Sunday, May 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: सिंगर का शव कई टुकड़ों में मिला.. मामा ने फार्म हाउस...

छत्तीसगढ़: सिंगर का शव कई टुकड़ों में मिला.. मामा ने फार्म हाउस ले जाकर पहले पिलाई शराब फिर उतारा मौत के घाट

छत्तीसगढ़: भिलाई से 27 दिन पहले लापता हुए सिंगर नीलेश डेहरे का शव कई टुकड़ों में मिला है। उसकी इतनी बेहरहमी से हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसी के मामा और आदतन अपराधी मोंटू ने की है। मोंटू की निशानदेही पर पुलिस ने शिवनाथ नदी और महासमुंद रोड के जंगल से शव के अलग-अलग टुकड़े बरामद कर लिए हैं। पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं 4 आरोपी फरार हैं। दुर्ग पुलिस आज इस मामले का खुलासा करेगी।

जानकारी के नीलेश डेहरे पिता स्व. नरेंद्र डेहरा (23 साल) बेमेतरा जिले के सुरखी थाना क्षेत्र अंतर्गत डाढ़ी का रहने वाला था। वह कुछ महीने पहले ही स्मृति नगर क्षेत्र में किराए का मकान लेकर रह रहा था। नीलेश म्यूजिक का शौकीन था। भिलाई में करियर बनाने के लिए आया था और अपना एक म्यूजिक एल्बम भी लाने की तैयारी कर रहा था।

मृतक नीलेश की पुरानी फोटो।

मृतक नीलेश की पुरानी फोटो।

‘मोटिवेशन गैंग’ चलाते थे आरोपी, 15 गांव में थी दहशत

पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि इस मामले में चार आरोपी राजा, नईम, अभी और अभिषेक फरार हैं। नीलेश की लाश को राजा, भोजराम निषाद, वरुण सोनकर ने मनीष राव गायकवाड़ के घर ले जाकर काटा था। लाश के 10 अलग-अलग टुकड़े किए गए थे। जिसे शिवनाथ नदी और महासमुंद रोड के जंगल में फेंका गया था। पुलिस के मुताबिक नीलेश ने मोंटू की स्कूटी को 15 हजार में गिरवी रखा था। वरुण सोनकर से एल्बम बनाने के लिए डेढ़ लाख रुपए उधार लिया था। इसी को लेकर आरोपियों के साथ नीलेश का विवाद चल रहा था। पुलिस ने बताया कि आरोपी मोटिवेशन गैंग चलाते थे। इस गैंग का 10 गांव में दहशत था। गांव में ये लोगों को डराना-धमकाना और रंगदारी करते थे।

नीलेश को मारने और शव काटने में यूज की गई कुल्हाड़ी।

नीलेश को मारने और शव काटने में यूज की गई कुल्हाड़ी।

7 अक्टूबर से था लापता, परिजनों ने दर्ज कराई थी रिपोर्ट

बीते 7 अक्टूबर से वह अपने कमरे में नहीं था। न उसका मोबाइल लग रहा था। परिजनों ने काफी तलाश की उसके बाद 17 अक्टूबर को स्मृति नगर थाने में नीलेश की मिसिंग रिपोर्ट दर्ज की गई। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने सुपेला थाना प्रभारी दुर्गेश शर्मा के और स्मृति नगर चौकी प्रभारी एसआई युवराज देशमुख के नितृत्व में एक टीम गठित की।

नीलेश का लास्ट लोकेशन रायपुर के आगे सिमगा में मिला था। इसलिए पुलिस की टीम वहां पहुंची और तीन दिनों तक डेरा डालकर रखा था। पुलिस ने जब नीलेश की काल डिटेल निकाली तो उसकी अंतिम बातचीत उसके मामा और सिमगा के बदमाश मोंटू से हुई थी। पुलिस ने मोंटू को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर नीलेश की हत्या कर दी। इसके बाद कुल्हाड़ी से उसके शरीर के कई टुकड़े करके अलग-अलग जगहों में फेंक दिया। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने शिवनाथ नदी और महासमुंद जाने वाले रास्ते के जंगल से शव के कुछ टुकड़े बरामद किए हैं। पुलिस को शव के बीच का भाग मिला है, जिससे उसकी पहचान हुई है।

आरोपियों को गिरफ्तार कर प्रेस कॉन्फ्रेंस करती पुलिस।

आरोपियों को गिरफ्तार कर प्रेस कॉन्फ्रेंस करती पुलिस।

पहले किया सिंगर का अपहरण फिर की हत्या

मोंटू ने पुलिस को बताया कि भिलाई अपने साथियों के साथ गया था। वहां उसने नीलेश के साथ शराब पार्टी की। इसके बाद उसे कार में बैठाकर प्लानिंग के तहत सिमगा आ गए। यहां उसे अपने फार्म हाउस में रखा था। मोंटू और उसके 9 साथियों ने उसे इतनी बेरहमी से मारा कि उसकी मौत हो गई। मौत होने के बाद उन्होंने श‌व को एक दिन तक फार्म हाउस में रखा। अगले दिन कुल्हाड़ी से काटकर शव के कई टुकड़े किए और अलग-अलग बोरियों में भरकर उन्हें अलग-अलग जगह फेंक दिया।

7 अक्टूबर से गायब हुआ नीलेश, पुलिस ने मिसिंग दर्ज की 17 को

इतने संगीन मामले में भी स्मृति नगर पुलिस की लापरवाही सामने आई है। परिजनों का कहना है कि नीलेश 7 अक्टूबर से गायब है। उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी, लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। जब 10 दिन तक उसका कहीं पता नहीं लगा तब जाकर 17 अक्टूबर को उसकी मिसिंग रिपोर्ट दर्ज की गई।

आरोपियों से बात करती पुलिस।

आरोपियों से बात करती पुलिस।

नीलेश के घर में छिपकर काट चुका है फरारी

स्मृति नगर पुलिस के मुताबिक हत्या का मास्टरमाइंड मोंटू आपराधिक प्रवृति का है। वह सिमगा में रंगदारी भी करता है। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। दो बार वह एनडीपीएस एक्ट के आरोप में फरार भी रहा और उस दौरान नीलेश के घर में ही छिपकर रह रहा था।

आरोपियों के साथ मीडिया से चर्चा करते हुए पुलिस।

आरोपियों के साथ मीडिया से चर्चा करते हुए पुलिस।

सिमगा में मिले लोकेशन के आधार पुलिस ने शुरू की खोज

दो दिन पहले सिंगर नीलेश का आखिरी लोकेशन सिमगा में मिला था। इसके बाद टीआई दुर्गेश शर्मा के नेतृत्व में टीम सिमगा गई थी। वहां पता चला कि आखरी बार उसने अपने मुंह बोले मामा मोंटू से बात की थी। इसके बाद पुलिस ने मोंटू को हिरासत में लिया। पूछताछ में आरोपी ने अपने साथी रुद्र, राजा समेत अन्य लोगों के साथ मिलकर हत्या करना कबूल कर लिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular