Saturday, May 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: थाना प्रभारी को रेप केस में फंसाने की धमकी.. ब्लैकमेल कर...

छत्तीसगढ़: थाना प्रभारी को रेप केस में फंसाने की धमकी.. ब्लैकमेल कर रही युवती और पत्रकार गिरफ्तार; प्रेमी के खिलाफ भी लगा चुकी है दुष्कर्म का आरोप

छत्तीसगढ़: रायगढ़ जिले के घरघोड़ा थाना प्रभारी प्रवीण मिंज को बलात्कार के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने वाली युवती (23 वर्ष) को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में एक कथित पत्रकार को भी गिरफ्तार किया गया है। दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी शनिवार को बिलासपुर जिले से हुई है। युवती ने थाना प्रभारी प्रवीण मिंज के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया था और रेप केस में फंसाने की धमकी देकर पैसे की मांग कर रही थी।

थाना प्रभारी प्रवीण मिंज ने कहा कि यह मामला 2 साल पुराना है। उस वक्त वे धरमजयगढ़ थाने के इंचार्ज थे। आरोपी युवती बिलासपुर के सरकंडा की रहने वाली है, वहीं दूसरा आरोपी नेशनल जगत विजन का कथित पत्रकार बाबा थवाईत (52 वर्ष) है। दोनों आरोपी थाना प्रभारी प्रवीण मिंज को पैसों के लिए लंबे समय से ब्लैकमेल कर रहे थे। थाना कोतवाली में निरीक्षक प्रवीण मिंज की रिपोर्ट पर आरोपी युवती और कथित पत्रकार पर धारा 389, 34 के तहत केस दर्ज किया गया था। कोतवाली टीआई मनीष नागर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने रातों-रात बिलासपुर के अलग-अलग जगहों से दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

प्रवीण मिंज ने बताया कि धरमजयगढ़ की रहने वाली युवती ने मार्च 2020 में अपने प्रेमी विक्रम मंडल पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। जिस पर पुलिस ने जांच शुरू की थी, लेकिन बाद में प्रेमी और युवती के बीच समझौता हो गया। प्रेमी विक्रम युवती को अपने साथ रखने को तैयार हो गया और केस क्लोज हो गया। इसके बाद दोबारा प्रेमी-प्रेमिका के बीच तकरार हुई और युवती ने थाना बिलासपुर में शून्य पर विक्रम मंडल के खिलाफ बलात्कार का केस दर्ज कराया।

आरोपी युवती गिरफ्तार।

आरोपी युवती गिरफ्तार।

महिला थाना बिलासपुर से केस डायरी थाना धरमजयगढ़ में ट्रांसफर हुई। जिस पर IPC की धारा 344, 376, 506 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी विक्रम मंडल को गिरफ्तार कर लिया गया। कुछ दिन जेल में रहने के बाद आरोपी युवक को जमानत मिल गई। तब अप्रैल 2021 में युवती ने आईजी बिलासपुर से प्रेमी विक्रम और थाना प्रभारी प्रवीण मिंज पर बलात्कार का आरोप लगाया। शिकायत मिलने के बाद थाना इंचार्ज के खिलाफ विभागीय जांच बैठी, जिसमें वे निर्दोष पाए गए।

उप निरीक्षक प्रवीण मिंज के खिलाफ छेड़छाड़ के संबंध में दिए गए झूठे शिकायत पत्र को लेकर नेशनल जगत विजन पोर्टल के कथित पत्रकार बाबा थवाईत ने 10 जुलाई 2022 को झूठी न्यूज प्रकाशित की थी। जांच पूरी होने तक उनका दो बार ट्रांसफर हो चुका है। शिकायत के समय वे धरमजयगढ़ थाने में थे। इसके बाद उनकी पोस्टिंग छाल थाने में हुई और फिलहाल वे घरघोड़ा थाने में पदस्थ हैं।

दोनों आरोपियों को भेजा गया न्यायिक हिरासत में।

दोनों आरोपियों को भेजा गया न्यायिक हिरासत में।

कथित पत्रकार के साथ कर रही थी ब्लैकमेलिंग

प्रवीण मिंज ने बताया कि उनके खिलाफ शिकायत करने के बाद से ही युवती कथित पत्रकार बाबा थवाईत के साथ मिलकर उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी। 22 सितंबर को टीआई प्रवीण मिंज अपने घरघोड़ा थाने के स्टाफ के साथ रायगढ़ आए थे, तो बाबा थवाईत ने उन्हें व्हाटसएप कॉल कर चक्रधरनगर क्षेत्र स्थित होटल आउटर रायगढ़ के पास बुलाया था। वहां जाने पर बाबा थवाईत ने युवती को अपना परिचित बताया और धमकी दी कि ‘हम तुम्हें रेप केस में जेल भिजवा देंगे और तुम्हारी नौकरी भी चली जाएगी’। उसने कहा कि मैं तुम्हारा युवती से समझौता करा दूंगा, उसके लिए मेरी फीस 50 हजार रुपए लगेगी। आरोपी ने कहा कि अगर तुम पैसे दे दोगे, तो मैं तुम्हारा समझौता कराकर तुम्हारे खिलाफ न्यूज डालना बंद कर दूंगा।

इस पर टीआई प्रवीण मिंज ने पैसे देने से इनकार कर दिया। इसके कुछ दिन बाद बाबा थवाईत ने फिर से टीआई को सुभाष चौक पर बुलाया और कहा कि आखिरी मौका दे रहा हूं, पैसे दे दो, तब भी प्रवीण नहीं मांगे। 30 सितंबर को दोपहर और शाम में बाबा थवाईत ने वॉइस कॉल करके पैसे की फिर से डिमांड की, तब उसका ऑडियो रिकॉर्ड कर थाना प्रभारी ने रख लिया और सिटी कोतवाली थाने में आवेदन किया।

आवेदन पर कथित पत्रकार बाबा थवाईत (52 वर्ष) निवासी सिरगिट्टी बिलासपुर और युवती (23 वर्ष) निवासी सरकंडा बिलासपुर के खिलाफ IPC की धारा 389, 34 के तहत केस दर्ज किया। कोतवाली पुलिस रायगढ़ की टीम ने दोनों को बिलासपुर से गिरफ्तार कर लिया और उन्हें रायगढ़ लाया गया। फिलहाल दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular