Thursday, June 8, 2023
Homeदेश-विदेशSP गिरफ्तार: पर्चा लीक मामले में हुई बड़ी कार्यवाही; इससे पहले पूर्व...

SP गिरफ्तार: पर्चा लीक मामले में हुई बड़ी कार्यवाही; इससे पहले पूर्व डीआईजी की भी हो चुकी है गिरफ़्तारी… हैरानी की बात तो ये है गिरफ्तार SP के बड़े भाई असम के ही चीफ सिकरेट्री है….

गुवाहाटी 16 अक्टूबर 2020। पुलिस भर्ती परीक्षा पर्चा लीक मामले में एक बड़ी खबर आ रही है। करीमगंज के SP को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। हैरान करने की बात ये है कि IPS के भाई असम के ही चीफ सिकरेट्री है। अब इस मामले में आईपीएस की गिरफ्तारी के बाद मामला हाईप्रोफाइल होता दिख रहा है। आईपीएस अफसर का नाम संजीत कृष्णा है। वहीं उनके भाई का नाम संजय कृष्णा हैं। 1985 बैच के IAS अफसर संजय कृष्णा को पिछले साल ही असम सरकार ने चीफ सिकरेट्री बनाया था। 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ”उन्हें हिरासत में ले लिया गया. अब उन्हें चिकित्सा जांच के लिए ले जाया गया है.”वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से सोमवार और मंगलवार को कई घंटों तक पूछताछ की गई थी.अधिकारी ने बताया कि कृष्णा करीमगंज जिले के पुलिस अधीक्षक थे, जहां अन्य आरोपियों की मौजूदगी में उनके आवास पर उनके इशारे पर प्रश्नपत्र कथित तौर पर लीक किया गया था. इनमें से कुछ आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है.

पेपर लीक होने के मामले में अब तक सेवानिवृत्त असम पुलिस डीआईजी पीके दत्ता सहित 50 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. 20 सितंबर को असम पुलिस उप-निरीक्षक के 597 पदों के लिए लिखित परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक हो गया था और राज्य स्तरीय पुलिस भर्ती बोर्ड (एसएलपीआरबी) ने परीक्षा शुरू होने के कुछ मिनट बाद इसे रद्द कर दिया था.

एसपी कृष्णा के बड़े भाई असम के मुख्य सचिव हैं. बीते 13 अक्‍टूबर को छोटे भाई कुमार संजीत कृष्णा का इस मामले में नाम पर आने पर मुख्य सचिव कुमार संजय कृष्ण ने मंगलवार को कहा था कि कानून अपना काम करेगा. मुख्य सचिव ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि उनका नाम किन्हीं उद्देश्यों के साथ इस विवाद में घसीटा जा रहा है.

चीफ सेक्रेट्री ने कहा,

”मेरा भाई एक स्वतंत्र व्यक्ति है जो एक अलग पेशे में है. अगर उसने कुछ गलत किया है, तो कानून सबूतों के आधार पर अपना काम करेगा.” उन्होंने कहा, ”मुख्य सचिव के रूप में, मैं शुरू से ही मुख्यमंत्री द्वारा निर्देशित एक स्वतंत्र और तटस्थ जांच का समर्थन कर रहा हूं और मुझे विश्वास है कि जो भी दोषी होगा उसे सजा मिलेगी.”

RO NO. Samvad 12338/11
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Related News

Most Popular