Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़रायपुर: प्रोजेक्ट वीरगाथा 3.0: छत्तीसगढ़ के स्कूलों में आजादी के दिवानों और...

रायपुर: प्रोजेक्ट वीरगाथा 3.0: छत्तीसगढ़ के स्कूलों में आजादी के दिवानों और वीर जवानों की गाथाओं पर होंगे कार्यक्रम…

  • कक्षा 3 से 12 वीं तक के विद्यार्थी लेंगे हिस्सा
  • राष्ट्रीय स्तर पर चयनित होंगे सुपर 100 विजेता 
  • प्रत्येक विजेता को मिलेगा 10 हजार रूपए की पुरस्कार राशि, पदक और रक्षा मंत्रालय का प्रमाण पत्र
  • राज्य स्तर पर 8 और जिला स्तर पर 4 विजेता होंगे सम्मानित

रायपुर: आजादी के 75 वें वर्ष गांठ के अवसर पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के सभी स्कूलों में देश के आजादी के दिवानों और सेना के वीरता पुरस्कार प्राप्त जवानों की गाथाओं पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। वीरगाथा प्रोजेक्ट 3.0 के तहत किए जाने वाले इन आयोजनों में शासकीय और अशासकीय स्कूलों के कक्षा 3 से 12 वीं तक के स्कूली बच्चें विभिन्न कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे।

प्रोजेक्ट वीरगाथा 3.0 में वीरता पुरस्कार प्राप्त करने वाले जवानों की जीवन से मिली सीख, वीरता पुरस्कार प्राप्त जवानों का देश के लिए सर्वोच्च बलिदान, मेरे सपनों में रानी लक्ष्मीबाई, प्रथम स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन, आजादी के आंदोलन में आदिवासियों का योगदान आदि विषयों रखें गए है। विद्यार्थी इन विषयों पर आधारित कविता, कहानी, पेटिंग, मल्टीमीडिया प्रस्तुति देंगे।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सभी स्कूलों को प्रस्तुति के पूर्व स्कूलों को Mygov पोर्टल पर प्रविष्टियां ऑनलाईन जमा होना शुरू हो चुका है। प्रविष्टियों के मामले में छत्तीसगढ़ अभी देश में चौथे स्थान पर है। छत्तीसगढ़ से 7979 प्रविष्टियों की जा चुकी हैं, इनमें शासकीय स्कूलों से 7638, निजी स्कूलों से 85 और सीबीएसई पाठयक्रम वाले स्कूलों से 256 प्रविष्टियां की जा चुकी हैं। सभी जिला शिक्षा अधिकारियों और जिला मिशन समन्वयकों को निर्देशित किया है कि सभी स्कूलों में कार्यक्रम आयोजित किए जाए और 15 सितम्बर के भीतर की समय सीमा में पोर्टल में एंट्री हो जाएं। छात्रों की ओर से स्कूल प्रविष्टियां जमा करेंगे फिर इन प्रविष्टियों का मूल्यांकन जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर किया जाएगा। विजेताओं का चयन कर उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा।

राष्ट्रीय स्तर पर सुपर 100 विजेता चयनित होंगे। यह चार श्रेणियों (कक्षा 3-5, 6-8, 9-10,11-12) में से 25 विजेता घोषित होंगे। प्रत्येक विजेता को 10 हजार रूपए की पुरस्कार राशि एक पदक और रक्षा मंत्रालय द्वारा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। भारत सरकार रक्षा मंत्रालय एवं शिक्षा मंत्रालय संयुक्त रूप से इन विजेताओं को पुरस्कृत करेगा। राज्य, संघ राज्य क्षेत्र स्तर के 8 विजेता (प्रत्येक श्रेणी से 2 विजेता) होंगे। सुपर 100 विजेता इसमें शामिल नही होंगे। संबंधित राज्य या केन्द्र शासित प्रदेश के विजेता वहां के प्रधान सचिव या सचिव शिक्षा द्वारा सम्मानित होंगे। जिला स्तर पर 4 विजेता (प्रत्येक श्रेणी से 1 विजेता) होगा। सुपर 100 व राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश के विजेता इसमें शामिल नहीं होंगे। जिला आयुक्त, जिला मजिस्ट्रेट, जिला उपायुक्त एवं जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा छात्रों को संयुक्त रूप से सम्मानित किया जाएगा।

राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा द्वारा सभी जिला नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि स्कूल Mygov पर 15 सितम्बर तक चार सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियां अपलोड करें। सभी स्कूलों को इस पोर्टल पर अनिवार्य रूप से प्रत्येक श्रेणी में शामिल हुए छात्रों की संख्या अपलोड करवाएं। इसके बाद 17 अक्टूबर तक कॉन्सेप्ट नोट के तहत दिए गए शीर्ष के अनुसार जिला नोडल अधिकारियों द्वारा प्रविष्टियों का जिला स्तरीय मूल्यांकन किया जाए।

जिला नोडल अधिकारी द्वारा पोर्टल के माध्यम से सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियां राज्य के नोडल अधिकारियों को भेंजी जाएं। 19 अक्टूबर से 10 नवम्बर तक राज्य नोडल अधिकारी द्वारा जिला नोडल अधिकारियों से प्राप्त प्रविष्टियों का मूल्यांकन किया जाए और पोर्टल के जरिए सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियां शिक्षा मंत्रालय (एमओई) को अग्रेषित की जाएं। 10 नवम्बर से 10 दिसम्बर तक शिक्षा मंत्रालय द्वारा गठित राष्ट्रीय स्तर समिति द्वारा राष्ट्रीय स्तर प्रविष्टियों का मूल्यांकन किया जाएगा। राष्ट्रीय स्तर समिति द्वारा 15 दिसम्बर तक शिक्षा मंत्रालय को परिणाम प्रेषित किए जाएंगे। शिक्षा मंत्रालय द्वारा 20 दिसम्बर तक रक्षा मंत्रालय (एमओडी) को परिणाम आगे भेंजे जाएंगे। 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular