लेकर घूमते देखा गया है। जानकारी मिलते ही ACCU प्रभारी हरविंदर सिंह और उनकी टीम ने जयसिंह चौहान को पकड़कर पूछताछ की। तब पता चला कि वह अपने घर के कूलर में एक देसी पिस्टल, एक 315 बोर का देसी पिस्टल, एयरगन और कुछ जिंदा कारतूस रखा है, जिसे पुलिस ने जब्त किया।

आरोपी युवकों से जब्त अवैध हथियार।

आरोपी युवकों से जब्त अवैध हथियार।

पूछताछ में खोला साथियों का राज
पुलिस की पूछताछ में उसने अपने तीन साथियों को भी देसी पिस्टल और कट्‌टा उपलब्ध कराने की जानकारी दी। पुलिस ने तीनों युवकों को भी दबोच लिया। पूछताछ में इन युवकों से भी पुलिस ने देसी कट्‌टा और जिंदा कारतूस बरामद किया। युवक कट्टा और पिस्टल दिखाकर डराते धमकाते रहते हैं।

दो गुटों की वर्चस्व की लड़ाई में मंगाए जा रहे थे हथियार
SSP पारुल माथुर ने बताया कि लालखदान में पिछले लंबे समय से दो गुटों के बीच वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। एक-दूसरे गुट के लोग अपने गुर्गे तैयार करते रहे हैं और उन्हें अवैध हथियार तक उपलब्ध कराते हैं। पुलिस को जानकारी मिली थी कि कुछ लोग बड़ी वारदात को अंजाम देने के इरादे से बाहर से हथियार मंगवाकर अपने पास रख रहे थे। अभी इस केस की जांच जारी है और आगे भी अवैध हथियार मिलने की उम्मीद है।

यूपी-बिहार से लाकर रखा था हथियार
पकड़े गए आरोपी जयसिंह चौहान ने पुलिस को बताया कि वह उत्तरप्रदेश और बिहार से देसी पिस्टल और कट्‌टा खरीदकर लाया था। उसने यह भी बताया कि राहुल तिवारी और उमेश श्रीवास के पास भी हथियार है और कई बार दोनों उससे जिंदा कारतूस मांग चुके हैं। पुलिस ने दोनों को पकड़ा तो उन्होंने अंकित वर्मा के पास अवैध हथियार होने की जानकारी दी। पूछताछ में यह भी पता चला है कि सभी युवक उत्तरप्रदेश और बिहार से 20 से 30 हजार रुपए में हथियार खरीदकर लाए थे।

हथियार लेकर घूमता था आरोपी युवक
ACCU प्रभारी हरविंदर सिंह ने बताया कि पचपेड़ी क्षेत्र में हुए गोलीकांड के बाद आसपास के क्षेत्र की पड़ताल की जा रही थी। इस दौरान पूछताछ में पता चला कि शहर में कुछ युवकों के पास हथियार है। पिछले कुछ दिनों से नशे की हालत में एक युवक को पिस्टल लेकर घूमता देखा गया था। इसी सूचना के आधार पर पुलिस ने जानकारी जुटाई गई। फिर लालखदान में दबिश देकर जयसिंह चौहान को पकड़ा लिया गया। इसके बाद तीन अन्य आरोपी भी दबोच लिए गए।

पकड़े गए आरोपी और हथियार

  • राहुल तिवारी पिता शैलेष (28) निवासी लालखदान थाना तोरवा, देशी पिस्टल, 3 जिंदा कारतूस व खाली मैग्जीन।
  • अंकित वर्मा उर्फ चिराई पिता रघुनंदन (33) निवासी विष्णु चौक तिफरा थाना सिरगिट्टी, पिस्टल, 3 जिंदा राउंड, एयरगन।
  • जयसिंह चौहान पिता कुंजू सिंह (27 ) निवासी लालखदान थाना तोरवा, 315 बोर देशी पिस्टल, एक राउंड, 12 बोर देशी पिस्टल, एयरगन।
  • उमेश श्रीवास उर्फ भोलू पिता रामखिलावन (27) निवासी चौहान मोहल्ला लालखदान थाना तोरवा, 315 बोर देशी कट्टा व एक जिंदा राउंड।
17 साल के लड़के को मारी थी गोली।

17 साल के लड़के को मारी थी गोली।

पचपेड़ी क्षेत्र में नाबालिग की गोली मारकर हुई थी हत्या

पचपेड़ी इलाके में बाइक सवार बदमाशों ने 17 साल के लड़के की गोली मारकर हत्या की थी। हमलावर युवक पुरानी रंजिश के चलते बेटे के साथ ही पिता को भी मौत के घाट उतारने के प्लानिंग से पहुंचे थे। डबल मर्डर की वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने पिस्टल से दो बार फायरिंग भी किया। लेकिन, ऐन वक्त पर पिस्टल ने धोखा दे दिया और दूसरा राउंड पिस्टल में फंस गया, जिसके कारण मिस फायर हो गया और मृतक लड़के के पिता की जान बच गई। अब पुलिस ने हत्या की वारदात में शामिल तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को किया था गिरफ्तार।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को किया था गिरफ्तार।

पचपेड़ी क्षेत्र के मानिकचौरी निवासी मंगतूराम अजय (43) किराना दुकान चलाते हैं। घर में उसकी पत्नी सरोजनी (39) अनीश अजय (17) और नेहा अजय (12) रहते हैं। रविवार की रात करीब करीब 9 बजे गांव के ही दो बदमाश युवक भूपेंद्र पोर्ते और नंदू उर्फ नंदकिशोर साहू गुटखा लेने दुकान पहुंचे थे। मंगतूराम का बेटा अनीश उन्हें गुटखा देने के लिए निकला। इस दौरान पैसे देने से मना करने पर उनका झगड़ा शुरू हो गया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular