Saturday, February 24, 2024
Homeहरियाणाबल्लभगढ़ केस: निकिता के परिजनों का आरोप, रसूखदार है तौसीफ का परिवार,...

बल्लभगढ़ केस: निकिता के परिजनों का आरोप, रसूखदार है तौसीफ का परिवार, सोनिया गांधी तक है पहुंच…

निकिता के परिजनों ने कहा कि तौसीफ के दादा खुर्शीद अहमद MLA और मंत्री रह चुके हैं. उनका बेटा आफताब अहमद भी कांग्रेस में MLA है. 40-50 साल से ये परिवार राजनीति में है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी से सीधे इनके संबंध हैं. 

नई दिल्ली: फरीदाबाद से सटे बल्लभगढ़ में लव जेहाद का शिकार हुई हरियाणा की बेटी निकिता का अंतिम संस्कार हो गया है. मेवात क्षेत्र में जबरन धर्म परिवर्तन को लेकर मचे बवाल के बीच परिवार वालों ने भरे मन से अपनी बेटी को आखिरी विदाई दी. गुस्साए परिजनों और प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली-मथुरा नेशनल हाइवे को जाम कर दिया था. वहीं मृतक लड़की के भाई नवीन तोमर ने बताया कि हत्या का आरोपी तौसीफ कांग्रेस विधायक आफताब अहमद का भतीजा है. ये रसूखदार लोग हैं. उन्हें पूरा पॉलिटिकल सपोर्ट है. निकिता के भाई ने कहा कि दो साल पहले भी उसने मेरी बहन को परेशान करने की कोशिश की थी, पुलिस में शिकायत भी हुई लेकिन ये रसूखदार लोग हैं, हम डर गए और पंचायत के सामने समझौता कर लिया. 

सोनिया-राहुल गांधी तक आरोपी के परिवार की पहुंच
निकिता के मामा आदल रावत ने कहा, ‘अगर हम 2 साल पहले समझौता न करते तो उसकी जान बचाई जा सकती थी. 2018 में तौफीक ने हमारी बेटी को किडनैप किया था. हमने FIR दर्ज कराई और उसे अरेस्ट करवाया. तौसीफ के परिजनों ने हमसे माफी मांगी और कहा कि अब ऐसा नहीं होगा. इसके बाद हमने समझौता कर लिया. तौसीफ के दादा खुर्शीद अहमद MLA और मंत्री रह चुके हैं. उनका बेटा आफताब अहमद भी कांग्रेस में MLA है, 40-50 साल से ये परिवार राजनीति में है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी से सीधे इनके संबंध हैं.’ उन्होंने कहा कि आज अगर ये अप्रिय घटना न होती तो शायद हम आज भी समझौता ही करते क्योंकि वो बहुत पावरफुल लोग हैं. 

आपको बता दें कि हाथरस मामले पर राजनीति करने वाले कांग्रेस के नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी इस मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं. हाथरस मामले में उन्होंने खूब फोटो खिंचवाए, वीडियोज बनवाए लेकिन निकिता के मामले में अभी तक उनका बयान नहीं आया है. 

लड़के की मां ने बनाया निकिता पर धर्म परिवर्तन का दबाव
मृतक छात्रा निकिता के पिता का दावा है कि आरोपी की मां भी पिछले दो साल से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी और वह कई दफा उनकी बेटी को फोन करके उसे धर्म परिवर्तन के लिए कहती थी, जिससे मेरी बेटी काफी परेशान होती थी.

बल्लभगढ़ की बेटी को कब मिलेगा इंसाफ?
इस बीच बल्लभगढ़ के निकिता हत्याकांड के दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. अदालत ने मामले में आगे की जांच के लिए मांगी गई पुलिस रिमांड को मंजूरी दे दी. 

‘निकिता ने मना किया तो तौसीफ ने मार दिया’
जांच में पता चला है कि निकिता की हत्या से पहले निकिता और तौसीफ की बातचीत हुई थी. सूत्रों के मुताबिक तौसीफ लगातार निकिता पर घर से भाग कर शादी करने का दबाव बना रहा था और निकिता इस बात से इनकार कर रही थी.

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular