Tuesday, May 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: काम से निकाला तो नौकर बन गए चोर.. प्लान बनाकर घर...

छत्तीसगढ़: काम से निकाला तो नौकर बन गए चोर.. प्लान बनाकर घर से उड़ाया 15 लाख का माल, 50 CCTV खंगालने पर पकड़े गए

छत्तीसगढ़: बिलासपुर में पुलिस ने चोरी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है और तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर 10 लाख रुपए का माल बरामद किया है। चोर गिरोह के दो सदस्य कोचिंग सेंटर संचालक के प्रिंटिंग प्रेस में काम करते थे। जब उन्हें काम से निकाल दिया गया, तब उन्होंने मकान में चोरी करने की योजना बनाई। दिवाली पर्व के दौरान मकान को सूना पाकर उन्होंने वारदात को अंजाम दिया और करीब 15 लाख रुपए का माल पार कर दिया। गिरोह के सदस्यों को पुलिस रिमांड पर लिया गया है, ताकि उनके पास से चोरी की रकम बरामद किया जा सके। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है।

मोपका के विवेकानंद कॉलोनी निवासी हरिराम पटेल गांधी चौक में हरिराम कॉम्पिटिनशन एकेडमी के नाम से कोचिंग सेंटर चलाते हैं। उनके घर में प्रिंटिंग प्रेस भी है। बीते 22 अक्टूबर को वे रायपुर घूमने के लिए गए थे। इस दौरान उनकी मां और परिवार के सदस्य दिवाली पर्व पर 22 अक्टूबर की सुबह गृहग्राम सारंगढ़ चले गए। वहीं, हरिराम भी रायपुर से अपने गृहग्राम चले गए। इस दौरान उनके मकान को सूनसान पाकर चोरों ने धावा बोल दिया और सोने-चांदी के गहनों के साथ ही 6 लाख रुपए नगदी चोरी कर ले गए।

आरोपियों से जब्त किया गया चोरी का सामान।

आरोपियों से जब्त किया गया चोरी का सामान।

27 को शहर पहुंचने पर टूटा मिला ताला
हरिराम दिवाली पर्व मनाने के बाद 27 अक्टूबर को शहर वापस आए, तब उनके घर का दरवाजे का ताला टूटा मिला। तलाशी लेने के बाद चोरी का पता चला, तब उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस चोरी का केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही थी।

50 CCTV कैमरे खंगालने पर आरोपियों का मिला सुराग
मोपका चौकी प्रभारी मनोज पटेल ने बताया कि इस केस की जांच के दौरान पता चला कि चोरों ने मकान के CCTV कैमरे को मोड़ दिया था। ऐसे में पुलिस को संदेह हुआ कि चोरी की इस वारदात में परिचित और करीबियों का हाथ हो सकता है। जांच के दौरान पुलिस ने आसपास से लेकर मोपका चौक तक करीब 50 CCTV कैमरों की जांच की, तब पुलिस को एक CCTV कैमरे में एक संदेही युवक नजर आया, जिसके आधार पर पुलिस ने उसकी पहचान कर उसके दो अन्य साथियों को पकड़कर पूछताछ की। तब तीनों आरोपियों ने चोरी करना स्वीकार किया।

आरोपियों से और चोरी का माल बरामद करने के लिए पुलिस ने उन्हें रिमांड पर लिया है।

आरोपियों से और चोरी का माल बरामद करने के लिए पुलिस ने उन्हें रिमांड पर लिया है।

काम से निकालने के बाद चोरी करने बनाई योजना
पुलिस ने सरकंडा के मोपका निवासी शक्ति सूर्यवंशी, निश्चल सूर्यवंशी और ईश्वर सूर्यवंशी से चोरी के गहनों के साथ ही 50 हजार 320 रुपए बरामद किया है। इसके बाद साथ ही वारदात में इस्तेमाल बाइक और स्कूटी भी जब्त किया है, जिसकी कीमत करीब 10 लाख रुपए बताई जा रही है। आरोपियों से पुलिस को चोरी के गहने और 5 लाख 50 हजार रुपए बरामद करना है, जिसके लिए उन्हें पुलिस रिमांड पर लिया गया है। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे पहले हरिराम पटेल के यहां प्रिंटिंग प्रेस में काम करते थे। जब उन्होंने काम से निकाल दिया, तब युवकों ने उनके घर में चोरी करने की योजना बनाई। इसके बाद से वे मौके की तलाश कर रहे थे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular