Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबापत्नी देर रात घर लौटी, NGO मैनेजर ने सुसाइड किया; पुलिस से...

पत्नी देर रात घर लौटी, NGO मैनेजर ने सुसाइड किया; पुलिस से दूसरी पत्नी बोली- मुझसे भी तलाक चाहते थे

भोपाल/रायपुर: पीपुल्स NGO (रायपुर) के स्टेट प्रोग्राम मैनेजर ने भोपाल में दूसरी पत्नी से झगड़े के बाद सुसाइड कर लिया। उन्होंने शनिवार देर रात 1 बजे खुद को फ्लैट में बंद कर आग लगा ली थी। इसका खुलासा दूसरी पत्नी से पूछताछ के बाद हुआ। दोनों ने 14 फरवरी को लव मैरिज की थी।

पुलिस के मुताबिक, एस प्रदीप नायर की पहली पत्नी डेढ़ साल पहले तक साथ रही थीं। संतान नहीं होने की वजह से नायर ने दूसरी शादी निहारिका से की। निहारिका भी भोपाल में बचपन NGO में काम करती हैं। संतान नहीं होने पर प्रदीप निहारिका से भी तलाक का मन बना रहे थे।

शनिवार शाम को बिना बताए प्रदीप रायपुर से भोपाल आए। निहारिका रात 12.10 बजे फ्लैट पर पहुंची। इस बात पर दोनों में झगड़ा हुआ। प्रदीप ने फ्लैट में खुद को बंद कर आग लगा ली। प्रदीप मूल रूप से केरल के रहने वाले थे।

निहारिका ने पुलिस को बताया- गेट तोड़ने की कोशिश करती रही…

निहारिका ने पुलिस को बताया, ‘भोपाल में अवधपुरी इलाके के नक्षत्र ऐनक्लेव के ब्लॉक-4 में फ्लैट है। यहां एक साल से रह रही हूं। फ्लैट प्रदीप का ही है। प्रदीप पहले भोपाल में ही रहकर एक NGO के लिए काम कर रहे थे। एक साल पहले उन्होंने पीपुल्स NGO रायपुर जॉइन किया था। इसका हेड ऑफिस रायपुर में है। वह वहीं रह रहे थे। यहां आते-जाते रहते थे।’

निहारिका ने बताया, ‘मैं भोपाल के रोहित नगर स्थित बचपन NGO में काम करती हूं। शनिवार को NGO का सेमिनार था। इसे अटैंड कर घर लौटने में रात हो गई। रात 11.50 बजे एक्टिवा सोसाइटी में पार्क की।12.10 बजे फ्लैट पहुंची। फ्लैट खुला था। देखा तो पति अंदर थे। मैं चेंज भी नहीं कर सकी। पति लेट आने की वजह पूछते हुए चिल्लाने लगे।’

फायर ब्रिगेड की चार गाड़ियों ने 2 घंटे में आग पर काबू पाया।

फायर ब्रिगेड की चार गाड़ियों ने 2 घंटे में आग पर काबू पाया।

मारपीट की तो किसी तरह जान बचाकर भागी

निहारिका ने पुलिस को बताया, पति ने मारपीट शुरू कर दी तो जान बचाकर फ्लैट से बाहर भागी। इतने में प्रदीप ने मेन गेट को अंदर से लॉक कर लिया। उनके चीखने की आवाजें आने लगीं। फ्लैट के पिछले हिस्से में विंडो से लोगों ने लपटें उठती देखीं। मैंने पड़ोसियों की मदद से गेट तोड़ने की कोशिश की। कुछ ही देर में पूरा फ्लैट आग में घिर गया। आग बढ़ती देख हम सभी नीचे चले गए। लोग फायर कंट्रोल को सूचना दे चुके थे। आग बुझी तो फ्लैट में लगी सीलिंग के मलबे के नीचे प्रदीप का शव मिला।

प्रदीप के नाम है फ्लैट

प्रदीप ने फ्लैट 2019 में खरीदा था। रजिस्ट्री उन्हीं के नाम है। यहां वह पहली पत्नी पूजा के साथ तीन साल तक रहे। पिछले साल पूजा से अलग होने के बाद निहारिका से लव मैरिज कर ली थी। शादी को यादगार बनाने के लिए दोनों ने वैलेंटाइन डे का दिन चुना था। दूसरी शादी की पहली एनिवर्सिरी के 10 दिन बाद प्रदीप ने आत्मदाह कर लिया। निहारिका की मेडिकल रिपोर्ट में मारपीट की पुष्टि हुई है।

परिजनों की मौजूदगी में होगा पीएम

केरल में रहने वाले मृतक के परिजन रविवार की रात तक भोपाल नहीं पहुंच सके थे। रिश्तेदारों की मौजूदगी में सोमवार को पुलिस शव का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद शव उनके हवाले कर देगी। थाना प्रभारी रोशन लाल भारती के मुताबिक मृतक के परिजनों के बयानों को भी सोमवार को ही दर्ज किया जाएगा।

CCTV कैमरों को खंगाल रही पुलिस

निहारिका के बयानों की तस्दीक के लिए पुलिस कॉलोनी में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है, जिससे साफ हो सके कि वह घर कब लौटी। पुलिस की अब तक की जांच में यह भी साफ नहीं हो सका है कि प्रदीप ने आग लगाने के लिए किस पदार्थ का इस्तेमाल किया था। पुलिस ने घटना स्थल का FSL (फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी) की टीम से भी निरीक्षण करा लिया है।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular