Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: बाड़ी विकास योजना बदल रही तकदीर, छोटे प्रयासों से मिल रही...

छत्तीसगढ़: बाड़ी विकास योजना बदल रही तकदीर, छोटे प्रयासों से मिल रही बड़े लाभ की राह… मेहनत लायी रंग, शुरु हुआ टमाटर का बंपर उत्पादन, महिलाओं को मिला आय का अतिरिक्त साधन

कोरिया: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सुराजी ग्राम योजना ग्रामीण अंचलों मंं निवास करने वालों के लिए लाभकारी साबित हुई है। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजनांतर्गत बाड़ी विकास योजना से कोरिया जिले के सोनहत विकासखण्ड के दामुज गौठान में उद्यानिकी विभाग के द्वारा लगभग 0.250 एकड़ में बाड़ी विकसित किया गया है। यहां लक्ष्मी स्व सहायता समूह की महिलाओं ने बाड़ी देखरेख का जिम्मा उठाया है। समूह की अध्यक्ष विद्यावती बतातीं हैं कि समूह के सदस्य गौठान में वर्मी कम्पोस्ट निर्माण कार्य में भी संलग्न रहे हैं। समूह की सदस्यों को जब बाड़ी विकास योजना के बारे में पता चला तो हम सब बहुत उत्साहित हुए, क्योंकि पहले ही हम घरों में छोटे रूप में यह कार्य कर रहीं थी। हमें उद्यानिकी विभाग द्वारा तकनीकी जानकारी दी गई, इसके साथ ही आधुनिक तकनीकी सहयोग द्वारा यहां अगस्त माह से हमने काम शुरू किया।

छोटे प्रयासों से
मिल रही

समूह की सदस्य सुमरिया बतातीं हैं कि समूह द्वारा बाड़ी में टमाटर लगाया गया है, ये अब पूरी तरह विक्रय के लिए तैयार है। हमने अभी शुरुआती दौर में लगभग 2 हजार रुपए के टमाटर का विक्रय भी कर लिया है, 15 से 18 हजार रुपए के टमाटर बाड़ी से और निकलेगा। बाड़ी से टमाटर निकालने का काम चल रहा है। वे बतातीं हैं कि वर्मी कम्पोस्ट के साथ बाड़ी का काम हमें बहुत अच्छा लगा, शासन की इस योजना ने घरेलू कार्य करने वाली हम जैसी महिलाओं को आयमूलक गतिविधियों से जोड़कर आर्थिक संबल दिया है। उम्मीद से अधिक टमाटर के उत्पादन से समूह की महिलाओं ने आगामी सीजन में बाड़ी क्षेत्र में विस्तार कर और भी सब्जियों के उत्पादन की योजना बनायी है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular