Tuesday, July 23, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG News: भाजपा के वरिष्ट नेता एवं पूर्व गृहमंत्री ननकी राम कंवर...

CG News: भाजपा के वरिष्ट नेता एवं पूर्व गृहमंत्री ननकी राम कंवर ने की छत्तीसगढ़ में शराबबंदी की मांग… CM साय से बोले- मैंने 5वीं कक्षा से छोड़ दी थी, समाज हित में नशाबंदी जरूरी

रायपुर: छत्तीसगढ़ में एक बार फिर शराबबंदी की मांग उठी है। पूर्व गृहमंत्री ननकी राम कंवर ने मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के सामने यह मांग रखी है। रायपुर के टाटीबंध में आयोजित कवंर समाज के कार्यक्रम में ननकी राम कंवर ने कहा कि मैं एक ही निवेदन करूंगा मुख्यमंत्री से की एक बार समाज के लिए समाज का गौरव होने के नाते समाज के हित के लिए आप नशाबंदी कर दीजिए।

मैं समाज से भी मांग करता हूं कि समाज अपनी ओर से नशाबंदी कर दे। सरकार शराबबंदी करे या न करे, अगर हम बंद कर देते तो हमें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। अगर नशाबंदी होगी तो व्यक्ति की आयु भी बढ़ जाएगी। आज 70 से 80 साल के व्यक्ति का मिलना बहुत मुश्किल है।

नशे के कारण 10 बीमारियां और पागलपन लोगों में होता है। पिछले समय जब मैं गृहमंत्री था, तब हर गांव की महिलाओं ने बताया कि नशाबंदी करनी चाहिए। लेकिन मुझे शर्म से महिलाओं को कहना पड़ा कि सरकार नहीं मान रही है, तो मैं अकेले नशाबंदी नहीं कर पाऊंगा।

रायपुर के टाटीबंध में कवंर समाज का कार्यक्रम हुआ।

रायपुर के टाटीबंध में कवंर समाज का कार्यक्रम हुआ।

5वीं कक्षा में छोड़ी शराब

ननकी राम ने कहा कि मैंने 5वीं कक्षा से शराब छोड़ दी। इससे पहले मैं शराब पीता था। यहां बैठे कुछ लोग हैं, जो नशाबंदी के पक्ष में है। मुख्यमंत्री इस बारे में क्या सोचते हैं मैं नहीं जानता, लेकिन नशे के कारण आज हमारा समाज नीचे गिरा हुआ है। समाज के लोगों की उम्र कम हो रही है। अगर हमारा समाज नशाबंदी कर ले तो मैं समझता हूं कि इस आदिवासी कंवर समाज को कोई पीछे नहीं ढकेल पाएगा।

आदिवासियों को शराब बनाने की छूट बंद हो

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में बहुत से पुलिस वाले होंगे, जो आदिवासी को दारू बेचने के नाम पर पकड़ते थे। फिर 30 हजार से 50 हजार रुपए लाने के बाद छोड़ते थे। इसलिए मैंने पिछले समय कसम खाई थी कि अगर यह सरकार नहीं बदली और अगर भाजपा की सरकार नहीं बनी तो मैं राजनीति नहीं करूंगा।

क्योंकि मैंने आदिवासियों का दर्द देखा था। आदिवासियों को शराब बनाने की छूट है, लेकिन जब आदिवासी शराब बनता है, तो उसे शराब बेचने के लिए पुलिस क्यों पकड़ती है। जो लोग शराब नहीं बेचते थे उन्हें भी पकड़ा गया। इस विषय में सरकारी अमला क्या कर सकता है, उन्हें करना चाहिए।

लेकिन मैं मांग करता हूं कि आदिवासियों को दारू बनाने की छूट है, तो वह छूट को बंद कर देना चाहिए। आदिवासी दारू क्यों बनाएंगे और फिर आदिवासी क्यों पकड़ा जाएगा। आखिर में ननकी राम ने कहा कि मेरी बात किसी को अच्छी नहीं लगी होगी तो मुझे माफ करेंगे।

कंवर समाज ने सीएम साय का सम्मान किया।

कंवर समाज ने सीएम साय का सम्मान किया।

मुख्यमंत्री का दायित्व मिलना पूरे कंवर समाज का सम्मान

वही, मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि आज जिम्मेदारी बढ़ी है। आज बहुत बड़ा विश्वास हमारे समाज पर किया है और मुझे सीएम बनाया है। आज जो मेरा सम्मान हुआ है इसके लिए मैं आभारी हूं।आदिवासी समाज के बेटे को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री का दायित्व मिलना पूरे कंवर समाज का सम्मान है।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कंवर समाज के एक छोटे से कार्यकर्ता को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। मैं कंवर समाज की ओर से प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं। यह दायित्व मिलना कंवर समाज के साथ-साथ पूरे आदिवासी समाज का सम्मान है। मुख्यमंत्री साय ने टाटीबंध में कंवर समाज के भवन के बनाने के लिए 50 लाख रूपए की राशि देने की घोषणा की है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular