Monday, June 17, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकुएं में गिरा मासूम, बुआ ने कूदकर बचाई जान... मुंह से सांसें...

कुएं में गिरा मासूम, बुआ ने कूदकर बचाई जान… मुंह से सांसें दी, तब लौटी जिंदगी; युवती का टूटा पैर, खेलने के दौरान हुआ हादसा

गरियाबंद: जिले में डेढ़ साल का मासूम खेलते-खेलते गहरे कुएं में गिर गया। इसके बाद उसकी बुआ ने कुएं में छलांग लगा दी और उसकी जान बचा ली है। कुएं में गिरने के कारण बच्ची की सांसें चलना बंद हो गई थी। इस पर युवती ने उसे तत्काल मुंह से सांसें दी, तब जाकर बच्ची की सांसें चलनी शुरू हुई। इस हादसे में युवती का भी पैर टूट गया है।

केरेगांव में रविवार शाम को हर्ष ध्रुव नाम का बच्चा घर पर खेल रहा था। शाम के वक्त घर पर कोई भी पुरुष नहीं था। बच्चे की मां और घर के लोग घर पर ही अपने-अपने काम में व्यस्त थे। इसी दौरान बच्चे की दादी को कुएं में जोर से गिरने की आवाज आई। तब जाकर उसने देखा कि हर्ष कुएं में गिर गया है।

घटना में बच्चे की बुआ गायत्री का पैर टूट गया है।

घटना में बच्चे की बुआ गायत्री का पैर टूट गया है।

मां नहीं जुटा पाई हिम्मत

इसके बाद चीख पुकार मच गई। बच्चे की मां भी मौके पर पहुंची। मगर आनन-फानन में उसकी भी हिम्मत नहीं हुई कि वह कुएं में कूद जाए। इस बीच बच्चे की बुआ गायत्री ध्रुव कुएं में कूद गई। वहां जाकर उसने बच्चे को तलाशा, तब बच्चा उसे मिल गया। उसने किसी तरह से अपने आप को संभाला।

रस्सी के सहारे बाहर आई युवती

आस-पास के लोगों ने तुरंत रस्सी दी। तब गायत्री बच्चे को लेकर ऊपर आई। उस दौरान बच्चे की सांसें नहीं चल रही थी। इस पर गायत्री ने उसे उल्टा किया, उसके पेट को दबाया। फिर उसके मुंह से काफी पानी निकला और बच्चे की सांस लौटी। इसके बाद तुरंत बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद बच्चे को रायपुर रेफर किया है।

बच्चे के फेफड़े में काफी पानी भर गया है।

बच्चे के फेफड़े में काफी पानी भर गया है।

फेफड़े में भर गया है पानी

डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे के फेफड़े में पानी भर गया है। इस वजह से उसे रायपुर रेफर किया गया है। फिलहाल उसका उपचार किया जा रहा है। वहीं बच्चे की बुआ गायत्री का पैर टूट गया है। इस वजह से उसका उपचार पास के अस्पताल में जारी है। परिजनों ने बताया कि घटना के वक्त बच्चे के पिता काम के चक्कर में बाहर थे। कुएं की गहराई 20 फीट थी। शाम भी हो चुकी थी। फिर भी युवती ने साहस का परिचय दिया और बच्चे की जान बचा ली। युवती के इस साहस की अब गांव के लोग भी तारीफ कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular