Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: मरीज को रेफर किया, युवकों ने डॉक्टर को पीटा.. हादसे में...

CG: मरीज को रेफर किया, युवकों ने डॉक्टर को पीटा.. हादसे में घायल हुआ था नाबालिग; गुस्साए स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचे थाने, OPD किया बंद

छत्तीसगढ़: बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के शासकीय अस्पताल में शुक्रवार देर रात मरीज के दोस्त और परिचितों ने डॉक्टर के साथ जमकर मारपीट की। डॉ.सौरभ प्रधान के साथ हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इधर, अस्पताल के अन्य डॉक्टरों और स्टाफ ने घटना के विरोध में थाने पहुंच गए। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामला भाटापारा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार देर रात भाटापारा में हुए एक सड़क हादसे में 17 साल का आदि साहू घायल हो गया था। उसके साथ उसका दोस्त मोंटू ध्रुव (27 वर्ष) था। मोंटू उसे रात 12 बजे सिविल अस्पताल भाटापारा में लेकर आया था। आदि साहू की हालत को देखते हुए वहां डॉक्टर ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इससे उसका दोस्त आक्रोशित हो गया और डॉ.सौरभ प्रधान से मारपीट करने लगा। मारपीट में उसके 4-5 साथी भी शामिल थे।

विरोध करने थाने पहुंचे डॉक्टर और कर्मचारी।

विरोध करने थाने पहुंचे डॉक्टर और कर्मचारी।

बाद में वहां मौजूद स्टाफ ने डॉक्टर को युवकों से छुड़ाया। इसी बीच घटना का वीडियो किसी ने बना लिया था। शनिवार वो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। इधर शनिवार सुबह जब अन्य कर्मचारी और डॉक्टरों को घटना का पता चला तो वे भड़क गए। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और डॉक्टर ओपीडी बंद कर अस्पताल में सुरक्षा देने और आरोपी की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। सभी कर्मचारी और डॉक्टर बैनर-पोस्टर लेकर थाने पहुंचे। उन्होंने जमकर नारेबाजी की।

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी।

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी।

काफी हंगामे के बाद SDOP सिद्धार्थ बघेल मौके पर पहुंचे। उन्होंने चिकित्सा अधिकारी डॉ.राजेन्द्र माहेश्वरी को अस्पताल में मौजूद डॉक्टर्स और स्टाफ को पूरी सुरक्षा देने का आश्वासन दिया। वहीं एक आरोपी मोंटू ध्रुव को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी के आरोपियों की तलाश की जा रही है।

आरोपी की गिरफ्तारी के बाद धरना-प्रदर्शन पर बैठे डॉक्टर और कर्मचारी शांत हुए। एसडीओपी ने 2 दिनों के भीतर सभी व्यवस्थाएं पूरी करने का आश्वासन दिया है, जिसके बाद धरना खत्म कर दिया गया। वहीं घायल आदि साहू का इलाज बलौदाबाजार जिला अस्पताल में चल रहा है। कर्मचारियों के हंगामे की वजह से पूरे दिन अस्पताल आए मरीज भी परेशान होते रहे।

आरोपी मोंटू ध्रुव गिरफ्तार।

आरोपी मोंटू ध्रुव गिरफ्तार।

पीड़ित डॉक्टर सौरभ प्रधान ने कहा कि आरोपी के साथ उसके कई साथी थे। उन्होंने उनके साथ-साथ अस्पताल में मौजूद महिला स्टाफ और वार्ड ब्वॉय को भी जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि एक्सीडेंट में घायल हुए नाबालिग की गंभीर हालत को देखते हुए उन्होंने उसके बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर किया था, लेकिन उसके साथ आए लोग उनसे मारपीट करने लगे।

पीड़ित डॉक्टर सौरभ प्रधान।

पीड़ित डॉक्टर सौरभ प्रधान।

डॉक्टरों से पहले भी हुई हैं मारपीट की घटनाएं

इस साल मई में जशपुर जिले में भी डॉक्टर से मारपीट का मामला सामने आया था। 31 मई की रात पत्थलगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर विकास गर्ग के साथ मारपीट हुई थी। उस दिन वे आपातकालीन ड्यूटी पर तैनात थे और मरीजों का इलाज कर रहे थे। इसी दौरान सूरज सिंह ठाकुर एक मरीज को लेकर अस्पताल में पहुंचा था। उसने डॉक्टर विकास गर्ग पर दबाव डाला कि वो सबसे पहले उसके मरीज को देखे, जबकि डॉक्टर ने कहा था कि वे जिस मरीज को देख रहे हैं, उसका चेकअप होते ही उनके मरीज को भी देख लेंगे। बस थोड़ी देर रुकिए। बस इसी बात पर सूरज सिंह ठाकुर ने डॉक्टर के साथ गालीगलौज शुरू कर दी थी और उनके साथ मारपीट की थी। डॉक्टर को जान से मारने की धमकी भी दे डाली थी।

मुंगेली में भी डॉक्टर से हुई थी मारपीट

5 महीने पहले भी मुंगेली जिले में डॉक्टर दिनेश साहू के साथ मारपीट हुई थी। डॉक्टर पर समय पर इलाज नहीं करने का आरोप लगाते हुए युवती के परिजनों ने मारपीट की थी। मारपीट का वीडियो भी सामने आया था। दरअसल लोरमी की रहने वाली युवती अपना इलाज कराने के लिए 50 बिस्तर वाले मातृ-शिशु अस्पताल में गई थी। उसके शरीर में खुजली की वजह से काफी इन्फेक्शन हो गया था।

इसी बीच युवती और उसके परिजनों ने डॉक्टर पर इलाज में देरी का आरोप लगाते हुए मारपीट शुरू कर दी थी। इधर अस्पताल के स्टाफ ने भी मारपीट के विरोध में काम बंद कर दिया था। केवल इमरजेंसी सेवाएं चालू रखीं गई थीं। वहीं दूसरी तरफ युवती ने भी आरोप लगाया था कि डॉ. दिनेश साहू उसका इलाज नहीं कर रहे थे। काफी निवेदन करने पर भी वहीं माने। युवती ने उल्टा डॉक्टर पर ही उसके परिजनों को गाली देने का आरोप लगाया था।

शराब के नशे में डॉक्टर ने महिला को मारे थे थप्पड़

17 दिन पहले कोरबा जिले में शराब के नशे में एक डॉक्टर ने महिला को तमाचे जड़ दिए। BP लो होने पर महिला इलाज कराने आई थी। मगर डॉक्टर उसे थप्पड़ मारने लगा। बेट ने बार-बार इसका विरोध किया। इसके बावजूद वह नहीं माना और एक के बाद एक थप्पड़ जड़े। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो सामने आया है। वीडियो में डॉक्टर ये कहते भी दिखाई दे रहा है कि क्यों पी ली है रे इतना।

जानकारी के मुताबिक, गेरवानी निवासी सुखमती की तबीयत मंगलवार रात को बिगड़ गई थी। उसे BP लो होने की शिकायत थी। जिसके बाद उसके परिजन किसी तरह से उसे लेकर मेडिकल कॉलेज लेकर आए थे। उस दौरान रात के वक्त कैजुअल्टी ड्यूटी पर डॉ. गणेश कंवर मौजूद था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular