Sunday, May 26, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: परिवारवालों ने लाठी-डंडे से पीट पीटकर की युवक की हत्या.. जमीन...

छत्तीसगढ़: परिवारवालों ने लाठी-डंडे से पीट पीटकर की युवक की हत्या.. जमीन से मिट्‌टी हटाने का विवाद; युवतियों ने परिजनों के साथ मिलकर मार डाला

छत्तीसगढ़: जांजगीर-चांपा जिले में एक युवक की उसके ही परिवारवालों ने बेरहमी से हत्या कर दी। पूरा मामला जमीन से मिट्‌टी हटाने के विवाद से जु़ड़ा है। जिसके चलते 2 युवतियों ने अपने परिजनों के साथ मिलकर युवक को लाठी-डंडे से इतना पीटा कि वो अधमरा हो गया। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। जिसके बाद मामला थाने पहुंचा और पुलिस ने 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मामला सारागांव थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, शनिवार शाम को सारागांव निवासी बोटलाल सूर्यवंशी(42) अपनी जमीन के पास ही खड़ा था। उसी वक्त उसके बड़े पिता का बेटा भुनेश्वर सूर्यवंशी, बुद्धेश्वर उर्फ मुन्ना सूर्यवंशी, दसरे परिजन मनेाज सूर्यवंशी, विनोद सूर्यवंशी, भतीजी सविता सूर्यवंशी, भतीजी अम्बिका बाई सूर्यवंशी, दिलीप सूर्यवंशी, प्रताप सूर्यवंशी और राजेश सूर्यवंशी पहुंच गए और विवाद करने लगे।

लाठी-डंडे और रॉड से शख्स की हत्या की गई थी।

लाठी-डंडे और रॉड से शख्स की हत्या की गई थी।

जमीन पर बना रहा था मकान

बताया जा रहा है कि सामुदायिक भवन के पास ही बोटलाल और भुनेश्वर सूर्यवंशी की जमीन अगल-बगल है। इन दिनों बोटलाल अपनी जमीन पर मकान बना रहा था। जिसकी मिट्‌टी उसके परिवार वालों की जमीन में गिरी हुई थी। बस इसी बात को लेकर ये विवाद शुरू हो गया। भुनेश्वर और उसके घर के लोग ये कहने लगे कि बोटलाल तुरंत हमारी जमीन से मिट्‌टी हटा लो। मगर देर शाम होने के कारण बोटलाल उन्हें तुरंत मिट्‌टी हटाने से इनकार करता रहा। जिसके बाद विवाद काफी बढ़ गया।

सारागांव पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

सारागांव पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

बीच बचाव करने पहुंचा छोटा भाई

इसके बाद भुनेश्वर, अंबिका और सविता ने पहले लाठी-डंडे और रॉड से बोटलाल को पीटना शुरू कर दिया। बाद में अन्य 6 परिजन भी बोटलाल को पीटने लगे। उसे इतना पीटा गया कि वह अधमरा हो गया था। इतने में बोटलाल का छोटा भाई गोविंद सूर्यवंशी मौके पर पहुंचा और विवाद करने से मना करने लगा। जिसके बाद आरोपी वहां से चले गए। कहा जा रहा है कि आरोपियों और मृतक के बीच जमीन को लेकर पुराना विवाद था।

उधर, घायल अवस्था में बोटलाल को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां अगले दिन रविवार को उसकी मौत हो गई। तब गोविंद ने ही इस मामले में आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराया और पूरी वारदात के बारे में जानकारी दी है। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों को रविवार देर शाम गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने भी अपना गुनाह कबूल कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों से घटना में इस्तेमाल लाठी और रॉड बरामद किए हैं।

जमीन विवाद में पति,पत्नी और बेटी की हत्या

24 दिन पहले जशपुर जिले की सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में 5 अक्टूबर को हुए ट्रिपल मर्डर हुआ था। यहां घोलेंग (कदमटोली) में पति-पत्नी और उसकी 19 वर्षीय बेटी की निर्मम हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस केस में सभी 6 आरोपियों को मीडिया के सामने पेश किया।

जशपुर पुलिस अधीक्षक डी रविशंकर ने बताया कि जमीन विवाद और जादू-टोने के शक में अर्जुन तेंदुआ (45 वर्ष), उसकी पत्नी फिरनी तेंदुआ (42 वर्ष) और बेटी संजना (19 वर्ष) की हत्या की गई। घटना को 6 आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया था। पुलिस ने हत्याकांड के बाद आरोपियों की तलाश के लिए झारखंड, ओडिशा, कोलकाता (पश्चिम बंगाल) और सिलीगुड़ी (प. बंगाल) में टीम भेजी थी।

उन्होंने बताया कि जांच के दौरान चंदन तेंदुआ और गांववालों से पूछताछ की गई, जिसमें पता चला कि अर्जुन तेंदुआ का गांव के बिन्देश्वर बंजुआ, प्रेमचंद बंजुआ, मृगपाल बंजुआ, करण तेंदुआ, आरजू तेंदुआ और प्रवीण तेंदुआ के साथ जमीन विवाद चल रहा था।

ससुरालवालों ने दामाद को ही मार दिया

कुछ समय पहले बिलासपुर जमीन व रुपयों के विवाद के चलते ससुरालवालों ने मिलकर अपने ही दामाद की हत्या कर दी थी। दरअसल, युवक अपने गांव की संपत्ति बेचकर ससुराल में रहता था। उसने ससुर से जमीन भी खरीदी थी। लेकिन, ससुरालवाले उसकी रजिस्ट्री नहीं करा रहे थे। इसके चलते उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया था। इसी विवाद को लेकर सास, ससुर, साले व पत्नी ने मिलकर पहले डंडे से उस पर ताबड़तोड़ हमला किया। फिर चाकू मारकर उसकी हत्या कर दी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular