Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: कॉलर ने युवक को जादू से मारने की दी धमकी.. कहा...

छत्तीसगढ़: कॉलर ने युवक को जादू से मारने की दी धमकी.. कहा उसे 10 लाख रुपए की सुपारी मिली है 11 लाख दोगे तो बचेगी जान

छत्तीसगढ़: भिलाई के सुपेला थाना क्षेत्र में एक युवक ने जादू टोना करके जान से मारने की 10 लाख रुपए की सुपारी ली थी। उसने फोन करके खुद दूसरे युवक को बताया कि उसे जादू से मारने की सुपारी दी गई है। यदि वह उसे 11 लाख रुपए देता है तो उसकी जान बच सकती है। सुपेला पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। सुपेला थाना प्रभारी दुर्गेश शर्मा ने बताया कि आर्य नगर कोहका निवासी संजीव सिंह ने थाने में जान से मारने की धमकी मिलने की शिकायत दर्ज कराई थी। उसने बताया कि पिछले 2-3 दिनों से इनके मोबाईल में बार-बार फोन आ रहा है। फोन करने वाला उसे धमकी दे रहा है कि तुमको जादू-टोना करके मारने के लिए उसे किसी ने 10 लाख रुपये की सुपारी दी है। यदि मुझे 11 लाख रूपये दे देते हो तो मैं तुमको नहीं मारूंगा। जादू-टोना करके मारने की सुपारी वाली बात सुनकर दुर्गेश शर्मा काफी डर गया और उसने थाने में शिकायत दर्ज कराई।

रुपए देने के लिए बुलाकर युवक को किया गिरफ्तार
सुपेला पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। इसके बाद पीड़ित से उसे फोन करवाया कि वो रुपए लेने के लिए दुर्ग बस स्टैंड आ जाए। जैसे ही आरोपी वहां पहुंचा पुलिस ने उसे धर दबोचा। आरोपी ने अपना नाम संतोष मिर्ची बताया। उसके पास से झाड़-फूक का सामान नीबू, मिर्ची, बंदन, कच्चा धागा 7 नग पुराने तांबा के सिक्के व मोबाईल फोन जब्त किया है।

आरोपी ने स्वीकार किया अपराध
पूछताछ में आरोपी संतोष मिर्ची ने बताया कि उसे अजय कोसरे ने संजीव सिंह को मारने की सुपारी दी थी। उसने बतौर एडवांस उसे 55 हजार रुपए भी दिए हैं। पुलिस ने सुपारी देने वाले अजय कोसरे को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के मोबाइल को चेक किया तो उसमें इन्द्रकुमार महिलांग द्वारा प्रार्थी संजीव सिंह को मारने के लिए फोटो व नाम पता भेजा गया है। इन्द्रकुमार महिलांग ने 1 लाख रुपये एडवांश के तौर पर अजय कोसरे को दिया था। शेष रकम काम होने के बाद देना था। इसके बाद अजय कोसरे ने 55 हजार रुपये संतोष मिर्ची (बैगा) को दिया था।

सुपारी देने वाला निकला पार्टनर
पुलिस के मुताबिक संजीव सिंह और अशोक मौर्या दोनों जमीन कारोबार से जुड़े हैं। दोनों इस काम में पार्टनर भी रहे हैं। इस काम में अशोक मौर्या जहां घाटा लगा था तो वहीं संजीव सिंह का कारोबार दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा था। इसीसे वह संजीव से काफी चिढ़ता था। आखिर उसने उसे मारने की साजिश रची और जादू-टोना के माध्यम से मरवाने का प्लान तैयार किया था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular