Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: ज्वेलरी शॉप से 8 लाख की उठाईगिरी... दिनदहाड़े जेवर भरा बैग...

CG: ज्वेलरी शॉप से 8 लाख की उठाईगिरी… दिनदहाड़े जेवर भरा बैग लेकर भागे बाइक सवार बदमाश, वारदात से पहले की थी रेकी

बलरामपुर-रामानुजगंज: छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज में मंगलवार को दिनदहाड़े बाइक सवार 2 युवकों ने उठाईगिरी को अंजाम दिया। दोनों बदमाश ज्वेलरी शॉप की संचालक के पास रखा सोने-चांदी के जेवरों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए। वारदात CCTV कैमरे में कैद हुई है। मामला रामानुजगंज थाना क्षेत्र का है।

शहर के भीड़भाड़ वाले अग्रवाल मोहल्ले के मोड़ के पास स्थित शंभू ज्वेलर्स की संचालक सुषमा सोनी मंगलवार सुबह 11 बजे दुकान खोलने के लिए पहुंचीं थी। वो चोरी के डर से रोजाना जेवर से भरा बैग अपने साथ लेकर घर जाती थीं। रोज की तरह सुबह वो गहनों से भरा बैग लेकर दुकान पहुंची। बैग में करीब 8 लाख रुपए के सोने-चांदी के गहने थे।

बाइक से दुकान के सामने पहुंचे थे युवक।

बाइक से दुकान के सामने पहुंचे थे युवक।

बैग पर नजर गड़ाए खड़े थे बदमाश

सुषमा सोनी ने शटर खोलने के लिए बैग नीचे रखा था। इस दौरान बाहर पहले से दो युवक बाइक लेकर खड़े थे। दोनों की नजर सुषमा सोनी और उनके बैग पर टिकी थी। जैसे ही सुषमा ने दुकान का शटर खोलने के लिए बैग नीचे रखा, बदमाश एक्टिव हो गए। एक बदमाश बिजली की तेजी से पलटा और बैग उठाकर अपने साथी के साथ गाड़ी से भाग निकला।

सुषमा बाइक सवार बदमाशों के पीछे दौड़ी, लेकिन तब तक वो आंखों से ओझल हो चुके थे। दोनों युवक तेजी से बिजली ऑफिस की ओर निकल गए। घटना की जानकारी मिलते ही आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बयान दर्ज किया।

CCTV कैमरे में कैद हुई पूरी घटना

उठाईगिरी का ये वाकया पास ही लगे CCTV में कैद हुआ है। जिसमें दोनों बदमाश साफ-साफ नजर आ रहे हैं। बैग उठा रहे बदमाश का साथी बाइक पर हेलमेट लगाकर बैठा था। बैग उठाकर साथी के बैठते ही उसने बाइक की रफ्तार बढ़ा दी। आरोपियों ने वारदात के लिए जिस बाइक का इस्तेमाल किया उस पर कोई नंबर दर्ज नहीं था।

CCTV कैमरे में नजर आए बैग छीनकर भागते हुए बदमाश ।

CCTV कैमरे में नजर आए बैग छीनकर भागते हुए बदमाश ।

पति की मौत के बाद संभाली थी दुकान

दुकान संचालक सुषमा सोनी के पति की मौत 2 साल पहले कोरोना से हो गई थी। इसके बाद घर का खर्च चलाने के लिए दुकान चलाने का जिम्मा खुद सुषमा ने उठाया। उठाईगिरी के बाद वो बार-बार बेहोश हो रही थी, आसपास के लोग उन्हें लगातार संभाल और समझा रहे थे।

वारदात के बाद दुकान के बाहर लगी लोगों की भीड़।

वारदात के बाद दुकान के बाहर लगी लोगों की भीड़।

वारदात से पहले की थी रेकी

दोनों बदमाश दुकान के बाहर शॉप की संचालक सुषमा सोनी के इंतजार में खड़े थे। उन्हें अच्छी तरह से पता था कि सुषमा रोजाना जो बैग लेकर आती-जाती हैं उसमें सोने-चांदी के कीमती जेवर हैं। आशंका है कि अच्छी तरह से रेकी करने के बाद ही बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular