Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़रायपुर: गांव के हर घर में पोषण बाड़ी...

रायपुर: गांव के हर घर में पोषण बाड़ी…

  • बीजापुर, नैमेड़ नयापारा आंगनबाड़ी केंद्र के सभी बच्चे कुपोषण से बाहर हुए

रायपुर: मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की परिकल्पना साकार होने लगी है। जिला बीजापुर अंतर्गत एकीकृत महिला बाल विकास परियोजना बीजापुर सेक्टर के नयापारा नैमेड़ गांव के हर घर में पोषण बाड़ी बनाई तो केंद्र के सभी बच्चे कुपोषण से बाहर हुए। गांव के आंगनबाड़ी केंद्र में हरी साग सब्जियां लगाकर पोषण बाड़ी तैयार किया गया हैै। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कुपोषण को दूर करने के लिए हर घर में पोषण बाड़ी बनाने के लिए प्रोत्साहित भी कर रहे है। इसका साकारात्क परिणाम भी देखने को मिल रहा है।

बीजापुर, नैमेड़ नयापारा आंगनबाड़ी केंद्र के सभी बच्चे कुपोषण से बाहर हुए

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती ज्योति पटेल द्वारा पोषण बाड़ी की हरी साग सब्जी को गर्म भोजन बच्चों और महिलाओं को खिला रही है। ज्योति पटेल अपने सेक्टर सुपरवाईजर के साथ प्रत्येक हितग्राहियों के घर गृहभेंट करके पोषण बाड़ी बनाने और खान पान में हरी साग सब्जियों को शामिल करने प्रेरित भी करती है। आज बीजापुर के दूरस्थ अंचल गांव नैमेड़ नयापारा में प्रत्येक हितग्राही के घर में पोषण बाड़ी बनी हुई है। और नियमित अपने भोजन में हरी साग-सब्जियों का सेवन कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अंतर्गत मिलने वाले अंडा, मिलेट, चिक्की और दलिया का भी उपयोग कर रहे हैं। वर्तमान में एक भी कुपोषित बच्चे नहीं हैं। गांव को कुपोषण से मुक्त करने में आंगनबाड़ी सहायिका रामदुलारी का विशेष सहयोग रहता है।

अपने दिनचर्या में प्रतिदिन संतुलित आहार का सेवन करने से दिनभर शरीर और मन में ताजगी बनी रहती है। संतुलित आहार आपकी पोषण संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति भी करता है। भोजन में हरी साग-सब्जियां, फल-फूल, दूध-दही को शामिल करना चाहिए इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, कार्बाेहाइड्रेट, वसा खनिज आदि प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा महिला बाल विकास विभाग के माध्यम से बच्चों और महिलाओं को पौष्टिक आहार मिले इसके लिए घर घर में पोषण बाड़ी तैयार करवाई जा रही है। इसका लाभ परिवार के सभी सदस्यों को मिल रहा है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular