Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: पुरुष नसबंदी जागरूकता के लिए प्रचार-प्रसार रथ रवाना, अपर कलेक्टर विजेंद्र...

कोरबा: पुरुष नसबंदी जागरूकता के लिए प्रचार-प्रसार रथ रवाना, अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले ने दिखाई हरी झंडी…

  • चार दिसंबर तक चलेगा पुरुष नसबंदी पखवाड़ा
  • पुरुष नसबंदी कराने वाले हितग्राही को मिलेगा तीन हजार रुपए प्रोत्साहन राशि

कोरबा (BCC NEWS 24): अपर कलेक्टर श्री विजेंद्र पाटले ने मंगलवार को पुरुष नसबंदी जागरूकता के लिए प्रचार प्रसार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से परिवार नियोजन के तहत चार दिसंबर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। प्रचार- प्रसार रथ के द्वारा जिले के सभी विकासखण्डों में पुरूष नसबंदी को लेकर जागरूकता लाने प्रचार किया जाएगा। पुरुष नसबंदी कराने वाले हितग्राहियों को तीन हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। परिवार नियोजन के लिए पुरूष नसबंदी व अन्य माध्यमों के उपयोग को बढ़ावा देने के प्रयासों के क्रम में हर साल पुरूष नसबंदी पखवाड़ा मनाया जाता है। इसी कड़ी में 21 नवंबर से आगामी चार दिसंबर तक पुरुष नसबंदी पखवाडा मनाने का निर्णय लिया गया है। जिसमे इस वर्ष का थीम “अब पुरूष निभाएंगे जिम्मेदारी परिवार नियोजन को अपनाकर दिखाएंगे अपनी भागीदारी” है। इस तरह इस वर्ष के पुरूष नसबंदी पखवाडें का विषय परिवार नियोजन में पुरूषों की सक्रिय भागीदारी से है। इस दौरान सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी, डीपीएम डॉ. असरफ अंसारी सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

सीएमएचओ डॉ.एसएन केसरी ने बताया कि जिले में पुरूष नसबंदी को बढावा देने के उद्देश्य से पुरूष नसबंदी पखवाड़ा मनाया जा रहा है। यह पखवाड़ा दो चरणों में आयोजित किया जाएगा। प्रथम चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ता अपने क्षेत्र के योग्य लक्ष्य दंपतियों के पुरूषों से संपर्क कर, व्यक्तिगत चर्चा कर नसबंदी के फायदे बताएंगे। साथ हीे पुरूष नसबंदी से जुड़ी भ्रातियों और मिथकों को दूर करने आवश्यक सलाह भी देंगे। सीएमएचओ ने बताया कि परिवार नियोजन के स्थाई साधन अपनाने के मामले में पुरुष काफी पीछे रहते हैं जबकि पुरुष नसबंदी एक मामूली सी शल्य क्रिया है महिला नसबंदी के मुकाबले यहां कारगर भी है पुरुष नसबंदी में किसी प्रकार की कमजोरी नहीं होती है। सीएमएचओ ने जिले के लक्ष्य दंपतियों में जो पुरुष अपना परिवार पूर्ण कर चुके हैं उन्हें इस पखवाड़े में पुरुष नसबंदी करा कर अपने परिवार को खुशहाल बनाने की अपील की। उन्होंने बताया की जिले के ग्रामों में महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता,ऑंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा मितानिन के द्वारा सास-बहु सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। जिसमे परिवार कल्याण के अस्थाई व स्थाई साधनों के महत्व और लाभ के बारे में विस्तार से बताया जाएगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular