Wednesday, May 22, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG : जम्मू से पकड़ा गया कुख्यात अपराधी अनुपम झा, रास्ते में...

CG : जम्मू से पकड़ा गया कुख्यात अपराधी अनुपम झा, रास्ते में बिहार पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश में लगी गोली; दुर्ग में की थी हत्या-लूट

DURG: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिला अस्पताल से फरार कुख्यात बदमाश अनुपम झा पुलिस एनकाउंटर में वो घायल हो गया है। बिहार पुलिस ने जम्मू स्थित मां वैष्णो देवी के मंदिर से उसे गिरफ्तार किया। आरोपी को पकड़ने के बाद पुलिस जब उसे लेकर आ रही थी, तो टॉयलेट के बहाने उसने गाड़ी रुकवाई। फिर पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने लगा।

इस दौरान उसने पुलिस पर करीब 8 राउंड फायरिंग भी की। जवाबी फायरिंग में उसके दोनों पैर जख्मी हो गए। उसे इलाज के लिए पटना के PMCH में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने आशंका जताई है कि उसका पैर काटना पड़ सकता है। अनुपम झा केंद्रीय जेल दुर्ग से इलाज के बहाने अस्पताल से पिस्टल दिखाकर साथियों के साथ फरार हुआ था।

अनुपम झा 14 नवंबर 2023 को दुर्ग जिला अस्पताल से फरार हो गया था।

अनुपम झा 14 नवंबर 2023 को दुर्ग जिला अस्पताल से फरार हो गया था।

51 लाख की लूट के मामले में बिहार पुलिस ने पकड़ा था

दरअसल, बिहार पुलिस ने अनुपम झा को मुजफ्फरपुर के कलकत्ता ज्वेलर्स में 10 अप्रैल को हुई 51 लाख की लूट के मामले में जम्मू के कटरा से पकड़ा था। मुख्य आरोपी अनुपम झा समेत तीन बदमाशों को भी गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी राकेश कुमार ने बताया कि फकुली में पुल के पास अनुपम झा ने टॉयलेट के बहाने गाड़ी रुकवाई और पुलिस की पिस्टल लेकर भागने लगा।

करीब 8 राउंड फायरिंग में पुलिस की गाड़ी में दो गोलियां लगी हैं। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में अनुपम के पैर में गोली लगी। तीन बदमाशों को घेरकर गिरफ्तार कर लिया गया।

60 से ज्यादा FIR लेकिन गृह जिले में एक भी नहीं

अनुपम झा पर अलग-अलग राज्यों के थानों में 60 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इनमें रायपुर और दुर्ग में तीन मर्डर, लूट, हाफ मर्डर जैसे संगीन मामले हैं। वहीं चार राज्यों में भी केस दर्ज हैं। लेकिन उसके गृह नगर बिहार के वैशाली के राजा पाकड़ थाने में कोई भी आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।

अमलेश्वर में हत्या कर समृद्धि ज्वेलर्स में की थी लूट

अनुपम झा ने अपने साथियों के साथ मिलकर 20 अक्टूबर 2022 को दुर्ग जिले के अमलेश्वर में समृद्धि ज्वेलर्स के संचालक सुरेंद्र सोनी की बेरहमी से हत्या कर ली की थी। इसी मामले में वह अपने तीन साथियों के साथ दुर्ग सेंट्रल जेल में बंद था। यहां से इलाज के बहाने 14 नवंबर 2023 को वह अस्पताल से फरार हो गया था।

पहले भी रायपुर जेल से पेशी के दौरान अनुपम फरार हो चुका है। बाद में अमलेश्वर में हत्या और लूट की घटना के बाद दुर्ग पुलिस ने उसे बनारस से गिरफ्तार किया था।

टॉयलेट के बहाने अनुपम पुलिस की पिस्टल लेकर भागा और फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोली से घायल हो गया।

टॉयलेट के बहाने अनुपम पुलिस की पिस्टल लेकर भागा और फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोली से घायल हो गया।

जेलकर्मियों को पिस्टल दिखाकर भागा था अनुपम

अनुपम झा उर्फ रिपु दुर्ग सेंट्रल जेल में हत्या और लूट के मामले में बंद था। जेल से इलाज के बहाने वह जिला अस्पताल में भर्ती हुआ। इसी दौरान टॉयलेट के बहाने उसके साथी जेल कर्मियों को पिस्टल दिखाकर उसे भगा ले जाने में कामयाब हो गए थे।

बिहार में लूट के दौरान दुकान में लगे CCTV कैमरे में कैद हुई थी अनुपम की तस्वीर।

बिहार में लूट के दौरान दुकान में लगे CCTV कैमरे में कैद हुई थी अनुपम की तस्वीर।

दुर्ग पुलिस ने बिहार पुलिस को दिया इनपुट

आरोपी अनुपम झा के जिला अस्पताल से फरार हो जाने के बाद पुलिस लगातार उसे तलाश कर रही थी। लेकिन, उसका मोबाइल लोकेशन ट्रेस नहीं हो पा रहा था। इसी बीच बिहार पुलिस ने दुर्ग पुलिस से अनुपम झा के मामले में संपर्क किया। जिसे पर दुर्ग पुलिस ने बिहार पुलिस को उसके बारे में कई जानकारियां दी।

बदमाश अनुपम झा की पुरानी की तस्वीर, जिसमें उसने बाल लंबे रखे थे। कोई पहचान न पाए इसलिए बाद में बाल छोटे करा लिए।

बदमाश अनुपम झा की पुरानी की तस्वीर, जिसमें उसने बाल लंबे रखे थे। कोई पहचान न पाए इसलिए बाद में बाल छोटे करा लिए।

दुर्ग पुलिस के बताए गर्लफ्रेंड के मोबाइल नंबर से पकड़ा गया

बिहार पुलिस को दुर्ग पुलिस ने अब तक की पूरी जानकारी शेयर की। जिसमें अहम कड़ी बना उसकी गर्लफ्रेंड का मोबाइल और अकाउंट नंबर। इसी के आधार पर बिहार पुलिस ने आगे जांच बढ़ाई और तकनीकी मदद से जम्मू के कटरा से अनुपम झा को पकड़ा। दुर्ग पुलिस की टीम भी उसे लेने के लिए बिहार पहुंच चुकी है।

गर्लफ्रेंड के मोबाइल और बैंक अकाउंट का इस्तेमाल कर रहा था

बिहार पुलिस ने दुर्ग पुलिस से मिले अनुपम की गर्लफ्रेंड के मोबाइल और अकाउंट को ट्रैक किया। जिसमें कटरा से वैष्णो देवी दर्शन के लिए टिकट करवाई गई थी। वे दर्शन करके लौट रहे थे इसी दौरान बिहार पुलिस ने उन्हें रोका और अनुपम को धर दबोचा।

उस वक्त अनुपम के साथ गर्लफ्रेंड, उसकी मां और एक छोटा बच्चा था। पूछताछ में पता चला कि गर्लफ्रेंड का अकाउंट और मोबाइल अनुपम ही इस्तेमाल कर रहा था।

केंद्रीय जेल दुर्ग से जिला अस्पताल में जेल कर्मियों और साथियों के साथ सीसीटीवी में कैद हुआ अनुपम झा। (दुर्ग से फरार होने से ठीक पहले की तस्वीर)

केंद्रीय जेल दुर्ग से जिला अस्पताल में जेल कर्मियों और साथियों के साथ सीसीटीवी में कैद हुआ अनुपम झा। (दुर्ग से फरार होने से ठीक पहले की तस्वीर)

दोनों पैरों में लगी गोली, पैर कटने की आशंका

जम्मू से अनुपम को लेकर बिहार पुलिस मुजफ्फरपुर पहुंच गई है। यहां उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुजफ्फरपुर के IG ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया है कि इलाज के दौरान डॉक्टर ने अनुपम का पैर काटने की आशंका जताई है।

प्रोडक्शन वारंट पर अनुपम को दुर्ग लाएंगे- एसपी

दुर्ग एसपी जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि बिहार पुलिस ने वहां हुई लूट की घटना के बाद हमसे संपर्क किया था। उन्हें हमारे यहां से मोबाइल इनपुट शेयर किया गया था। जिसे उन्होंने इंटरसेप्ट कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बिहार पुलिस के संपर्क में है, दुर्ग से टीम गई हुई है। कार्रवाई पूरी होने के बाद आरोपी का प्रोडक्शन वारंट पेश कर उसे दुर्ग लाया जाएगा।

पुलिस पहचान न पाए, इसलिए बाल छोटे कराए

आरोपी अनुपम झा बेहत शातिर है। दुर्ग जेल से भागने के बाद उसने अपना हुलिया बदल लिया था। पहले वो लंबे बाल और दाढ़ी रखा करता था। दुर्ग से भागने के बाद उसने अपने बाल छोटे करवा लिए और क्लीन शेव रहने लगा। उसे लगा कि अब उसे पुलिस पहचान नहीं सकती, इसलिए उसने कहीं भी मास्क का इस्तेमाल नहीं किया।

पुलिस को मिले कुछ CCTV फुटेज में अनुपम को पहचानने में थोड़ी दिक्कत जरूर हो रही थी, लेकिन जम्मू के कटरा में पुलिस ने उसे पहचान लिया और अपनी गिरफ्त में ले लिया।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular