Tuesday, July 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: पत्नी के अवैध संबंध के शक में कर दी हत्या... बाइक...

CG: पत्नी के अवैध संबंध के शक में कर दी हत्या… बाइक में बिठाकर जंगल ले गया, दोस्त के साथ मिलकर गला रौंदा, जंगल में छोड़ा शव; अब गिरफ्तार

BIJAPUR: छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में एक युवक ने पत्नी का किसी अन्य युवक के साथ अवैध संबंध होने के शक पर दोस्त के साथ मिलकर उसकी जान ले ली है। पत्नी को मंदिर ले जाने के बहाने घर से दूर जंगल की तरफ लेकर गया, फिर अपने दोस्त को भी वहीं बुला लिया। जिसके बाद दोनों ने मिलकर उसका गला दबाया। गले को लात से रौंदा और उसकी हत्या कर दी। वारदात के बाद शव को जंगल में ही फेंक दिया था। हालांकि, अब पुलिस दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर ली है। मामला नेलसनार थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मिरतुर के तड़केल गांव के रहने वाले युवक लक्ष्मीनाथ यादव को अपनी पत्नी पर शक था कि उसका किसी दूसरे युवक के साथ अवैध संबंध है। वह 2-3 महीने की गर्भवती है लेकिन बच्चा उसका नहीं है। इस बात की जानकारी उसने अपने दोस्त दशाराम यादव को दी थी।

जिसके बाद दोनों ने मिलकर उसे जान से मारने का प्लान बनाया। फिर करीब डेढ़ महीने पहले लक्ष्मीनाथ यादव अपनी पत्नी को ढोलकल मंदिर लेजाने के बहाने घर से निकला। बीच रास्ते में ही पहाड़ी के पास घने जंगल मे रुक गया था।

दोस्त के साथ मिलकर ली जान

जिसके बाद उसने अपने दोस्त दशाराम यादव को भी मौके पर बुला लिया। पहले तो लक्ष्मीनाथ ने अपनी पत्नी के साथ खूब लड़ाई की। फिर दशाराम के कहने पर उसे मारने लगा। पत्नी को जमीन पर पटका, गला दबाया। फिर दोनों ने मिलकर पैर से गला रौंद दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

हत्या के बाद शव को वहीं जंगल में छोड़ दिया था। पत्नी के पास रखे बैग को भी वहीं फेंक दिया था। वारदात के बाद दोनों युवक मौके से घर चले गए थे। इस बात की खबर किसी को नहीं थी। हालांकि, बाद में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई थी।

डमी फोटो

गांव वालों ने देखा था कंकाल

कुछ दिनों के बाद उसी जंगल में गांव के कुछ ग्रामीण गए थे। जिन्होंने कंकाल देखा। इसकी जानकारी पुलिस को दी। जवान मौके पर पहुंचे और कंकाल की पहचान करने फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया था।

साथ ही मौके से तालशी के दौरान एक बैग मिला था। जिसमें पेन कार्ड, आधार कार्ड समेत अन्य दस्तावेज थे। फॉरेंसिक से रिपोर्ट आई की कंकाल किसी महिला का है, वहीं पुलिस के हाथ लगे दस्तावेज से उसकी पहचान अमरबती यादव के रूप में हुई।

गांव वालों ने की थी बैठक

जिसके बाद पुलिस उसके घर पहुंची। जहां उसके पति से पूछताछ की गई। हालांकि, शुरुआत में उसने पुलिस को गुमराह किया था। जिसके बाद गांव के लोगों ने गांव में ही सामाजिक बैठक की। इस बैठक में पति लक्ष्मीनाथ को भी बुलाया गया। जहां उससे पूछताछ की। जिसके बाद उसने अपने दोस्त दशाराम के साथ मिलकर हत्या करना कबूल किया।

उसने गांव वालों को बताया कि पत्नी का किसी अन्य युवक के साथ अवैध संबंध था। 2-3 महीने की गर्भवती भी थी। हत्या करना कबूलने के बाद गांव वालों ने दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular