Tuesday, May 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: छात्र ने अपने अपहरण की रची झूठी कहानी.. पिता ने नहीं...

कोरबा: छात्र ने अपने अपहरण की रची झूठी कहानी.. पिता ने नहीं दिलाई बुलेट, तो नाबालिग हुआ लापता; कहा-किडनैपिंग कर चारपहिया में ले जा रहे आरोपी, फिर पुलिस ने ऐसे किया पर्दाफाश..

कोरबा: जिले में पिता के बुलेट बाइक नहीं दिलाने पर बेटे ने खुद के अपहरण की झूठी साजिश रच डाली। मामला मानिकपुर चौकी क्षेत्र का है। इधर जैसे ही घर में बेटे की किडनैपिंग की बात पता चली, परिवार वाले परेशान हो गए। पिता ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई, तब जाकर जांच में पूरे मामले का पर्दाफाश हो गया।

मानिकपुर कॉलोनी में रहने वाले 8वीं के छात्र को बुलेट चलाने का शौक था। उसने अपने पिता से बाइक दिला देने की जिद की। लड़के की उम्र अभी 18 साल भी नहीं हुई है, ऐसे में इस अनुचित मांग को पूरा करने से पिता ने मना कर दिया। इधर छात्र किसी भी तरह से अपने शौक को पूरा करना चाहता था और उसने अपने झूठे अपहरण की साजिश रच डाली। उसने अपने मोबाइल से घरवालों को मैसेज किया कि उसका अपहरण कुछ लोगों ने कर लिया है। उसे चारपहिया वाहन से कहीं ले जाया जा रहा है।

पुलिस ने नाबालिग को समझाया।

पुलिस ने नाबालिग को समझाया।

ये सुनते ही परिवार वालों के होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत मानिकपुर चौकी में किडनैपिंग की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने तुरंत विशेष टीम गठित की। पुलिस ने पाया कि नाबालिग लड़के के मोबाइल से ही उसे मार देने की धमकी दी जा रही थी। ये देख पुलिस का माथा ठनका। पुलिस ने साइबर सेल से संपर्क कर मोबाइल की लोकेशन को ट्रेस किया। पुलिस टीम में शामिल परमेश्वर राठौर और आलोक टोप्पो लोकेशन के आधार पर पत्थलगांव रवाना हो गए, जहां बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया।

पुलिस ने झूठे अपहरण का किया पर्दाफाश।

पुलिस ने झूठे अपहरण का किया पर्दाफाश।

मानिकपुर चौकी ललन सिंह पटेल ने बताया कि नाबालिग की उम्र 17 साल है। वो परिजनों को डराने वाले मैसेज भेज रहा था। पूछताछ में उसने बुलेट के लिए झूठी अपहरण की साजिश रचने की बात स्वीकार कर ली। पुलिस ने लड़के के पिता को बुलाया और उनके सामने समझाया गया कि कभी भी अनुचित मांगों के लिए माता-पिता को परेशान नहीं करते। गलत काम का नतीजा हमेशा गलत होता है। पुलिस के समझाने पर छात्र ने भी आगे से ऐसा कोई कदम नहीं उठाने की बात कही। नाबालिग छात्र का बयान दर्ज कर पुलिस ने उसे परिजनों को सौंप दिया है।

मानिकपुर थाना पुलिस ने पत्थलगांव से लड़के को किया बरामद।

मानिकपुर थाना पुलिस ने पत्थलगांव से लड़के को किया बरामद।

ये नहीं है कोई पहली घटना

अपहरण की झूठी साजिश की ये कोई पहली घटना नहीं है। पिछले साल दिसंबर में ऑनलाइन गेम पबजी के कारण बिलासपुर जिले में 19 साल के एक युवक ने अपने अपहरण की झूठी कहानी रच डाली थी। उसने 4 लाख रुपए की फिरौती भी घरवालों से मांगी थी। उसे घर पर फोन करके बताया था कि उसका अपहरण हो गया है और आरोपी 4 लाख रुपए उसे छोड़ने के लिए मांग रहे हैं। बहरहाल पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए इस मामले का पर्दाफाश कर दिया था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular