Sunday, July 21, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: 165 KCC खाता धारकों से 3.57 करोड का हुआ धोखाधड़ी... शेयर...

CG: 165 KCC खाता धारकों से 3.57 करोड का हुआ धोखाधड़ी… शेयर मार्केट और ऑनलाइन गेम ने बैंक मैनेजर को बनाया अपराधी, बैंक मैनेजर समेत एक अन्य आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़: 165 केसीसी खाता धारकों के खातों में छेड़खानी कर 3.57 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी के मुख्य आरोपी ग्रामीण बैंक किरोडीमलनगर के पूर्व शाखा प्रबंधक और अपराध में उसकी सहयोगी मां बीना शर्मा को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है । थाना कोतरारोड़ में छ.ग. राज्य ग्रामीण बैंक शाखा, किरोडीमल नगर के प्रभारी शाखा प्रबंधक संदीप ठाकुर (उम्र 28 वर्ष) द्वारा बैंक के पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल कुमार शर्मा पर बैंक के गेट, तिजोरी एवं FRFC की चाबी, बैंक का मोबाइल हैंड सेट, सिम लेकर फरार हो जाने का लिखित आवेदन देकर रिपोर्ट दर्ज कराया गया था जिस पर गबन (धारा 409 आईपीसी) का अपराध दर्ज कर पुलिस ने 02 आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया था ।

मुख्य आरोपी शाखा प्रबंधक राहुल कुमार शर्मा घटना के बाद से अपने निवास स्थान अजमेर राजस्थान से फरार हो गया था । कोतरारोड़ पुलिस स्थानीय मुखबिर एवं साइबर सेल से आरोपी और सहआरोपी उसके मां बीना शर्मा पर निगाह रखे हुए थी । ममले की गंभीरता को देखते हुये प्रशिक्षु आईपीएस उदित पुष्कर, थाना प्रभारी कोतरारोड़ द्वारा अजमेर राजस्थान में अपने सूत्रों से आरोपियों के संबंध में जानकारी जुटाया गया, जिनके मूल निवास पर होने की जानकारी मिलने पर थाना कोतरारोड की टीम तैयार कर तत्काल पुलिस टीम अजमेर राजस्थान के लिए रवाना हुई । पुलिस टीम आरोपी के निवास स्थान पर दबिश दिया गया, शातिर आरोपियों द्वारा घर के बाहर ताला लगाए हुए थे । पुलिस टीम गोपनीय तरीके से आरोपियों पर निगाह रखे हुए थे जिनके मुख्य दरवाजे में ताला लगाकर अंदर में रहने की जानकारी पुख्ता होने पर स्थानीय पुलिस के साथ लेकर पुलिस टीम दबिश देकर आरोपी राहुल कुमार शर्मा और उसकी मां बीना शर्मा को हिरासत में लेकर स्थानीय न्यायालय में पेश कर ट्रांजिस्ट रिमांड लिया गया । दिनांक 05.09.2023 को ट्राजिस्ट रिमांड पर रायगढ़ लाये गए दोनों आरोपियों को रायगढ़ न्यायालय पेश कर आरोपिया बीना शर्मा ( 58 साल) अजमेर राजस्थान का न्यायिक रिमांड लेकर जेल दाखिल किया गया तथा मुख्य आरोपी राहुल कुमार शर्मा का 02 दिन का पुलिस रिमांड लेकर विस्तृत पूछताछ किया गया ।

आरोपी राहुल शर्मा ने पूछताछ में अपराध का वृतांत बताया कि उसने ग्रामीण बैंक का प्रबंधक रहते हुए ग्राहकों के द्वारा केसीसी लोन, गोल्ड लोन लेने वाले आवेदन में छेड़छाड कर लोन रकम को उनके जानकारी के बगैर दुगना कर सह आरोपी – बीना शर्मा, के. हरिप्रिया, राहुल मेहता, अवकाश मेहता और कुणाल वर्मा के खाते में ट्रांसफर कर उनको हिस्सेदारी देकर स्वयं रुपए निकाल लेता था । आरोपी ने बताया कि ठगी के रकम से करीब डेढ़ करोड़ रुपये उसने शेयर मार्केट में लगाया जिसमें उसे काफी नुकसान हुआ है । उसने काफी पैसे ऑनलाइन जुआ, घूमने-फिरने और दोस्तों में खर्च करना बताया है । आरोपी के बैंक डिटेल लेने पर आरोपी के बैंक खाते में कुछ रकम शेष थे जिसे कोतरारोड पुलिस होल्ड कराया गया है । आरोपी राहुल शर्मा के पास से बैंक डिटेल, एटीएम, शासकीय लैपटॉप, 02 मोबाइल व सिम जिसे लेकर फरार था जब्त किया गया है । पूर्व में गिरफ्तार किये गये दोनों आरोपी के. हरिप्रिया, राहुल मेहता एवं बीना शर्मा के बैंक खाते भी होल्ड हैं । अपराध में शामिल दो आरोपी अवकाश मेहता और कुणाल वर्मा फरार है । आरोपी कुणाल वर्मा की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम रायपुर दबिश दिया गया, आरोपी फरार है, मुखबिर सक्रिय है ।

ये था धोखाधड़ी पूरा मामला-

बैंक के वर्तमान प्रभारी शाखा प्रबंधक बताये कि बैंक में राहुल शर्मा दिनांक 31.11.2021 से 18.07.2022 तक शाखा प्रबंधक के रूप में पदस्थ थे । दिनांक 18.07.2022 को राहुल कुमार शर्मा बैंक बैंक के मेन गेट की चाबी, तिजोरी एवं एफ.आर.एफ.सी. की चाबी, बैंक का मोबाइल हैंड सेट सिम लेकर कहीं फरार हो गया था बाद में तिजोरी की डुप्लीकेट चाबी मंगवा कर सेफ खोला गया और पंचनामा तैयार कराया गया, सेफ में खाता धारक होमेश्वर पटेल, श्रीमती बीना शर्मा का गोल्ड लोन के गोल्ड पैकेट कीमती 14,2206 रूपये नहीं था जिसे शाखा प्रबंधक राहुल कुमार शर्मा के द्वारा अपराधिक षडयंत्र कर बैंक से निकाल कर लेकर फरार हो गया था, घटना के लिखित आवेदन पर राहुल कुमार पर अप.क्र. 191/2022 धारा 409 IPC के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है ।

अपराध विवेचना दरमियान तत्कालीन थाना प्रभारी कोतरारोड़ द्वारा ग्रामीण बैंक द्वारा किये गये जांच की रिपोर्ट जप्त किया गया जिसमें 165 केसीसी खाता धारकों के खातों में अनियमितता एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल शर्मा के द्वारा अपने दोस्त हरिप्रिया के खाते में केसीसी खाता धारकों के खातों से करीब 30,00,000 रुपए ट्रांसफर किया है । साथ ही पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल शर्मा द्वारा किरोड़ीमल के किओस्क शाखा चलाने वाले राहुल कुमार मेहता के खाते में ग्रामीण बैंक के खाता नंबर को केसीसी खाता धारकों के खाते से ट्रांसफर कर रूपये भेजता और पूर्व शाखा प्रबंधक के कहने पर राहुल मेहता सभी रकम को राहुल कुमार शर्मा की मां वीणा उर्फ बीना शर्मा के अजमेर खाते में ट्रांसफर किया गया है । इस प्रकार पूर्व शाखा प्रबंधक आरोपी राहुल कुमार शर्मा ने अन्य खाताधारकों से मिलकर आपसी षड्यंत्र कर कूटरचित दस्तावेज तैयार कर 165 केसीसी खाताधारकों के खातों से छेड़खानी कर अनाधिकृत लेनदेन करते हुए 3,57,13,100 रुपए की अनियमितता पाया गया, जिससे प्रकरण में धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120-बी IPC जोड़ा गया था ।

आरोपी राहुल कुमार मेहता बताया कि पूर्व शाखा प्रबंधक राहुल शर्मा उसके कियोस्क शाखा एवं बचत खाता में सप्ताह, 15 दिन में शेयर मार्केट में पैसा लगा रहा हूं कहकर 20,000- 25000 ट्रांसफर करता था । आरोपी राहुल कुमार मेहता अपने खाते से वीना शर्मा के पंजाब नेशनल बैंक खाते में 27,00,000 ट्रांसफर किया है ।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular