Sunday, March 3, 2024
Homeछत्तीसगढ़रायपुररिटायरमेंट से पहले जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूलों को भेजे 73 लाख,...

रिटायरमेंट से पहले जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूलों को भेजे 73 लाख, ABVP का दावा – बंद स्कूलों को बांटी रकम…

  • रायपुर के पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी जीआर चंद्राकर पर लगे आरोप
  • जांच की मांग उठी, दो महीने पहले ही रिटायर हो चुके हैं चंद्राकर

रायपुर के जिला शिक्षा अधिकारी रह चुके जीआर चंद्राकर पर आर्थिक गड़बड़ी करने का आरोप लगा है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सोमवार को प्रदर्शन करते हुए इस मामले में जांच की मांग रायपुर के सिटी एसपी लखनलाल पटले से की है। एबीवीपी नेता विभोर सिंह ठाकुर ने बताया कि जीआर चंद्राकर ने रिटायरमेंट से पहले लगभग 73 लाख रुपए 8 स्कूलों को बांटे।

यह रकम राइट टू एजुकेशन RTE के तहत पढ़ने वाले बच्चों की थी। कुछ स्कूलों को रुपए देने की बजाए रकम स्कूल के संचालक मंडल से जुड़े लोगों के खाते में दी गई। तीन स्कूल ऐसे हैं जो बंद हो चुके हैं। कुछ ऐसे भी स्कूलों को रुपए दे दिए गए जहां आरटीई के तहत बच्चे पढ़ते ही नहीं।

क्या है RTE
राज्य सरकार इस योजना के तहत गरीब बच्चों को बड़े स्कूलों में दाखिला दिलवाती है। उनका खर्च वहन करती है। इन बच्चों से जुड़ी फीस और अन्य शुल्क के पैसे स्कूलों को सरकार की तरफ से दिए जाते हैं। ABVP इन्हीं पैसों के बंटवारे में गड़बड़ी के आरोप मढ़ रही है।इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई की मांग की जा रही है करीब 2 महीने पहले रिटायर हो चुके हैं और उनकी जगह पर और शिक्षा अधिकारी आए हुए हैं इस मामले की शिकायत मौजूदा शिक्षा अधिकारी से भी की गई और जांच की मांग की जा रही है

सोमवार को ABVP ने डीइओ कार्यालय का घेराव किया और जीआर चंद्राकर व जिन खातों में पैसा गया उन सभी खाता धारकों के ऊपर एफआईआर कर कार्यवाही की माँग की गई। मौजूदा डीईओ एएन बंजारा ने जांच का भरोसा दिलाया। इसके बाद पुलिस अधिकारी से भी इस मामले की जांच की मांग की गई। विभोर ने बताया कि तीन दिनों के अंदर कार्यवाही ना होने पर अभाविप ने शिक्षा मंत्री का घेराव व डीईओ कार्यालय में पूर्ण रूप से तालाबंधी करने की चेतावनी दी है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular